सम-सामयिक घटना चक्र | Railway Solved Paper Books | SSC Constable Solved Paper Books | Civil Services Solved Paper Books
Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक, 2020

Environmental Performance Index : EPI 2020
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 7 जून, 2020 को ‘पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक (Environmental Performance Index : EPI), 2020′ जारी किया गया।
  • पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक, 2020 में विश्व के 180 देशों को 11 श्रेणियों में विभाजित 32 संकेतकों के आधार पर रैंक प्रदान की गई है।
  • आंकड़े जिस पर वर्ष 2020 की रैंकिंग आधारित है हाल में प्रकाशित विभिन्न स्रोतों पर आधारित हैं, जिसमें अधिकांश वर्ष 2017-18 के आंकड़े शामिल हैं।
  • इस प्रकार यह विश्लेषण हाल के घटनाक्रम को नहीं दर्शाता है, जिसमें कोविड-19 के मद्देनजर वर्ष 2020 में वायु प्रदूषण में अप्रत्याशित गिरावट दर्ज की गई है।
  • EPI, 2020 रैंकिंग
  • वर्ष 2020 में डेनमार्क 82.5 स्कोर के साथ शीर्ष स्थान पर है।
  • इस वर्ष लाइबेरिया 22.6 स्कोर के साथ अंतिम पायदान पर है।
  • रैंकिंग में शीर्ष 5 देशों में शामिल अन्य देश हैं-
क्रमांकदेशस्कोररैंक
1डेनमार्क82.51st
2लक्जम्बर्ग82.32nd
3स्विट्जरलैंड81.53rd
4यूनाइटेड किंगडम81.34th
5फ्रांस805th
  • रैंकिंग में अंतिम पायदान पर शामिल 5 देश हैं-
क्रमांकदेशस्कोररैंक
1लाइबेरिया22.6180th
2म्यांमार25.1179th
3अफगानिस्तान25.5178th
4सिएरा लियोन25.7177th
5कोटे-डि आइवर25.8176th
  • सूचकांक में भारत
  • पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक, 2020 में भारत को 180 देशों में 168वां स्थान प्राप्त हुआ है।
  • भारत का स्कोर 27.6 है।
  • उल्लेखनीय है कि वर्ष 2018 में इस सूचकांक में भारत 177वें स्थान पर था।
  • अतः इस वर्ष भारत की रैंकिंग में 9 स्थानों का सुधार हुआ है।
  • EPI की 11 श्रेणियों में भारत की रैंक
      क्रमांकश्रेणीरैंकEPI स्कोर
1मत्स्यन3516.9
2पारिस्थितिक सेवाएं9333.8
3जल संसाधन942.2
4अपशिष्ट प्रबंधन10316.1
5जलवायु परिवर्तन10645
6कृषि10834.7
7स्वच्छता और पेयजल13919.4
8प्रदूषक उत्सर्जन14537.1
9जैव विविधता और आवास14833.7
10भारी धातु174
11वायु गुणवत्ता17913.4
  • दक्षिण एशियाई देशों की EPI रैंक
  • दक्षिण एशियाई देशों में भारत का प्रदर्शन केवल अफगानिस्तान से बेहतर है।
      क्रमांकदेशEPI स्कोररैंक
1भूटान39.3107
2श्रीलंका39109
3मालदीव35.6127
4पाकिस्तान33.1142
5नेपाल32.7145
6बांग्लादेश29162
7भारत27.6168
8अफगानिस्तान25.5178
  • ब्रिक्स देशों का EPI में प्रदर्शन
क्रमांकदेशEPI स्कोररैंक
1ब्राजील51.255
2रूस50.558
3दक्षिण अफ्रीका43.195
4चीन37.7120
5भारत27.6168
  • EPI, 2020 : अन्य महत्वपूर्ण तथ्य
  • इस सूचकांक में अन्य प्रमुख देश स्विट्जरलैंड को तीसरा, स्वीडन को 8वां, जर्मनी को 10वां, जापान को 12वां, संयुक्त राज्य अमेरिका को 24वां, चीन को 120वां स्थान प्राप्त हुआ है।
  • पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक को 0-100 संकेतकों के आधार पर तैयार किया जाता है।
  • जिसमें 100 का अर्थ सबसे बेहतर और 0 (शून्य) का अर्थ सबसे खराब है।
  • इस सूचकांक में पर्यावरणीय स्वास्थ्य (Environmental Health) को 40 प्रतिशत तथा पारिस्थितिक तंत्र जीवन शक्ति (Ecosystem Vitality) को 60 प्रतिशत भारांश दिया जाता है।
  • ज्ञात हो कि भारत की पर्यावरणीय स्वास्थ्य में रैंक 172 और स्कोर 16.3 तथा पारिस्थितिक तंत्र जीवन शक्ति में रैंक 150 और स्कोर 35.2 है।
  • EPI क्या है?
  • यह एक द्विवार्षिक रिपोर्ट है, जिसे येल (Yale) विश्वविद्यालय एवं कोलंबिया विश्वविद्यालय द्वारा विश्व आर्थिक मंच के सहयोग से निर्मित किया जाता है।
  • EPI में उच्च प्राथमिकता वाले पर्यावरणीय मुद्दों पर प्रदर्शन के आधार पर विभिन्न देशों को रैंक प्रदान की जाती है।
  • इस सूचकांक का प्रथम संस्करण वर्ष 2006 में प्रकाशित किया गया था।
  • वर्ष 2006 के पहले (वर्ष 1999 से 2005 तक) EPI को ‘पर्यावरणीय स्थिरता सूचकांक’ (Environment Sustainability Index : ESI) के नाम से प्रकाशित किया जाता था।
  • EPI का महत्व
  • पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक, पर्यावरण संबंधी महत्वपूर्ण आंकड़ों तक नीति-निर्माताओं की पहुंच सुनिश्चित करता है।
  • ये आंकड़े इस रूप में व्यवस्थित होते हैं कि इन्हें आसानी से समझा जा सकता है।
  • यह विभिन्न देशों को अपने पर्यावरणीय प्रदर्शन की तुलना पड़ोसी और समकक्ष देशों से करने का अवसर प्रदान करता है।
  • यह संयुक्त राष्ट्र के ‘सतत विकास लक्ष्यों’ (SDGs) को पूरा करने की दिशा में आवश्यक नीति-निर्माण में सहायक होता है।

सं. विजय सिंह