सम-सामयिक घटना चक्र | Railway Solved Paper Books | SSC Constable Solved Paper Books | Civil Services Solved Paper Books
Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

आईएमडी विश्व प्रतिस्पर्धात्मकता रैंकिंग‚ 2020

  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 16 जून‚ 2020 को इंस्टीट्‌यूट फॉर मैनेजमेंट डेवलपमेंट (IMD) ने 32वां ‘विश्व प्रतिस्पर्धात्मकता सूचकांक’ (WCI : World Competitiveness Index) जारी किया है।
  • WCI मूल रूप से एक वार्षिक पुस्तक (Year Book) है‚ जिसे IMD की स्विट्‌जरलैंड स्थित ‘विश्व प्रतिस्पर्धात्मकता केंद्र’ (WCC : World Competitiveness Centre) द्वारा संकलित किया जाता है।
  • इस सूचकांक में 340 मानदंडों (Criteria) पर आधारित आंकड़ों के विश्लेषण द्वारा 63 देशों की अर्थव्यवस्थाओं का सर्वेक्षण किया गया है।
  • IMD विश्व प्रतिस्पर्धात्मकता सूचकांक‚ 2020 में वैश्विक अर्थव्यवस्था की संपन्नता (Prosperity) उत्पन्न करने की क्षमता का मापन किया गया है।
  • इसमें चार श्रेणियों- आर्थिक प्रदर्शन (Economic Performance)‚ आधारभूत संरचना (Infrastructure)‚ सरकार की कार्यकुशलता (Government Efficiency) तथा व्यावसायिक दक्षता (Business Efficiency) में प्रदर्शन के आधार पर रैंकिंग के साथ ही साथ किसी एक श्रेणी में प्रदर्शन की रैंकिंग भी जारी की है।
  • IMD विश्व प्रतिस्पर्धात्मकता सूचकांक‚ 2020
  • वर्ष 2019 की भांति वर्ष 2020 में भी इस सूचकांक में सिंगापुर को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है।
  • सिंगापुर की इस सफलता का कारण बेहतरीन आर्थिक प्रदर्शन रहा‚ जिसके पीछे सशक्त अंतरराष्ट्रीय व्यापार‚ रोजगार तथा मजबूत श्रम बाजार (Labour Market) की महत्वपूर्ण भूमिका रही।
  • साथ ही इसकी शिक्षा प्रणाली और मजबूत बुनियादी ढांचे यथा-दूरसंचार‚ इंटरनेट बैंडविड्‌थ की गति और उच्च तकनीकी निर्यात ने संयुक्त रूप से महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।
  • इस रैंकिंग में दूसरा स्थान डेनमार्क का रहा।
  • मजबूत अर्थव्यवस्था‚ श्रम बाजार तथा स्वास्थ्य व शिक्षा प्रणाली की‚ डेनमार्क को द्वितीय महत्वपूर्ण स्थान पर रखने में प्रमुख भूमिका रही।
  • इसके अतिरिक्त‚ डेनमार्क अंतरराष्ट्रीय निवेश तथा उत्पादकता एवं व्यापार  कुशलता में भी यूरोप में सर्वोच्च स्थान पर रहा।
  • स्विट्‌जरलैंड IMD विश्व प्रतिस्पर्धात्मकता रैंकिंग में तीसरे स्थान पर रहा।
  • विगत वर्ष यह चौथे स्थान पर था। इस प्रकार इसने अपनी रैंकिंग में सुधार किया है।
  • इसकी वैज्ञानिक अवसंरचना तथा स्वास्थ्य व शिक्षा प्रणालियां निरंतर अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं।
  • कुछ अर्थव्यवस्थाओं को झटका
  • नीदरलैंड्‌स तथा हांगकांग क्रमश: चौथे तथा पांचवें स्थान पर रहे।
  • हांगकांग जिसे विगत वर्ष इस सूचकांक में दूसरा स्थान प्राप्त था‚ वहां जारी सामाजिक विद्रोह की वजह से आर्थिक प्रदर्शन में गिरावट के कारण पांचवें स्थान पर खिसकना पड़ा।
  • संयुक्त अरब अमीरात (UAE) जो कि विगत वर्ष 5वें स्थान पर था‚ इस वर्ष 9वें स्थान पर आ गया।
  • संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के प्रतिस्पर्धात्मकता प्रदर्शन में यह गिरावट मध्य-पूर्व में संघर्ष के फलस्वरूप तेल कीमतों पर भारी दबाव के कारण रही।
  • संयुक्त राज्य अमेरिका (USA) वर्ष 2019 की रैंकिंग में तीसरे स्थान पर था‚ जबकि वर्ष 2020 की रैंकिंग में यह 10वें स्थान पर है।
  • ये गिरावट चीन और USA दोनों के बीच जारी व्यापार युद्ध के कारण हुई।
  • चीन जहां वर्ष 2019 की रैंकिंग में 14वें स्थान पर था‚ वर्ष 2020 की रैंकिंग में खिसककर 20वें स्थान पर आ गया है।
  • कुछ अर्थव्यवस्थाओं में सकारात्मक सुधार
  • नार्डिक अर्थव्यवस्थाओं ने महत्वपूर्ण रूप से व्यावसायिक कुशलता में सुधार द्वारा इस वर्ष की रैंकिंग में विगत वर्ष के मुकाबले उच्च स्थान प्राप्त किया।
  • नॉर्वे 7वें (वर्ष 2019 में 11वें)‚ फिनलैंड 13वें (वर्ष 2019 में 15वें)‚ स्वीडन 6वें (वर्ष 2019 में 9वें) स्थान पर रहे।
  • यूनाइटेड किंगडम (UK) 19वें (वर्ष 2019 में 23वें) स्थान पर रहा।
  • कनाडा 8वें (वर्ष 2019 में 13वें) स्थान पर रहा।
  • लैटिन अमेरिकी देशों में चिली सर्वोच्च (38वें) स्थान पर रहा।
  • जबकि वेनेजुएला को अंतिम स्थान (63वां) प्राप्त हुआ।
  • भारत के संदर्भ में
  • IMD विश्व प्रतिस्पर्धात्मकता रैंकिंग‚ 2020 में भारत का 43वां स्थान रहा।
  • विदित रहे कि वर्ष 2019 की रैंकिंग में भी भारत को 43वां स्थान प्राप्त हुआ था।
  • भारत की कमजोर रैंकिंग के पीछे निम्नलिखित चुनौतियां विद्यमान थीं-
  • राजकोषीय घाटा में संतुलन‚ आर्थिक विकास एवं रोजगार सृजन;
  • गरीब एवं अभावग्रस्त जनसंख्या की मूलभूत जरूरतों को पूर्ण करना;
  • अर्थव्यवस्था और समाज पर COVID-19 के प्रभाव को कम करना;
  • लॉकडाउन के बाद श्रम संबंधी समस्याओं का समाधान करना तथा अर्थव्यवस्था को पुन: आरंभ करना तथा
  • आधारभूत ढांचा विकास के लिए संसाधनों का पुनर्चक्रण करना।
  • BRICS देशों में चीन सबसे आगे 20वें स्थान पर‚ रूस 50वें‚ ब्राजील 56वें तथा दक्षिण अफ्रीका 59वें स्थान पर रहे।
  • SDG लक्ष्य तथा IMD रैंकिंग‚ 2020
  • वर्ष 2020 में संयुक्त राष्ट्र सतत विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने के महत्व को दर्शाने के लिए नए मापदंडों को IMD विश्व प्रतिस्पर्धात्मकता रैंकिंग‚ 2020 में जोड़ा गया है।
  • ये मापदंड इस तरफ इशारा करते हैं कि विभिन्न SDG लक्ष्यों यथा-शिक्षा‚ पर्यावरण‚ समावेशिता‚ सशक्तीकरण‚ बढ़ती उम्र तथा स्वास्थ्य को अगले 10 वर्षों में प्राप्त करने के लिहाज से अर्थव्यवस्थाएं कहां खड़ी हैं।

संअमित त्रिपाठी