Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

हैंड-इन-हैंड, 2018

Seventh joint military exercise between India and China 'Hand-in-Hand, 2018'

वर्तमान संदर्भ

  • भारत-चीन के मध्य सातवें संयुक्त सैन्य अभ्यास ‘हैंड-इन-हैंड, 2018’ का चीन के चेंगदू में 10-23 दिसंबर, 2018 के मध्य आयोजन किया गया।

हैंड इन हैंड

  • भारत और चीन की सेनाओं के मध्य सैन्य कूटनीति एवं संपर्क के अंग के रूप में प्रति वर्ष युद्धाभ्यास हैंड-इन-हैंड आयोजित किया जाता है।
  • इस अभ्यास की शुरुआत वर्ष 2007 में हुई थी।
  • वर्ष 2017 में भारत एवं चीन के मध्य डोकलाम गतिरोध के कारण इसे अस्थायी रूप से रोक दिया गया था तथा इस वर्ष यह युद्धाभ्यास पुनः प्रारंभ किया गया।

हैंडइनहैंड, 2018

  • इस अभ्यास का उद्देश्य दोनों देशों की सेनाओं के मध्य मजबूत संबंध बनाना एवं उन्हें बढ़ावा देना था।
  • साथ ही संयुक्त अभ्यास कमांडर की क्षमता में वृद्धि करना भी इस अभ्यास का एक लक्ष्य था, ताकि दोनों देशों की सैन्य टुकड़ियां उसके नियंत्रण में कार्य कर सकें।
  • इस अभ्यास में भारतीय सेना की ओर से 11 सिख लाइट इन्फैंट्री की टुकड़ियों तथा चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के तिब्बती सैन्य जिले से एक रेजीमेंट ने हिस्सा लिया।
  • भारतीय टुकड़ी का नेतृत्व 11 सिख लाइट इन्फैंट्री के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल पुनीत प्रताप सिंह तोमर ने और चीनी टुकड़ी का नेतृत्व कर्नल झोउ जुन ने किया।

कार्यक्रम

  • इस युद्धाभ्यास में संयुक्त राष्ट्र के अधिदेश के अंतर्गत अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद से निपटने अथवा आतंकवादी माहौल से मुकाबला करने के माहौल में सामरिक स्तर के संचालन शामिल थे।
  • इस युद्धाभ्यास में आतंकवादियों के छिपने के स्थानों को घेरने और खोज अभियानों, छापामारी करने, खुफिया जानकारी जुटाने और संयुक्त संचालनों जैसे आतंकवाद से निपटने के अनेक पहलुओं पर आधारित व्याख्यान एवं विचार-विमर्श भी शामिल थे।
  • दोनों देशों की सेनाओं की टुकड़ियों के मध्य अंतर-संचालनीयता बढ़ाने और संयुक्त अभियान को बढ़ावा देने के उद्देश्य से समन्वित लाइव फायरिंग भी संचालित की गई।

निष्कर्ष

  • यह युद्धाभ्यास दोनों देशों की सेनाओं के मध्य मैत्रीपूर्ण संबंधों को बढ़ाने में सफल साबित हुआ। इस युद्धाभ्यास से दोनों देशों की सेनाओं को परस्पर विश्वास और सहयोग को बढ़ाने और उसे मजबूत करने का एक अवसर प्राप्त हुआ।