सम-सामयिक घटना चक्र | Railway Solved Paper Books | SSC Constable Solved Paper Books | Civil Services Solved Paper Books
Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

ICGS कनकलता बरुआ तटरक्षक बल में शामिल

ICGS Kanaklata Barua joins Coast Guard
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य  
  • 30 सितंबर‚ 2020 को भारतीय तटरक्षक बल का त्वरित गश्ती पोत (Fast Moving Vessels) ICGS ‘कनकलता बरुआ’ (Kanaklata Barua) को कोलकाता में औपचारिक तौर पर तटरक्षक बल में शामिल किया गया।  
  • 4 अक्टूबर‚ 2020 को इसे काकीनाडा तटरक्षक बेड़े में स्थायी तौर पर शामिल कर लिया गया
  • महत्वपूर्ण तथ्य  
  • यह भारतीय तटरक्षक बल के लिए राजश्री फ्लाइट-II (Rajshree Flight-II)  वर्ग के त्वरित गश्ती पोतों की शृंखला का पांचवां और अंतिम जहाज है।
  • इन्हें सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी गार्डेन रिच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स लिमिटेड द्वारा निर्मित किया गया है।  
  • इस शृंखला के अन्य चार पोत ICGS प्रियदर्शिनी (इंदिरा गांधी के नाम पर)‚ ICGS एनी बेसेंट‚ ICGS कमला देवी और ICGS अमृत कौर आदि हैं।  
  • त्वरित गश्ती पोत मध्य श्रेणी के सतह पर चलने वाले पोत हैं‚ जिनकी लंबाई 51 मीटर‚ चौड़ाई 7.5 मीटर और अधिकतम गति 35 समुद्री मील (Nautical Miles) है।  
  • ये त्वरित  गश्ती पोत राजश्री फ्लाइट-I वर्ग के तटवर्ती गश्ती पोतों के उन्नत संस्करण हैं।
  • राजश्री फ्लाइट-I वर्ग के पोतों में ICGS राजश्री. ICGS राजवीर‚ ICGS राजतरंग‚ ICGS राजकिरण‚ ICGS राजकमल‚ ICGS राजदूत‚ ICGS राजध्वज‚ ICGS राजरतन आदि हैं‚ जबकि संसोधित संस्करणों के नाम स्वतंत्रता सेनानियों के नाम पर हैं।  
  • इस पोत का नाम स्वतंत्रता संग्राम सेनानी कनकलता बरुआ के नाम पर रखा गया है‚ जो 1942 के भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान भारतीय तिरंगा लहराते हुए एक जुलूस का नेतृत्व करते हुए शहीद हो गई थीं।  
  • इस पोत के जरिए भारतीय तटरक्षक बल द्वारा भारतीय समुद्री इलाके के विशेष आर्थिक क्षेत्र में गश्ती बढ़ाई जा सकेगी।  
  • इन गश्ती पोतों को समुद्री निगरानी‚ तस्करी-रोधी अभियान‚ अवैध शिकार रोधी अभियानों‚ मत्स्य संरक्षण एवं बचाव और खोजी अभियानों के लिए डिजाइन किया गया है।  

सं. विजय सिंह  

Post a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *