सम-सामयिक घटना चक्र | Railway Solved Paper Books | SSC Constable Solved Paper Books | Civil Services Solved Paper Books
Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

करतारपुर कॉरिडोर समझौता

Kartarpur Corridor Agreement
  • पृष्ठभूमि
  • 26 नवंबर‚ 2018 को उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने डेरा बाबा नानककरतारपुर साहिब कॉरिडोर का शिलान्यास मान गांवजिला गुरुदासपुरपंजाब में किया था।
  • करतारपुर कॉरिडोर भारत के पंजाब प्रांत के गुरुदासपुर में स्थित डेरा बाबा नानक से शुरू होकर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के जिला नरोवल में स्थित करतारपुर को जोड़ता है।
  • पाकिस्तान के क्षेत्र में निर्मित होने वाले कॉरिडोर का शिलान्यास प्रधानमंत्री इमरान खान ने 28 नवंबर‚ 2018 को किया था।
  • उल्लेखनीय है कि इस कॉरिडोर के माध्यम से भारत से सिख तीर्थयात्री पाकिस्तान में रावी नदी के तट पर स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर की यात्रा बिना वीजा के कर सकेंगे।
  • ज्ञातव्य है कि करतारपुर में गुरु नानक देव जी ने अपने जीवन के अंतिम 18 वर्ष बिताए थे और 1539 ई. में वहीं शरीर त्याग किया था।
  • वहीं दूसरी तरफ डेरा बाबा नानक में गुरु नानक जी ने लंबे समय तक वास किया था।
  • ज्ञातव्य है कि वर्ष 2019 में गुरु नानक देव जी के जन्म की 550वाR वर्षगांठ मनाई गई।
  • वर्तमान परिपे्रक्ष्य
  • करतारपुर साहिब कॉरिडोर के बेहतर संचालन के लिए 24 अक्टूबर‚ 2019 को भारत एवं पाकिस्तान के मध्य समझौता हस्ताक्षरित हुआ।
  • कॉरिडोर के संचालन की विधियों पर जीरो प्वाइंट (अंतरराष्ट्रीय सीमा‚ डेरा बाबा नानक) में दोनों देशों के मध्य समझौते पर हस्ताक्षर किया गया।
  • संचालन की रूपरेखा
  • इस समझौते के तहत करतारपुर साहिब कॉरिडोर के संचालन के लिए एक रूपरेखा तैयार की गई है‚ जो इस प्रकार है-
  • सभी धर्मों के भारतीय तीर्थयात्री और भारतीय मूल के व्यक्ति इस कॉरिडोर का उपयोग कर सकते हैं।
  • यह यात्रा वीजा मुक्त होगी‚ लेकिन तीर्थयात्रियों को एक वैध पासपोर्ट साथ ले जाना होगा
  • इस यात्रा हेतु भारतीय मूल के व्यक्तियों को अपने देश के पासपोर्ट के साथ ओसीआई (समुद्रपारीय भारतीय नागरिकता) कार्ड ले जाने की आवश्यकता होगी।
  • गलियारा सुबह से शाम तक खुलेगा‚ सुबह यात्रा करने वाले तीर्थयात्रियों को उसी दिन लौटना होगा।
  • तीर्थयात्रियों के पास अकेले या समूहों में जाने और पैदल यात्रा करने का भी विकल्प होगा।
  • कुछ विशेष (अधिसूचित) दिनों को छोड़कर गलियारा वर्ष भर चालू रहेगा‚ विशेष दिनों की जानकारी पूर्व में ही दी जाएगी।
  • भारत यात्रा की तिथि से 10 दिन पहले तीर्थयात्रियों की सूची पाकिस्तान को भेजेगा। यात्रा की तिथि से 4 दिन पूर्व तीर्थयात्रियों को पुष्टिकरण (Confirmation) भेजा जाएगा।
  • पाकिस्तान पक्ष ने भारत को ‘लंगर’ और ‘प्रसाद’ के वितरण के लिए पर्याप्त प्रावधान करने का आश्वासन दिया है।
  • पाकिस्तान द्वारा यात्रा के लिए प्रति यात्री 20 अमेरिकी डॉलर की दर से सेवा शुल्क (Service Charge) लिया जाएगा‚ हालांकि भारत द्वारा इस शुल्क का विरोध किया गया है।
  • उद्घाटन
  • 9 नवंबर‚ 2019 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डेरा बाबा नानक (गुरदासपुर‚ पंजाब) में करतारपुर कॉरिडोर के एकीकृत चेक पोस्ट (Integrated Check Post) का उद्घाटन किया और तीर्थयात्रियों के पहले जत्थे को रवाना किया।
  • यह एकीकृत चेक पोस्ट भारतीय तीर्थयात्रियों की पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा करतापुर साहिब की यात्रा को सुगम बनाएगा।
  • गुरु नानक देव की 550वाR जयंती : प्रमुख तथ्य
  • गुरु नानक देव विश्वविद्यालय‚ अमृतसर में सेंटर फॉर इंटरफेथ स्टडीज (Centre for Inter Faith Studies) स्थापित किया जाएगा।
  • बर्मिंघम विश्वविद्यालय‚ यूके के अतिरिक्त कनाडा के एक विश्वविद्यालय में भी गुरु नानक देव जी की पीठ (Chair) स्थापित की जाएगी।
  • 28 अक्टूबर‚ 2019 को एयर इंडिया ने 550वीं जयंती को चिह्नित करने के लिए एक बोइंग 787 ड्रीमलाइनर विमान की पूंछ (tail) पर ‘इक ओंकार’ (Ik Onkar) को चित्रित किया है।
  • पाकिस्तान सरकार ने गुरु नानक देव की 550वीं जयंती के अवसर पर एक स्मारक सिक्का जारीा fकया है।