सम-सामयिक घटना चक्र | Railway Solved Paper Books | SSC Constable Solved Paper Books | Civil Services Solved Paper Books
Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

चैंपियंस : MSMEs के लिए प्रौद्योगिकी मंच

Champions: Technology Forum for MSMEs
  • सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम (MSME) क्षेत्र
  • सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम स्वतंत्रता के पश्चात से ही देश के एक प्रमुख गतिशील एवं सशक्त आर्थिक स्तंभ के रूप में उभरा (Emerge) है। इस क्षेत्र ने वर्ष 2008 की मंदी (Slowdown) के समय भी देश की अर्थव्यवस्था के लिए रीढ़ की हड्डी जैसी भूमिका अदा की  थी तथा अधिकतम रोजगार सृजन करने वाला क्षेत्र बनकर उभरा था।
  • सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों (MSME : Micro, Small and Medium Enterprises) का भारतीय अर्थव्यवस्था में योगदान इस प्रकार है-
  • इस समय MSME की देश में 63.4 मिलियन इकाइयां लगी हुई हैं।
  • वर्तमान में MSME क्षेत्र में देश में 100 मिलियन से अधिक लोग सेवारत हैं।
  • MSME देश के कुल निर्यात में तकरीबन 40 प्रतिशत का योगदान देते हैं।
  • MSME भारत के विनिर्माण GDP में 6.11 प्रतिशत का योगदान देते हैं।
  • MSME भारत के सेवा क्षेत्र से मिलने वाली GDP में 24.63 प्रतिशत का योगदान करते हैं।
  • इस क्षेत्र ने लगातार 10 प्रतिशत से अधिक की वार्षिक वृद्धि को बनाए रखा है।
  • वर्तमान संदर्भ
  • 1 जून, 2020 को प्रधानमंत्री द्वारा MSME क्षेत्र के तकनीकी क्षमता उन्नयन हेतु ‘CHAMPIONS’ (Creation and Harmonious Application of Modern Processes for Increasing the Output and National Strength) नामक तकनीकी मंच/पोर्टल को लांच किया गया।
  • यह पोर्टल सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय की एक नूतन पहल है।
  • CHAMPIONS के प्रमुख उद्देश्य
  • जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है, CHAMPIONS पोर्टल ,आधारभूत रूप से छोटी MSME इकाइयों को उनकी शिकायतों का समाधान करने, प्रोत्साहन देने, सहायता प्रदान करने तथा नवस्थापित MSME इकाइयों को सुझाव एवं मार्गदर्शन देने के माध्यम से बड़ी इकाई में परिवर्तित करने में मदद करेगा।
  • CHAMPIONS एक सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी आधारित प्रणाली है, जो MSME को वर्तमान कठिनाइयों (कोविड-19) से उबारने तथा उन्हें राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय चैंपियन बनाने में मदद करेगी।
  • शिकायत निवारण (Grievance Redressal) के अंतर्गत कोविड-19 जनित कठिन परिस्थिति में MSMEs की वित्तीय, कच्चे माल, श्रम, विनियामक स्वीकृतियों आदि से संबंधित समस्याओं का समाधान करना।
  • MSME इकाइयों को नए अवसरों को तलाशने में मदद करना, जिसमें चिकित्सीय उपकरणों तथा सहायक उपकरणों जैसे- PPE किटों (Personal Protective Equipments), मास्क आदि का विनिर्माण एवं उनकी राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय बाजार में आपूर्ति करने में सहायता करना शामिल है।
  • MSME क्षेत्र में नए क्षेत्रों की पहचान करना तथा प्रोत्साहित करना अर्थात क्षमतावान MSME इकाइयों की पहचान करना, जो कि वर्तमान कोविड-19 महामारी के दौर में स्वयं को स्थापित रखने और निरंतर आगे बढ़ते रहने की क्षमता से संपन्न होने के साथ-साथ राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चैंपियन बन सकती हैं।
  • CHAMPIONS की अन्य विशेषताएं
  • CHAMPIONS पोर्टल भारत सरकार की मुख्य केंद्रीयकृत लोक शिकायत निवारण और निगरानी प्रणाली (CPGRAMS : Centralized Public Grievance Redress And Monitoring System) से रियल टाइम में जोड़ा गया है। यानी अगर किसी ने CPGRAMS पर शिकायत कर दी, तो यह सीधे चैंपियंस पोर्टल पर आ जाएगी, जिससे शिकायतों के निपटाने की व्यवस्था में तेजी आएगी।
  • CHAMPIONS पोर्टल आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (Al), डेटा एनालिटिक्स और मशीन लर्निंग से लैस किया गया है।
  • MSME की परिभाषा में परिवर्तन
  • 1 जुलाई, 2020 से सरकार ने MSME की परिभाषा में महत्वपूर्ण परिवर्तन किया है।
  • ‘सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विकास अधिनियम, 2006’ के  अधीन केंद्रीय सरकार को प्राप्त शक्तियों द्वारा निम्नलिखित नए मानदंडों को अधिसूचित किया गया है –

(i) सूक्ष्म उद्यम वह है, जिसमें संयंत्र व मशीनरी में एक करोड़ रुपये से अधिक निवेश नहीं होता है तथा उसका कारोबार पांच करोड़ रुपये से अधिक नहीं होता है;

  (ii) लघु उद्यम वह है, जिसमें संयंत्र और मशीनरी अथवा उपस्कर में दस करोड़ रुपये से अधिक का निवेश नहीं होता है तथा उसका कारोबार पचास करोड़ रुपये से अधिक नहीं होता है।

  (iii) मध्यम उद्यम वह है, जिसमें संयंत्र और मशीनरी अथवा उपस्कर में पचास करोड़ रुपये से अधिक का निवेश नहीं होता है तथा उसका कारोबार दो सौ पचास करोड़ रुपये से अधिक नहीं होता है।

  • उपसंहार
  • गांधीजी मानते थे कि भारत का विकास उनके गांवों के विकास से ही निर्धारित होगा। उनका विचार विकेंद्रीकरण और क्षेत्रीय आत्मनिर्भरता से जुड़ा था, जिसके लिए MSME क्षेत्र एक महत्वपूर्ण कड़ी है। ‘CHAMPIONS’ पोर्टल यदि सफल हो सका, तो देश के शासन के विभिन्न क्षेत्रकों के लिए यह एक उदाहरण पेश करेगा। अतः देश के समुचित विकास में CHAMPIONS पोर्टल का सफल होना महत्वपूर्ण है।

सं. अमित त्रिपाठी