Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

भारत और रूस के मध्य 2+2 संवाद

2+2 Dialogue between India and Russia

वर्तमान परिदृश्य-

  • 28 अप्रैल, 2021 को भारत और रूस के बीच विदेश और रक्षा मंत्री स्तर पर ‘2+2’ मंत्रिस्तरीय संवाद स्थापित करने के लिए सहमति व्यक्त की गई है।
  • 2+2’ संवाद एक पदावली है, जिसका उपयोग सामरिक और सुरक्षा हितों पर चर्चा करने के लिए दो देशों के रक्षा एवं विदेश मंत्रालयों के मध्य एक संवाद तंत्र की स्थापना के लिए किया जाता है।
  • अब तक भारत ने ‘2+2’ संवाद क्‍वाड’ (Quad) देशों के साथ विकसित किया था।
  • रूस ऐसा पहला गैर-क्‍वाड सदस्य है, जिसके साथ भारत इस तरह के संवाद का आयोजन करेगा ।
  • क्‍वाड (QUAD) देश में शामिल देश क्रमश : जापान अमेरिका, आॅस्ट्रेलिया एवं भारत हैं।

पृष्ठभूमि-

  • भारत ने रूस के साथ वर्ष 1947 से ही बेहतर संबंध स्थापित किए।
  • वर्ष 1971 में भारत और सोवियत संघ ने शांति और मित्रता की संधि पर हस्ताक्षर किए हैं।
  • यह संधि भारत और रूस के मध्य साझा लक्ष्यों के साथ-साथ वैश्विक शांति तथा सुरक्षा को सुदृढ़ करने हेतु एक रूपरेखा थी।
  • शीत युद्ध की समाप्‍ति के पश्चात तथा सोवियत संघ के विखंडन के उपरांत वर्ष 1994 में भारत व रूस के मध्य एक द्विपक्षीय सैन्य-तकनीकी सहयोग समझौता भी संपन्‍न किया गया था।
  • वर्ष 2000 में रूस एवं भारत के बीच एक रणनीतिक साझेदारी स्थापित हुई है।
  • भारत एवं रूस के मध्य रणनीतिक साझेदारी का महत्व
  • रक्षा एवं सुरक्षा संबंध – भारत, रूस से सबसे ज्यादा हथियार आयात करता है, जिसमें S-400, ब्रह्मोस, सुखोई आदि शामिल हैं। 
  • अंतरराष्ट्रीय मंच पर दोनों देशों का परस्पर सहयोग-रूस, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की सदस्यता का समर्थन करता है, साथ ही क्षेत्रीय मंच पर चीन को प्रति संतुलित करने हेतु ब्रिक्स SCO में भारत का सहयोग लेता है।
  • अंतरिक्ष एवं रॉकेट सहयोग- भारत की महत्वाकांक्षी गगनयान अंतरिक्ष-यात्री मिशन में रूस ने चार अंतरिक्ष यात्रियों को प्रशिक्षण प्रदान किया है।
  • ब्लादिवोस्तोक-चेन्‍नई समुद्री गलियारा, दोनों देशों को आर्थिक गति प्रदान करेगा।
  • रूस व भारत द्वारा द्विपक्षीय व्यापार को वर्ष 2025 तक 30 बिलियन अमेरिकी डॉलर तक बढ़ाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
  • भारत में कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा संयंत्र रूसी सहयोग से निर्मित किया जा रहा है।

चुनौतियां-

  • रूस का चीन एवं पकिस्तान से बढ़ता आर्थिक-सामरिक संबंध।
  • अफगानिस्तान में शांति प्रक्रिया हेतु दोनों देशों का भिन्‍न-भिन्‍न मत।
  • क्‍वाॅड एवं हिंद प्रशांत की धारणा पर रूस का नकारात्मक पक्ष आदि।

प्रश्न-‘S-400′ डिलीवरी डिफेंस सिस्टम, भारत किस देश से प्राप्त करेगा ?
(a) रूस
(b) अमेरिका
(c) इस्राइल
(d) फ्रांस
उत्तर-(a)

संकलन- प्रशांत सिंह

%d bloggers like this: