Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

जी.आई. महोत्सव

g.i. mahotsav
  • वर्तमान परिदृश्य
  • 4-5 मार्च, 2021 के मध्य भारत सरकार के जनजातीय कार्य मंत्रालय द्वारा ‘‘जनजातीय भारत जी.आई. महोत्‍सव’’ (Tribes India GI Mahotsav) का आयोजन किया गया।
  • जी.आई. महोत्‍सव का आयोजन लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी (मसूरी, उत्तराखंड) के परिसर में किया गया।
  • ध्यातव्य है कि ‘वोकल फॉर लोकर’’ और आत्‍मनिर्भर भारत की परिकल्‍पना के क्रम में ‘‘जनजातीय भारत जी.आई. महोत्‍सव’’ जी.आई. टैग उत्‍पादों के लिए एक प्रदर्शनी है, जिसे ‘अतुल्‍य भारत की अमूल्‍य निधि’ (Invaluable Treasures of Incredible India) के रूप में आयोजित किया गया।
  • जी.आई. महोत्‍सव के आयोजन में भारतीय जनजातीय सहकारी विपणन विकास परिसंघ (TRIFED) और संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार ने भी महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई।
  • जी.आई. टैग क्‍या है ?
  • भौगोलिक संकेत (G.I. – Geographical Indication) को एक लेबल (Tag) के रूप में प्रयोग किया जाता है, जो किसी ़क्षेत्र, राज्य अथवा देश के अच्‍छी गुणवत्ता वाले उत्‍पादों हेतु किया जाता है।
  • अर्थात यह किसी उत्‍पाद की उत्‍पत्ति ‍ को पहचानने के लिए एक प्रकार का संकेतक या प्रतीक है।
  • भारत में किसी उत्‍पाद को भौगोलिक संकेतक मान (पंजीकरण और संरक्षण) अधिनियम,1999 के अनुसार भौगोलिक संकेत रजिस्ट्री द्वारा उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग, वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के तहत प्रदान किया जाता है, जो 15 सितंबर, 2003 से प्रभावी है।
  • लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी
  • लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी (LBSNAA), मसूरी भारत में नागरिक सेवाओं के लिए एक प्रमुख प्रशिक्षण संस्थान है।
  • यह अखिल भारतीय सेवाओं में प्रवेश करने वाले अभ्यर्थियों के लिए एक सामान्‍य फाउंडेशन कोर्स आयोजित करता है, जिसके माध्यम से इन्‍हें भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) के पद पर efveÙegòeâ किया जाता है।
  • उद्देश्य व लाभ
  • जी.आई. महोत्‍सव का उद्देश्य देशभर के विभिन्‍न जी.आई. उत्‍पादों को प्रदर्शित करना है ताकि आईएएस प्रशिक्षुओं को ऐसे उत्‍पादों के बारे में जागरूक किया जा सके।
  • यह आयोजन आईएएस प्रशिक्षुओं को एक मंच उपलब्ध कराएगा, जहां वे जी.आई.-उत्‍पादों और कारीगरों से रूबरू हो सकेंगे।
  • अन्‍य महत्‍वपूर्ण तथ्य
  • जी.आई. महोत्‍सव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वोकल फॉर लोकल और ‘आत्‍मनिर्भर भारत’ की परिकल्‍पना के क्रम में आयोजित किया गया।
  • इस महोत्‍सव में जी. आई. उत्पादों के 40 से अधिक अधिकृत विक्रेता और जनजातीय शिल्‍पकारों ने अपने उत्‍पादों का प्रदर्शन किया
  • इसके अलावा इस महोत्‍सव में जनजातीय कार्य मंत्रालय, भारत सरकार ने एलबीएसएनएए, मूसरी के मुख्य द्वार पर स्थित वेलरिज बिल्‍डिंग में 130वें ट्राइब्स इंडिया शोरूम और ट्राइब्स इंडिया कैफे का उद् घाटन भी किया गया।
  • ट्राइब्स इंडिया शोरूम जी.आई. उत्‍पादों और कार्बनिक उत्‍पादों से बने हुए उच्‍च गुणवत्ता वाले दस्तकारी डिजा़इन को बढ़ावा देने में मदद करेगा।
  • TRIFED (Tribal Co-operative Marketing Fideration of India)
  • इसकी स्थापना अगस्त, 1987 में भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय स्तर की सहकारी संस्था के रूप में बहु-राज्य सहाकरी समिति अधि.1984 के तहत की गई थी।
  • यह ‘मार्केट डेवलपर’ और ‘सेवा प्रदाता’ दोनों की भूमिका निभाता है। यह विपणन दृष्टिकोण को विकसित करने में भी सहायता प्रदान करता है।
  • यह जागरूकता और स्वयं सहायता समूहों (SHG) के माध्यम से आदिवासी लोगों के क्षमता निर्माण में सक्रिय रूप से शामिल होता है। यह अादिवासी को कई प्रकार के प्रशिक्षण भी उपलब्ध कराता है।

लेखक-अमित शुक्ला