सम-सामयिक घटना चक्र | Railway Solved Paper Books | SSC Constable Solved Paper Books | Civil Services Solved Paper Books
Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

कल्पना चावला के नाम पर कार्गो अंतरिक्ष यान

Cargo spacecraft named after Kalpana Chawla
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 2 अक्टूबर‚ 2020 को वाणिज्यिक कार्गो अंतरिक्ष यान एनजी-14 सिग्नस (NG-14 Sygnus) एस.एस. कल्पना चावला (S.S. Kalpana Chawla) को वर्जीनिया स्थित नासा के मिड-अटलांटिक रीजनल स्पेसपोर्ट से प्रक्षेपित किया गया।
  • अमेरिका स्थित एयरोस्पेस और रक्षा प्रौद्योगिकी कंपनी नॉर्थरोप ग्रुम्मन (Northrop Grumman) द्वारा इस वाणिज्यिक कार्गो अंतरिक्ष यान का नाम नासा (NASA) की अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला के नाम पर रखा है।
  • नॉर्थरोप गु्रम्मन कंपनी की यह परंपरा है कि वह प्रत्येक सिग्नस अंतरिक्ष यानों का नाम किसी ऐसे व्यक्ति के नाम पर रखता है‚ जिसने मानव अंतरिक्ष यान मिशनों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई हो।
  • कल्पना चावला के कार्यों को सम्मान देने के लिए NG-14 सिग्नस का नाम उनके नाम पर रखा गया है।
  • महत्वपूर्ण तथ्य
  • एस.एस. कल्पना चावला एक री-सप्लाई शिप है‚ जिसकी मदद से अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पर 3629 किग्रा. सामान पहुंचाया गया।
  • इस अंतरिक्ष यान के साथ जाने वाले सामानों में एक अंतरिक्ष टायलेट (Toilet) है‚ जिसे यूनिवर्सल वेस्ट मैनेजमेंट सिस्टम (Universal Waste Management System) कहते हैं। इस 23 मिलियन डॉलर के टायलेट को भविष्य में इस्तेमाल के लिए टेस्ट किया जाएगा।
  • इसके साथ अंतरिक्ष में पोषक तत्वों से भरपूर पौधों को उगाने के लिए प्लांट हैबिटैट-02 (Plant Habitat-02) के जरिए अन्वेषण किया जाएगा।
  • इसमें एक 360° वर्चुअल रियलिटी कैमरा भी सम्मिलित है‚ जो एक व्यापक सिनेमाई उत्पादन के लिए स्पेसवॉक के दौरान फिल्म करने के लिए उपयोग किया जाएगा।
  • कल्पना चावला

1. कल्पना चावला का जन्म 17 मार्च‚ 1962 को हरियाणा के करनाल में हुआ था।
2. वे अंतरिक्ष में जाने वाली भारतीय मूल की पहली महिला थीं।
3. नवंबर‚ 1996 में उन्हें अंतरिक्ष शटल मिशन STS-87 में मिशन विशेषज्ञ के रूप में नियुक्त किया गया‚ जिसके साथ ही वे अंतरिक्ष में उड़ान भरने वाली भारतीय मूल की पहली महिला बन गईं।
4. वर्ष 2001 में कल्पना चावला को अंतरिक्ष शटल मिशन STS-107 के चालक दल का सदस्य बनने का अवसर प्राप्त हुआ और इसी मिशन के वापस लौटते वक्त अंतरिक्ष शटल कोलम्बिया के दुर्घटनाग्रस्त होने के कारण कल्पना चावला की मृत्यु हो गई थी।

Post a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *