Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

11वां वैश्विक कृषि नेतृत्व शिखर सम्मेलन और पुरस्कार, 2018

11th Global Agricultural Leadership Summit and Awards, 2018
  • वर्तमान स्वरूप
  •  11वें वैश्विक कृषि नेतृत्व शिखर सम्मेलन और पुरस्कार, 2018 का दो दिवसीय आयोजन 24 एवं 25 अक्टूबर, 2018 को नई दिल्ली में संपन्न हुआ। 11वें वैश्विक कृषि नेतृत्व शिखर सम्मेलन, 2018 की थीम ‘किसानों को बाजार से जोड़ना’ (Connecting Farmers to Market) है।
  • महत्वपूर्ण बिंदु
  • वैश्विक कृषि शिखर सम्मेलन का आयोजन भारतीय खाद्य व कृषि परिषद (ICFA) द्वारा केंद्रीय कृषि व किसान मंत्रालय, खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय तथा वाणिज्य मंत्रालय के तत्वावधान में किया जाता है।
  • इसका प्रथम सम्मेलन वर्ष 2008 में हुआ था।
  • इस सम्मेलन का उद्देश्य राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय बाजार के अनुरूप भारतीय किसानों को एक मंच उपलब्ध कराना है।
  • इस सम्मेलन में किसानों को प्रौद्योगिकी, बाजार, विभिन्न संस्थाओं एवं सरकारी कार्यक्रमों के प्रति जागरूक करना एवं वैश्विक स्तर पर कृषि के समक्ष विभिन्न बाधाओं तथा अवसरों पर चर्चा की गई।
  • गौरतलब है कि इस सम्मेलन में 11वां ग्लोबल लीडरशिप अवॉर्ड्स (वैश्विक नेतृत्व पुरस्कार) दिया गया तथा ‘एग्रीकल्चर ईयर बुक, 2018’ प्रस्तुत किया गया।
  • वैश्विक कृषि नेतृत्व पुरस्कार, 2018
  • यह पुरस्कार कृषि क्षेत्र में किसानों के सशक्तीकरण के लिए कार्य करने वाली संस्थाओं एवं व्यक्तियों को प्रदान किया जाता है।
  • प्रमुख विजेताओं का चुनाव कृषि वैज्ञानिक एम.एस. स्वामीनाथन के नेतृत्व वाली जूरी द्वारा किया गया।
  • नीदरलैंड्स सरकार के खाद्य सुरक्षा अधिकारी प्रो. रुडी रब्बिंगे (Rudy Rabbinge) को अंतरराष्ट्रीय नेतृत्व पुरस्कार, 2018 प्रदान किया गया। यह पुरस्कार उन्हें खाद्य सुरक्षा और ग्रामीण विकास में योगदान के लिए दिया गया।
  • प्रथम विश्व कृषि पुरस्कार
  • भारत में हरित क्रांति के जनक प्रोसेफर एम.एस. स्वामीनाथन को भारतीय खाद्य व कृषि परिषद (ICFA) द्वारा प्रथम विश्व कृषि पुरस्कार प्रदान किया गया। यह पुरस्कार उन्हें खाद्य तथा जैव विविधता संरक्षण, जेनेटिक्स एवं रेडिएशन आदि क्षेत्रों में किए गए शोध कार्यों के लिए प्रदान किया गया।

लेखक-अनुज तिवारी