सम-सामयिक घटना चक्र | Railway Solved Paper Books | SSC Constable Solved Paper Books | Civil Services Solved Paper Books
Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

क्वांटम तकनीक और उसके अनुप्रयोग पर राष्ट्रीय मिशन (National Mission on Quantum Technology & Its Application)

National Mission on Quantum Technology & Its Application
  • पृष्ठभूमि
  • भारत सरकार ने वर्ष 2020-21 के बजट में क्वांटम तकनीक और उसके अनुप्रयोग (Application) पर एक राष्ट्रीय मिशन की घोषणा की है।
  • इस मिशन के तहत आने वाले पांच वर्षों में क्वांटम तकनीक और उसके अनुप्रयोग के क्षेत्र में विकास कार्य के लिए 8000 करोड़ रुपये बजट का प्रावधान किया गया है।
  • इस मिशन का कार्यान्वयन विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा किया जाएगा।
  • वर्तमान में वैश्विक अर्थव्यवस्था नवाचार आधारित है‚ जिसमें आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI), इंटरनेट-ऑफ-थिंग्स (IoT), 3-D प्रिंटिंग‚ ड्रोन‚ डीएनए डेटा स्टोरेज‚ क्वांटम कंप्यूटिंग आदि के प्रयोग से वैश्विक अर्थव्यवस्था को एक नई गति मिल रही है। इसलिए सरकार द्वारा घोषित यह मिशन महत्वपूर्ण है।
  • क्या है क्वांटम तकनीक?
  • क्वांटम प्रौद्योगिकी क्वांटम सिद्धांतों पर आधारित है‚ जो परमाणु और उप-परमाणु स्तर पर ऊर्जा और पदार्थ की प्रकृति की व्याख्या करता है।
  • कंप्यूटिंग‚ संचार‚ क्रिप्टोग्राफी‚ इमेजिंग और यांत्रिकी (Mechanics) में जटिल समस्याओं के समाधान के लिए क्वांटम सिद्धांतों का उपयोग किया जाता है।
  • अनुप्रयोग
  • क्वांटम तकनीक के उपयोग से क्वांटम कंप्यूटर का निर्माण किया जा सकता है‚ जो अति तीव्र गणना करने में सक्षम होंगे।
  • संचार के क्षेत्र में क्वांटम तकनीक का प्रयोग कर अधिक बैंडविड्‌थ (Bandwidth) उपलब्ध कराई जा सकती है तथा संचार चैनल (Communication Channel) की दक्षता तथा क्षमता भी बढ़ाई जा सकती है।
  • //pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
  • क्रिप्टोग्राफी में क्वांटम तकनीक का प्रयोग कर एक छोर से दूसरे-छोर भेजी जानी वाली सूचनाओं को अधिक सुरक्षित किया जा सकता है।
  • इसके अलावा क्वांटम तकनीक का प्रयोग रक्षा‚ इंटेलीजेंस‚ मौसम पूर्वानुमान (Numerical Weather Predictions)‚ साइबर सुरक्षा‚ वित्तीय लेन-देन की सुरक्षा‚ स्वास्थ्य एवं चिकित्सा‚ कृषि‚ शिक्षा‚ अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी आदि क्षेत्रों में किया जा सकता है।
  • स्वास्थ्य के क्षेत्र में क्वांटम प्रौद्योगिकी के प्रयोग से नई ओषधियों (Drugs) का विकास किया जा सकता है।
  • महत्व
  • यह मिशन युवाओं में कौशल विकास कर उन्हें आधुनिक तकनीकों के साथ कार्य करने में सक्षम बनाएगा।
  • इस मिशन से अनुसंधान एवं विकास (R&D) को बढ़ावा मिलेगा‚ जिससे उद्योगों को अगली पीढ़ी की तकनीकें उपलब्ध कराई जा सकेंगी।
  • इस मिशन के द्वारा नए स्टार्टअप (Startup) और उद्यमिता के विकास को भी प्रोत्साहन मिलेगा‚ जिससे देश में रोजगार सृजन में मदद मिलेगी।
  • चुनौतियां
  • भारत में क्वांटम तकनीक क्षेत्र में कार्य करने के लिए योग्य लोगों की कमी है।
  • भारत में अनुसंधान एवं विकास (R&D) दूसरे देशों की तुलना में अभी भी पिछड़ा है।
  • क्वांटम तकनीक की शिक्षा देने के लिए संस्थाओं तथा पाठ्‌यक्रम का अभाव है।
  • अधिकांश क्वांटम तकनीक परम शून्य ताप पर कार्य करती है। अत: यह तकनीक अत्यधिक महंगी है।
  • क्वांटम तकनीक के लिए आवश्यक संसाधनों की कमी भी एक प्रमुख चुनौती है। जैसे- क्वांटम कंप्यूटर के निर्माण के लिए आवश्यक हार्डवेयर की कमी।

संविजय सिंह