Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

स्वस्थ राज्य, प्रगतिशील भारत रिपोर्ट

svasth State, Progressive India Report
  • 25 जून, 2019 को नीति आयोग द्वारा जारी ‘स्वस्थ राज्य, प्रगतिशील भारत’ रिपोर्ट का दूसरा संस्करण जारी किया गया। आयोग द्वारा जारी इस दूसरे संस्करण के अनुसार, समग्र प्रदर्शन की दृष्टि से शीर्ष तीन राज्य-केरल, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र  हैं, जबकि वार्षिक वृद्धिशील प्रदर्शन की दृष्टि से शीर्ष तीन राज्य-हरियाणा, राजस्थान और झारखंड हैं।
  • स्वास्थ्य एवं चिकित्सा सेवाओं के मोर्चे पर बिहार, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड एवं ओडिशा का प्रदर्शन विगत रिपोर्ट की तुलना में खराब प्रदर्शित हुआ है, जबकि इसके विपरीत हरियाणा, राजस्थान और झारखंड में उल्लेखनीय रूप से सुधार हुआ है।
  • समान तत्वों के मध्य तुलना को सुनिश्चित करने हेतु राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों को निम्न तीन श्रेणियों-(i) बड़े राज्य, (ii) छोटे राज्य तथा (iii) केंद्रशासित प्रदेश में रैंकिंग प्रदान की गई है।
  • रिपोर्ट का विवरण
  • 25 जून, 2019 को जारी ‘स्वस्थ राज्य, प्रगतिशील भारत’ रिपोर्ट विश्व बैंक के तकनीकी सहयोग तथा केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार के परामर्श से नीति आयोग  द्वारा विकसित किया गया है।
  • यह रिपोर्ट स्वास्थ्य के क्षेत्र में राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों के प्रदर्शन को मापने का एक ‘वार्षिक सुव्यवस्थित निष्पादन साधन’ (Annual Systematic Performance Tool) है।
  • इस रिपोर्ट में स्वास्थ्य संबंधी परिणामों या पैमानों के साथ-साथ समग्र प्रदर्शन में हुए वार्षिक वृद्धिशील परिवर्तनों के आधार पर राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की रैंकिंग अभिनव ढंग से करते हुए एक-दूसरे से तुलना भी की गई है।
  • रिपोर्ट के इस दूसरे संस्करण में राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में दो वर्षों की अवधि (2016-17 तथा 2017-18) के दौरान हुए वृद्धिशील सुधारों एवं समग्र प्रदर्शन को मापने और उन पर प्रकाश डालने पर लक्ष्य (Focus) किया गया है।
  • यह स्वास्थ्य सूचकांक (Health Index) 23 संकेतकों (Indicators) पर आधारित है, जिनका प्रयोग कंपोजिट सूचकांक स्कोर की गणना कर समग्र प्रदर्शन रैंक तथा वृद्धिमान रैंक तैयार करने के लिए किया गया है।
  • प्रत्येक क्षेत्र को विशेष भारांक (Weightage) दिया गया है, जो उसकी अहमियत (Importance) पर आधारित है और जिसे विभिन्न संकेतकों के मध्य समान रूप से वितरित किया गया है।
  • राज्यों के ‘संदर्भ वर्ष की सूची’ (Index) को स्कोर रेंज के आधार पर 3 वर्गों -फ्रंट-रनर : शीर्ष एक-तिहाई, अचीवर्स : मध्यम एक-तिहाई तथा आकांक्षी : निम्नतम एक-तिहाई में वर्गीकृत किया गया है।
  • जबकि वृद्धिशील प्रदर्शन के आधार पर चार समूहों यथा-कोई सुधार नहीं (< = 0 वृद्धिशील बदलाव), न्यूनतम सुधार (0.01-2 अंक तक), मामूली सुधार (2.01-4 अंक तक और सर्वाधिक सुधार (>4 अंकों से अधिक)।
  • बड़े राज्यों में केरल, आंध्र प्रदेश और महाराष्ट्र को समग्र प्रदर्शन की दृष्टि से शीर्ष रैंकिंग दी गई है।
  • जबकि हरियाणा, राजस्थान और झारखंड वार्षिक वृद्धिशील प्रदर्शन की दृष्टि से शीर्ष तीन राज्य हैं।
  • हरियाणा, राजस्थान और झारखण्ड ने विभिन्न संकेतकों के मामले में आधार से संदर्भ वर्ष तक स्वास्थ्य परिणामों में अधिकतम बेहतर प्रदर्शन किया है।

वृद्धिशील प्रदर्शन और समग्र प्रदर्शन के आधार पर बड़े राज्यों का वर्गीकरण

वृद्धिशील प्रदर्शन

समग्र प्रदर्शन

 

आकांक्षी

अचीवर्स

फ्रंटरनर्स

कोई सुधार नहीं

(0 या कम)

मध्य प्रदेश, ओडिशा, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार

पश्चिम बंगाल

केरल, पंजाब, तमिलनाडु

न्यूनतम सुधार

(0.01-2)

छत्तीसगढ़

गुजरात, हिमाचल प्रदेश

मामूली सुधार

(2.01.- 4.0)

महाराष्ट्र, जम्मू-कश्मीर, कर्नाटक, तेलंगाना

सर्वाधिक सुधार

(4.0 से अधिक)

राजस्थान

हरियाणा, झारखंड, असम

आंध्र प्रदेश

  • छोटे राज्यों में समग्र प्रदर्शन के आधार पर मिजोरम को शीर्ष रैंकिंग दी गई है। तत्पश्चात मणिपुर का स्थान है।
  • जबकि वार्षिक वृद्धिशील प्रदर्शन के आधार पर त्रिपुरा को शीर्ष रैंकिंग दी गई है और उसके बाद मणिपुर का स्थान है। 
  • मणिपुर ने विभिन्न संकेतकों के मामले में सर्वाधिक वृद्धिशील  प्रगति दर्ज की है।
  • इन राज्यों के प्रदर्शन को मापने हेतु प्रमुख रूप से पूर्ण टीकाकरण कवरेज, संस्थागत प्रसव, तपेदिक की कुल केस अधिसूचना दर आदि को शामिल किया गया है।

वृद्धिशील प्रदर्शन और समग्र प्रदर्शन के आधार पर छोटे राज्यों का वर्गीकरण

वृद्धिशील प्रदर्शन

           समग्र प्रदर्शन

आकांक्षी

अचीवर्स

फ्रंटरनर्स

कोई सुधार नहीं (0 या कम)

अरुणाचल

प्रदेश, सिक्किम

मेघालय,

गोवा

    –

न्यूनतम सुधार (0.01-2)

नगालैंड

न्  –

मिजोरम

मामूली सुधार (2.01-4.0)

त्रिपुरा

मणिपुर

सर्वाधिक सुधार (4.0 से अधिक)

   –

   –

  •  केंद्रशासित प्रदेशों में समग्र प्रदर्शन के आधार पर चंडीगढ़ प्रथम और दादरा एवं नगर हवेली दूसरे स्थान पर है, जबकि वार्षिक वृद्धिशील प्रदर्शन के आधार पर दादरा एवं नगर हवेली प्रथम और चंडीगढ़ दूसरे स्थान पर है।

वृद्धिशील प्रदर्शन और समग्र प्रदर्शन के आधार पर केंद्रशासित प्रदेशों का वर्गीकरण

वृद्धिशील  प्रदर्शन

समग्र प्रदर्शन

आकांक्षी

अचीवर्स

फ्रंटरनर्स

कोई सुधार नहीं (0 या कम)

अंडमान और निकोबार

दिल्ली, लक्षद्वीप

न्यूनतम सुधार (0.01-2)

   

 

मामूली सुधार (2.01- 4.0)

 

पुडुचेरी

सर्वाधिक सुधार (4.0 से अधिक)

दमन और दीव

   –

 

    null
  • परिणाम
  • बड़े राज्यों में केरल, आंध्र प्रदेश और महाराष्ट्र को समग्र प्रदर्शन की दृष्टि से शीर्ष रैंकिंग दी गई है।
  • जबकि हरियाणा, राजस्थान और झारखंड वार्षिक वृद्धिशील प्रदर्शन की दृष्टि से शीर्ष तीन राज्य है।
  • हरियाणा, राजस्थान और झारखंड ने विभिन्न संकेतकों के मामले में आधार से संदर्भ वर्ष तक स्वास्थ्य परिणामों में अधिकतम बेहतर प्रदर्शन किया है।

सं. शिवशंकर कुमार तिवारी