सम-सामयिक घटना चक्र | Railway Solved Paper Books | SSC Constable Solved Paper Books | Civil Services Solved Paper Books
Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

भारत-अफ्रीका रक्षा मंत्री सम्मेलन‚ 2020 के अवसर पर जारी लखनऊ घोषणा-पत्र

Lucknow Declaration issued on the occasion of India-Africa Defense Minister's Conference ‚2020
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • लखनऊ में संपन्न रक्षा प्रदर्शनी डेफएक्सपो‚ 2020 के दौरान ही भारत और अफ्रीका के रक्षा मंत्रियों का पहला सम्मेलन आयोजित किया गया। इस सम्मेलन में कई अहम मुद्दों पर विचार-विमर्श किया गया एवं दोनों पक्षों की ओर से संयुक्त रूप से ‘लखनऊ घोषणा-पत्र’ जारी किया गया।
  • घोषणा-पत्र के मुख्य बिंदु
  • शांति और सुरक्षा
  • सभी हस्ताक्षरकर्ताओं द्वारा संघर्ष रोकथाम एवं शांति स्थापना के लिए प्रतिबद्धता जताई गई है।
  • लखनऊ घोषणा-पत्र में अफ्रीकी संघ के वर्ष 2020 की थीम ‘साइलेंस द गन्स इन अफ्रीका’ एवं ‘एजेंडा‚ 2063’ का समर्थन किया गया।
  • इसका उद्देश्य शांति स्थापना में महिलाओं की भूमिका को बढ़ाना भी है।
  • समुद्री सुरक्षा
  • समुद्री सुरक्षा ‘ब्लू इकोनॉमी’ के विकास के लिए अतिआवश्यक है। इसलिए दोनों पक्ष संचार और सूचना के आदान-प्रदान के माध्यम से समुद्री अपराधों‚ आपदा‚ अवैध गतिविधियों की रोकथाम एवं समुद्री लाइनों की सुरक्षा के लिए सहयोग करेंगे।
  • आतंकवाद
  • घोषणा-पत्र में संयुक्त राष्ट्र के आतंकवाद रोधी तंत्र को मजबूत करने और आतंकवाद के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रतिबंधों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करने का आह्वान किया गया।
  • दोनों पक्षों ने आतंकवाद और हिंसक अतिवाद का मुकाबला करने के लिए मजबूत अंतरराष्ट्रीय साझेदारी की आवश्यकता पर बल दिया‚ जिसमें सूचना और खुफिया जानकारी को साझा करना शामिल है।
  • भारत की ‘सागर’ पहल
  • सागर (Security and Growth for All in the Region : SAGAR) हिंद महासागर के लिए भारत की नीति है‚ जो कि अफ्रीका में शांति और सुरक्षा के लिए अफ्रीकी संघ के भविष्य की सोच से मेल खाता है।
  • दोनों पक्षों द्वारा हिंद-प्रशांत क्षेत्र में भारत और अफ्रीका के बीच संवर्धित सहयोग को प्रोत्साहित किया गया।
  • रक्षा सहयोग
  • भारत द्वारा अफ्रीकी देशों को रक्षा अकादमियों एवं सैन्य प्रशिक्षण टीमों के माध्यम से सैन्य प्रशिक्षण उपलब्ध कराया जा रहा है‚ इसका अफ्रीकी देशों द्वारा स्वागत किया गया।
  • भारत‚ अफ्रीकी देशों में संयुक्त राष्ट्र के शांति मिशनों में सक्रिय सहभागी रहा है। दोनों पक्ष शांति स्थापना एवं समुद्री डाकुओं के खिलाफ चलाए गए संयुक्त अभियानों का स्मरण करते हैं और उन्हें पर्याप्त महत्व देते हैं।
  • अफ्रीकी संघ (African Union)
  • अफ्रीकी संघ (AU) एक महाद्वीपीय संघ है‚ जिसमें अफ्रीका के 55 देश शामिल हैं। इसे आधिकारिक रूप से वर्ष 2002 में अफ्रीकी एकता संगठन (Organisation of African Unity) के उत्तराधिकारी के रूप में बनाया गया था।
  • मुख्यालय – आदिस अबाबा‚ इथियोपिया
  • एजेंडा‚ 2063
  • एजेंडा‚ 2063 अगले 50 वर्षों में अफ्रीका महाद्वीप के सामाजिक-आर्थिक उत्थान के लिए एक रणनीतिक रूपरेखा है।
  • एजेंडा‚ 2063 अफ्रीकी संघ ‘अफ्रीकी नागरिकों द्वारा संचालित एकीकृत‚ समृद्ध और शांतिपूर्ण अफ्रीका’ की स्थापना के दृष्टिकोण पर केंद्रित है।
  • अफ्रीकी संघ की 33वी बैठक – आदिस अबाबा
  • थीम (Theme) – साइलेंस द गन्स : क्रिएटिंग कंड्‌यूसिव कंडीशंस फॉर अफ्रीका़ज डेवलपमेंट (Silence the Guns : Creating Conducive Conditions for Africa’s Development)।
  • वर्ष 2020 में प्रारंभ होने वाले अफ्रीकी महाद्वीपीय मुक्त व्यापार क्षेत्र (African Continental Free Trade Area – AfCFTA) पर विचार-विमर्श किया गया।
  • एजेंडा‚ 2063 की रूपरेखा सहित प्राथमिकताओं पर रणनीतिक चर्चा का आयोजन किया गया।
  • एकीकरण‚ औद्योगिकीकरण‚ संपोषणीय विकास‚ व्यापार आदि विषयों पर भी विचार-विमर्श हुआ।

सं. ऋषभ कुमार मिश्रा