सम-सामयिक घटना चक्र | Railway Solved Paper Books | SSC Constable Solved Paper Books | Civil Services Solved Paper Books
Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

वैश्विक समृद्धि सूचकांक‚ 2019

global prosperity index 2019v
  • वैश्विक समृद्धि सूचकांक के माध्यम से लेगाटम संस्थान (Legatum Institute) के द्वारा वैश्विक समृद्धि के विभिन्न पहलुओं का व्यापक एवं समग्र अध्ययन किया जाता है।
  • इस सूचकांक का उद्देश्य वैश्विक समृद्धि के लिए खुली अर्थव्यवस्थाओं में सुधार लाना एवं लोगों के जीवन संबंधी अनुभवों को बेहतर बनाना है।
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 25 नवंबर‚ 2019 को लेगाटम संस्थान द्वारा ‘वैश्विक समृद्धि सूचकांक‚ (Global Prosperity Index-GPI), 2019’ जारी किया गया।
  • यह इस सूचकांक का 13वां संस्करण है।
  • इस सूचकांक को लेगाटम संस्थान द्वारा पहली बार वर्ष 2007 में जारी किया गया था
  • सूचकांक जारी करने के मानदंड
  • वर्ष 2019 के सूचकांक को जारी करने हेतु लेगाटम संस्थान के द्वारा वैश्विक समृद्धि संबंधी 65 क्रियाशील नीति क्षेत्रों तथा 294 संकेतकों का अध्ययन किया गया।
  • इस अध्ययन में सभी संकेतकों को 12 स्तंभों के अंतर्गत व्यवस्थित किया गया है।
  • ये स्तंभ हैं –
  • बचाव व सुरक्षा‚ व्यक्तिगत स्वतंत्रता‚ प्रशासन‚ सामाजिक पूंजी‚ निवेश बाजार‚ उद्यम शर्तें‚ बाजार पहुंच और आधारभूत ढांचा‚ आर्थिक गुणवत्ता‚ जीवन दशा‚ स्वास्थ्य‚ शिक्षा और प्राकृतिक पर्यावरण।
  • वैश्विक परिदृश्य
  • वैश्विक समृद्धि सूचकांक‚ 2019 के अनुसार‚ विगत एक दशक के सूची में शामिल 148 देशों ने समृद्धि संबंधी आंकड़ों में सुधार दर्ज किया है‚ जबकि 19 देशों के समृद्धि संबंधी आंकड़ों में गिरावट आई है।
  • विगत एक दशक में समृद्धि संबंधी आंकड़ों में सबसे अधिक सुधार एशिया-प्रशांत क्षेत्र (Asia-Pacific Region) में आकलित की गई।
  • वर्ष 2009 से 2019 के मध्य बचाव एवं सुरक्षा में सबसे अधिक सुधार नेपाल ने किया‚ वहीं व्यक्तिगत स्वतंत्रता के क्षेत्र में ट्‌यूनीशिया ने सबसे अधिक सुधार किया।
  • इस दशक के दौरान प्रशासन में सबसे अधिक सुधार अर्जेंटीना तथा निवेश के क्षेत्र में सबसे अधिक सुधार रवांडा ने किया है।
  • पूर्वी यूरोप में जॉर्जिया ने पिछले एक दशक में सबसे अधिक ‘रैंकिंग’ सुधार किया।

सूची में शीर्ष पांच और निचले पांच स्थान पाने वाले देश

रैंकिंग देश रैंकिंग देश
1 डेनमार्क 167 दक्षिणी सूडान
2 नॉर्वे 166 यमन
  3 स्विट्‌जरलैंड 165 मध्य अफ्रीकी गणराज्य
  4 स्वीडन 164 चाड
  5 फिनलैंड 163 अफगानिस्तान
  • भारत के संदर्भ में
  • वैश्विक समृद्धि सूचकांक‚ 2019 में भारत को 101वां स्थान प्राप्त हुआ है।
  • जबकि गत वर्ष (2018) भारत 105वें स्थान पर था।
  • इस सूचकांक की सूची में भारत के पड़ोसी देशों में चीन 57वें‚ नेपाल 115वें‚ बांग्लादेश 127वें‚ श्रीलंका 75वें‚ म्यांमार 124वें तथा पाकिस्तान 140वें स्थान पर है।
  • कुछ अन्य महत्वपूर्ण तथ्य
  • पिछले एक दशक में भारत ने उद्यम शर्तों एवं प्रशासन में मजबूती से प्रदर्शन किया है‚ लेकिन प्राकृतिक पर्यावरण के क्षेत्र में कमजोर रहा है।
  • हालांकि एक दशक की तुलना में सबसे अधिक सुधार सामाजिक पूंजी में हुआ है।
  • ब्रिक्स देशों में भारत अन्य सदस्य देशों से पीछे है।
  • इसमें चीन 57वें‚ ब्राजील 69वें‚ रूस 74वें तथा दक्षिण अफ्रीका 83वें स्थान पर है।
  • विश्व के अन्य प्रमुख विकसित देशों में यूनाइटेड किंगडम 11वें‚ कनाडा 14वें‚ सिंगापुर 16वें‚ अमेरिका 18वें‚ जापान 19वें तथा फ्रांस 23वें स्थान पर है।
  • लेगाटम संस्थान
  • लेगाटम संस्थान एक स्वतंत्र गैर-सरकारी संगठन है‚ जो वैश्विक समृद्धि एवं मानव स्वतंत्रता के विस्तार को बढ़ावा देती है।
  • इसका मुख्यालय लंदन में स्थित है।
  • विश्व के विभिन्न देशों में समृद्धि के स्तरों की तुलना हेतु ‘लेगाटम संस्थान’ (Legatum Institute) द्वारा प्रति वर्ष ‘वैश्विक समृद्धि सूचकांक’ (Global Prosperity Index) जारी किया जाता है।

सं.  अभय पाण्डेय