सम-सामयिक घटना चक्र | Railway Solved Paper Books | SSC Constable Solved Paper Books | Civil Services Solved Paper Books
Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

राष्ट्रीय ब्रॉडबैंड अभियान

National Broadband Mission
  • वर्तमान परिपे्रक्ष्य
  • 17 दिसंबर‚ 2019 को संचार मंत्रालय (Ministry of Communication) द्वारा ‘राष्ट्रीय ब्रॉडबैंड अभियान’ (National Broadband Mission) की शुरुआत की गई।
  • इस अभियान की शुरुआत राष्ट्रीय मीडिया केंद्र‚ नई दिल्ली में की गई।
  • राष्ट्रीय ब्रॉडबैंड अभियान के अंतर्गत देश के सभी गांवों को वर्ष 2022 तक ब्रॉडबैंड हाईस्पीड इंटरनेट (Broadband Highspeed Internet) से जोड़ा जाएगा।
  • पृष्ठभूमि
  • राष्ट्रीय ब्रॉडबैंड मिशन केंद्र सरकार के द्वारा आरंभ की गई ‘राष्ट्रीय डिजिटल संचार नीति‚ 2018’ (National Digital Communication Policy, 2018) का हिस्सा है।
  • ध्यातव्य है कि भारतनेट (Bharat Net) के माध्यम से‚ ब्रॉडबैंड सेवाएं 142,000 गांवों के ब्लॉकों तक पहुंचाई गई है।
  • भारत सरकार ने जून‚ 2018 में देश की सभी पंचायतों को ब्रॉडबैंड से जोड़ने की घोषणा की थी।
  • यह ऑप्टिकल फाइबर का उपयोग करने वाला दुनिया का सबसे बड़ा ग्रामीण ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी प्रोग्राम (Rural Broadband Connectivity Programe) है।
  • लक्ष्य
  • राष्ट्रीय ब्रॉडबैंड अभियान के द्वारा वर्ष 2022 तक ग्रामीण एवं सुदूर क्षेत्रों समेत पूरे देश में ब्रॉडबैंड सेवा की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी।
  • इस अभियान के अंतर्गत 30 लाख किलोमीटर ऑप्टिक फाइबर केबल (Optic Fibre Cable) बिछाई जाएगी।
  • वर्ष 2024 तक टॉवर घनत्व को प्रति एक हजार की आबादी पर 0.42 से बढ़ाकर 1.0 की जाएगी।
  • राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों के साथ मिलकर कार्य करने के लिए राइट ऑफ वे (Right of way) मॉडल विकसित किया जाएगा। ऑप्टिक फाइबर बिछाने समेत डिजिटल अवसंरचना के विस्तार संबंधी नीतियों के लिए यह मॉडल सहायक होगा।
  • राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों में उपलब्ध डिजिटल अवसंरचना और अनुकूल नीतियों के मापने के लिए ‘ब्रॉडबैंड रेडीनेस सूचकांक’ (Broadband Readiness Index) जारी किया जाएगा।
  • पूरे देश के लिए डिजिटल फाइबर मानचित्र (Digital Fibre Map) तैयार किया जाएगा।
  • भारत सरकार इस महत्वाकांक्षी योजना में सात लाख करोड़ रुपये (100 बिलियन डॉलर) का निवेश करेगी।
  • इस अभियान में 70,000 करोड़ रुपये ‘यूनिवर्सल सर्विस ऑब्लिगेशन फंड’ (Universal Service Obligation Fund) द्वारा भुगतान की जाएगी।

दूरसंचार के मानदंडों के विकास का संक्षिप्त विवरण

वर्ष 2014 2019
मोबाइल उपभोक्ता (मिलियन में) 30% वृद्धि 907.42 1173.75
इंटरनेट उपभोक्ता (मिलियन में) 165% वृद्धि 251.59 665.31
ब्रॉडबैंड उपभोक्ता (मिलियन में) 99.2 625.42
टेली घनत्व (प्रतिशत में) 20% वृद्धि 75.23% 90.52%
ग्रामीण टेली घनत्व (प्रतिशत में) 20% वृद्धि 44.01% 57.59%
डाटा उपयोग (प्रतिमाह‚ प्रति उपभोक्ता जीबी में) 1120% वृद्धि 0.80 से कम 9.77 जीबी  
  • राष्ट्रीय ब्रॉडबैंड अभियान से मोबाइल व इंटरनेट सेवा की गुणवत्ता बेहतर होगी।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में नवाचार (Innovation), व्यवसाय (Entrepreneur), डिजिटल साक्षरता (Digital Literacy) एवं ऑनलाइन भुगतान (Online Payment) को बढ़ावा मिलेगा।
  • इस अभियान से ग्रामीण क्षेत्रों में सरकारी योजनाओं की पहुंच सुगम एवं प्रभावी होगी।
  • इंटरनेट के जरिए स्थानीय संस्कृति एवं कला को राष्ट्रीय पहचान पाने में मदद मिलेगी।
  • समाज के वंचित वर्गों को मुख्यधारा से जुड़ने के लिए नए आयाम एवं अवसर प्राप्त होंगे।

संअभय पांडेय

Post a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.