सम-सामयिक घटना चक्र | Railway Solved Paper Books | SSC Constable Solved Paper Books | Civil Services Solved Paper Books
Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

आत्मनिर्भर भारत सप्ताह

aatmanirbhar bhaarat saptaah
  • 7 अगस्त‚ 2020 को रक्षा मंत्रालय द्वारा ‘आत्मनिर्भर भारत सप्ताह’ का शुभारंभ किया गया।
  • ‘आत्मनिर्भर भारत सप्ताह’ 7 – 14 अगस्त‚ 2020 तक मनाया गया।
  • इसका औपचारिक उद्घाटन रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा 10 अगस्त‚ 2020 को किया गया।
  • पृष्ठभूमि
  • 12 मई‚ 2020 को ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ की घोषणा प्रधानमंत्री द्वारा की गई थी।
  • इस अभियान में 20 लाख करोड़ रुपये का राहत पैकेज घोषित किया गया।
  • कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए और भारतीय जनमानस को आत्मनिर्भर बनाने के लिए आत्मनिर्भर भारत अभियान शुरू किया गया था।
  • आत्मनिर्भर भारत सप्ताह को रक्षा मंत्रालय द्वारा आत्मनिर्भर भारत अभियान की अगली कड़ी के रूप में शुरू किया गया है।
  • आत्मनिर्भर भारत सप्ताह
  • आत्मनिर्भर भारत सप्ताह का उद्देश्य रक्षा मंत्रालय को आत्मनिर्भर बनाना है।
  • वर्तमान में भारत का रक्षा उद्योग बहुत पिछड़ा है‚ जिसकी भरपाई हथियारों के आयात के माध्यम से की जाती है।
  • आत्मनिर्भर भारत सप्ताह में उन हथियारों और उपकरणों की सूची रखी गई है‚ जिनका भारत में स्वदेशी विनिर्माण होगा।
  • इस कार्यक्रम में रक्षा मंत्री ने 101 हथियारों और सैन्य उपकरणों पर वर्ष 2024 तक प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है।
  • इन हथियारों एवं सैन्य उपकरणों में हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर‚ मालवाहक विमान‚ पारंपरिक पनडुब्बियां और मिसाइलें शामिल हैं।
  • आयुध निर्माणी बोर्ड के निगमीकरण करने की दिशा में कदम उठाया गया है।
  • जिससे राज्य के रक्षा उद्योगों को आधुनिक प्रबंधन तकनीक‚ प्रौद्योगिकी सम्मिश्रण आदि सहयोगात्मक प्रयास में मदद की जा सके।
  • अन्य महत्वपूर्ण तथ्य
  • 13 अगस्त‚ 2020 को विभिन्न हथियारों‚ युद्धक टैंकों तथा मिसाइलों का अनावरण किया गया।
  • इसमें रक्षा अनुसंधान और विकास प्रयोगशाला‚ हैदराबाद के सहयोग से आयुध कारखाना‚ मेडक (तलंगाना) द्वारा विकसित ‘नाग मिसाइल कैरियर’ (NAMICA) का प्रारूप शामिल है।
  • ‘नामिका’ में आयात प्रतिस्थापन क्षमता है‚ जो पहले चरण में 260 करोड़ रुपये है और यह बढ़कर 3000 करोड़ रुपये तक जा सकती है।
  • अन्य उत्पादों में 14.5 एमएम की एंटी मटेरियल राइफल‚ टी 90 मुख्य युद्धक टैंक के लिए अपग्रेडेड कमांडर थर्मल इमेजर कम डे साइट (आयुध कारखाना‚ त्रिचि में निर्मित) और लंबी दूरी के लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए 8.6 × 70 एमएम स्नाइपर राइफल (राइफल फैक्टरी‚ ईशापोर में विकसित) शामिल हैं।
  • डीआरडीओ : आत्मनिर्भर भारत
  • 24 अगस्त‚ 2020 को प्रधानमंत्री के ‘आत्मनिर्भर भारत’ के आह्वान की प्रतिक्रिया में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने स्वदेशी रक्षा विनिर्माण को मजबूती देने के लिए कई पहल की है।
  • ‘आत्मनिर्भर भारत’ के लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में डीआरडीओ ने उद्योग द्वारा डिजाइन‚ विकास और विनिर्माण के लिए 108 प्रणालियों और उपप्रणालियों (Systems and Subsystems) की पहचान की है।
  • डीआरडीओ अपनी आवश्यकता के आधार पर इन प्रणालियों के डिजाइन‚ विकास और परीक्षण के लिए उद्योग को समर्थन भी उपलब्ध कराएगा।
  • डीआरडीओ के लिए वर्तमान उद्योग आधार में रक्षा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम‚ आयुध कारखानों और बड़े उद्योगों के साथ ही 1800 एमएसएमई शामिल हैं।

सं. विभव कृष्ण पाण्डेय