सम-सामयिक घटना चक्र | Railway Solved Paper Books | SSC Constable Solved Paper Books | Civil Services Solved Paper Books
Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

विश्व प्रेस स्वतंत्रता सूचकांक, 2020

World Press Freedom Index, 2020
  • वर्तमान संदर्भ
  • 21 अप्रैल, 2020 को एक स्वयंसेवी संस्था (NGO) ‘रिपोर्टर्स विद्आउट बॉर्डर्स’ (RSF) द्वारा ‘विश्व प्रेस स्वतंत्रता सूचकांक, 2020’ (WPFI, 2020) का प्रकाशन किया गया।
  • रिपोर्टर्स विद्आउट बॉर्डर्स (RSF)
  • रिपोर्टर्स विद्आउट बॉर्डर्स (Reporters Without Borders) फ्रांस स्थित एक स्वयंसेवी संस्था है।
  • RSF का प्रमुख कार्य सदस्य देशों में प्रेस/मीडिया की स्वतंत्रता एवं पत्रकारों व मीडिया कर्मियों की सुरक्षा की स्थिति का मूल्यांकन करना है।
  • RSF संयुक्त राष्ट्र (UN) की मानवाधिकारों पर की गई सार्वभौम घोषणा (UNDHR) के अनु. 19, जिसमें बिना किसी सीमा के किसी भी मीडिया के माध्यम से सूचना एवं विचारों को खोजने, उन्हें प्राप्त करने एवं प्रकट करने के अधिकार का उल्लेख है, से अभिप्रेरित (Inspired) है।
  • इस संगठन को UN, यूनेस्को, काउंसिल ऑफ यूरोप एवं ‘इंटरनेशनल ऑर्गनाइजेशन ऑफ द फ्रैंकोफोनी’ (International Organisation of the Francophonie) में परामर्शकारी दर्जा (Consultative Status) प्राप्त है।
  • विश्व प्रेस स्वतंत्रता सूचकांक (WPFI)
  • वर्ष 2002 में RSF द्वारा विश्व प्रेस स्वतंत्रता सूचकांक प्रकाशित किया जा रहा है।
  • इसका उद्देश्य सदस्य देशों के मध्य प्रेस एवं मीडिया की स्वतंत्रता के लिए अनुकरणीय सिद्धांतों का पक्षपोषण (Advocacy) करना है।
  • यह सूचकांक 180 देशों में किए गए सर्वेक्षण के आधार पर जारी किया जाता है।
  • ज्ञातव्य है कि यह सूचकांक पत्रकारिता की गुणवत्ता को नहीं, बल्कि प्रेस एवं पत्रकारों को प्राप्त सुरक्षा  के स्तर एवं समाचारों की निर्बाध पहुंच का सर्वेक्षण करता है।
  • कैसे तैयार किया जाता है WPFI ?
  • WPFI को तैयार करने के लिए मीडिया पेशेवरों, वकीलों तथा समाजशास्त्रियों के लिए 87 प्रश्नों की एक ऑनलाइन प्रश्नोत्तरी तैयार की जाती है।
  • प्रश्नोत्तरी में निम्नलिखित 7 प्रमुख क्षेत्रों से संबंधित प्रश्नों को शामिल किया जाता है-

1. बहुलवाद (Pluralism)

  2.   मीडिया की स्वतंत्रता (Freedom of Media)

      3.   पर्यावरण व स्वनियंत्रण (Environment and Self-Cencorship)

      4.   विधायी ढांचा (Legislative Framework)

      5.   पारदर्शिता (Transparency)

      6.   आधारभूत ढांचा (Infrastructure)

      7.   दुर्व्यवहार (Abuses)

  • उपर्युक्त विशेषज्ञों के उत्तरों के आधार पर विभिन्न देशों/क्षेत्रों के स्कोर की गणना की जाती है।
  • प्रेस स्वतंत्रता मानचित्र (Press Freedom Map)
  • WPFI में देशों को 0-100 के बीच अंक प्रदान किए जाते हैं।
  • इन अंकों के आधार पर एक प्रेस स्वतंत्रता मानचित्र तैयार किया जाता है, जो निम्न प्रकार है –
  • 0 से 15 अंक : अच्छी स्थिति (सफेद)
  • 15.01 से 25 अंक : संतोषजनक स्थिति (पीला)
  • 25.01 से 35 अंक : समस्याग्रस्त स्थिति (नारंगी)
  • 35.01 से 55 अंक : कठिन स्थिति (लाल)
  • 55.01 से 100 अंक : अति कठिन स्थिति (काला)

WPFI, 2020 में 10 प्रमुख देशों की रैंकिंग

रैंकदेशस्कोर
1नॉर्वे7.84
2फिनलैंड7.93
3डेनमार्क8.13
4स्वीडन9.25
5नीदरलैंड्स9.96
34फ्रांस22.92
35यूनाइटेड किंगडम22.93
45संयुक्त राज्य अमेरिका23.85
142भारत45.33
177चीन78.48
  • नॉर्वे ने लगातार चौथे वर्ष इस सूचकांक में शीर्ष स्थान प्राप्त  किया।
  • वर्ष 2019 की तुलना में वर्ष 2020 में मलेशिया (वर्ष 2019 में 123वीं जबकि 2020 में 101वीं रैंक) की रैंक में सर्वाधिक (22 स्थानों का) सुधार देखने को मिला।
  • जबकि हैती (वर्ष 2019 में 62वां जबकि 2020 में 83वां स्थान) की रैंक में सर्वाधिक (21 स्थानों की) गिरावट दर्ज की गई।
  • ध्यातव्य है कि वर्ष 2018 की WPFI रैंकिंग में भारत का स्थान 138वां था, जबकि वर्ष 2019 में यह 140वें स्थान पर था।
  • रिपोर्ट के अनुसार, भारत की रैंकिंग में गिरावट का मुख्य कारण मीडिया पर सरकार की हिंदूवादी विचारधारा को सहायता पहुंचाने का दबाव, पत्रकारों पर पुलिस की हिंसा, हिंदूवादी संगठनों द्वारा स्वतंत्र पत्रकारों के विरुद्ध सोशल मीडिया पर चलाया जाने वाला घृणा अभियान (Hate Campaign) आदि रहा है।
  • WPFI, 2020 : क्षेत्रीय स्थिति
  • यूरोपियन यूनियन (EU) और बाल्कन क्षेत्र के कुछ देशों में मीडिया के विरुद्ध दमनकारी नीतियों (Oppressive Policies) के बावजूद यूरोप मीडिया की स्वतंत्रता के लिहाज से सर्वाधिक पसंदीदा महाद्वीप बना हुआ है।
  • जबकि मध्य-पूर्व और उत्तर अफ्रीकी क्षेत्र पत्रकारों के लिए विश्व के सबसे खतरनाक क्षेत्र बने हुए हैं।

WPFI, 2020 में अंतिम 5 देशों की रैंकिंग

रैंकदेश
180उत्तर कोरिया
179तुर्कमेनिस्तान
178इरीट्रिया
177चीन
176जिबूती
  • स्पष्ट है कि उत्तर कोरिया को WPFI, 2020 में अंतिम स्थान (180वां) पर रखा गया है।

WPFI, 2020 में ब्रिक्स देशों की रैंकिंग

रैंकदेश
149रूस
177चीन
142भारत
31द. अफ्रीका
107ब्राजील

WPFI, 2020 में सार्क देशों की रैंकिंग

रैंकदेश
151बांग्लादेश
145पाकिस्तान
142भारत
127श्रीलंका
122अफगानिस्तान
112नेपाल
67भूटान
79मालदीव
  • स्पष्ट है कि सार्क देशों में भूटान व मालदीव की स्थिति सबसे बेहतर है।

सं. अमित त्रिपाठी