Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

आईएनएस राजपूत सेवामुक्त

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 21 मई, 2021 को भारतीय नौसेना ने पहले विध्वंसक (Destroyer) जहाज, आईएनएस ‘राजपूत’ को कार्यमुक्त कर दिया।
  • आईएनएस राजपूत को विशाखापत्तनम के नौसेना डॉकयार्ड में कार्यमुक्त किया गया।

आईएनएस राजपूत : सेवा के 41 वर्ष

  • आईएनएस राजपूत का निर्माण तत्कालीन यूएसएसआर (वर्तमान में यूक्रेन)में किया गया था।
  • इसका मूल नाम ‘नादेजनी’ (Nadezhny) था, जिसका अर्थ होप (Hope) है।
  • वर्ष 1980 में इसे भारतीय नौसेना के राजपूत क्‍लास विध्वंसक के प्रमुख जहाज के रूप में कमीशन किया गया था।

कमांडिग ऑफिसर

  • आईएनएस राजपूत के पहले कमांडिंग आॅफिसर गुलाब मोहनलाल हीरानंदानी थे।
  • इसमें सतह-से-सतह पर मार करने वाली मिसाइलें, सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलें, विमान रोधी बंदूकें, टारपीडो और पनडुब्बी रोधी रॉकेट लॉन्‍चर शामिल थे।
  • आईएनएस राजपूत सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल व लंबी दूरी की ब्रह्मोस मिसाइल को दागने की क्षमता वाला पहला पोत भी था।

राजपूत रेजिमेंट

  • आईएनएस राजपूत, भारतीय सेना की रेजिमंेट ‘राजपूत रेजिमेंट’ से संबद्ध होने वाला भारतीय नौसेना का पहला जहाज भी था।

विध्वंसक की 3 श्रेणियां

  • वर्तमान मंंे भारतीय नौसेना में विध्वंसक की तीन श्रेणियां हैं
  • INS रंजीत को वर्ष 2019 में सेवामुक्त किया गया था। वर्तमान में राजपूत श्रेणी में कुल तीन विध्वंसक कार्यरत हैं।
  • दिल्‍ली श्रेणी के विध्वंसकों को वर्ष 1997-2001 के मध्य लांच किया गया था
  • कोलकाता श्रेणी के आईएनएस कोलकाता (2014) , आईएनएस कोच्‍चि (2015) और आईएनएस चेन्‍नई (2016) में शामिल किए गए थे।
  • आगामी महीनों में विशाखापत्तनम श्रेणी के विध्वंसक को नौसेना में शामिल करने हेतु कार्य चल रहा है।
  • विध्वंसक का कार्य
  • विध्वंसक जहाज का आकार ज्यादा बड़ा नहीं होता।
  • वर्तमान में मुख्यत: इनका कार्य बड़े स्पेस क्राफ्ट कॅरियर को सुरक्षा प्रदान करना है।
  • इनका उपयोग कम दूरी के आक्रमण (Short Range Attack) के लिए भी किया जाता है।
  • आईएनएस राजपूत का ‘मोटो’
  • आईएनएस राजपूत का मोटो ‘राज करेगा राजपूत’ है।

संकलन-आदित्य भारद्वाज

%d bloggers like this: