Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

LRSAM का सफल उड़ान परीक्षण

Successful flight test of LRSAM

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 24 जनवरी, 2019 को ओडिशा तट के निकट स्थित INS चेन्नई नामक युद्धपोत से LRSAM का उड़ान परीक्षण सफलतापूर्वक संपन्न हुआ।
  • LRSAM का पूर्ण रूप है- ‘‘लंबी दूरी की सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल’’ (Long Range Surface-to-Air Missile)।

परीक्षण का विवरण

  • इस परीक्षण के तहत LRSAM ने युद्धपोत से उड़ान भरकर निम्न ऊंचाई पर उड़ान भर रहे एक हवाई लक्ष्य को ध्वस्त कर दिया।
  • भारतीय रक्षा मंत्रालय के अनुसार, उड़ान परीक्षण के दौरान इस मिशन के सभी उद्देश्य सफलतापूर्वक प्राप्त कर लिए गए।

LRSAM

  • LRSAM को ‘बराक-8’ के नाम से भी जाना जाता है।
  • इस मिसाइल का विकास भारतीय नौसेना हेतु ‘रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन’ (DRDO) तथा ‘इस्राइल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज’ (IAI) द्वारा संयुक्त रूप से किया गया है।
  • इस मिसाइल को विमानों, हेलिकॉप्टरों, पोत-रोधी मिसाइलों, मानव-रहित विमानों जैसे हवाई खतरों से सुरक्षा प्रदान करने के लिए विकसित किया गया है।
  • 4.5 मीटर लंबी तथा 275 किग्रा. वजनी बराक-8 मिसाइल 2 मैक की अधिकतम गति से अधिकतम 100 किमी. की दूरी तक मार कर सकती है।