Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

स्वच्छ सर्वेक्षण, 2019

Clean survey, 2019

शहरों को स्वच्छ बनाने की मुहिम आज काफी आगे बढ़ चुकी है। इसका आगाज वर्ष 2016 में ही हो गया था। यह मुहिम 2 अक्टूबर, 2014 को शुरू हुए ‘स्वच्छ भारत मिशन’ के तहत जारी है। स्वच्छ सर्वेक्षण, 2019 उसी मुहिम की अगली कड़ी है। यह शृंखला का चौथा सर्वेक्षण है।

  • 6 मार्च, 2019 को भारत सरकार द्वारा स्वच्छ सर्वेक्षण, 2019 का परिणाम जारी किया गया। यह सर्वेक्षण 4-31 जनवरी, 2019 के मध्य 4237 शहरों और कस्बों में कराया गया। सर्वेक्षण के लिए आंकड़ों के संग्रह का काम चार प्रमुख स्रोतों यथा- सेवा स्तर पर हुई प्रगति, प्रत्यक्ष निगरानी, लोगों से प्राप्त फीडबैक और प्रमाणन शामिल है।
  • स्वच्छ सर्वेक्षण, 2019 के तहत 4237 शहरों एवं कस्बों में से 2900 को खुले में शौच से मुक्त (ODF) के रूप में प्रमाणित किया गया है।
  • देश के 23 राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों को खुले में शौच से मुक्त (ODF) घोषित किया गया है।
  • 2900 प्रमाणित शहरों एवं कस्बों में से 544 ने ओडीएफ + (ODF+) अथवा ओडीएफ++ (ODF++) प्रमाणन हासिल किया है।
  • 56 शहरों एवं कस्बों ने पहले ही तीन स्टार प्रमाणन (3 Star Certification) प्राप्त किया है, जबकि तीन ने फाइव स्टार प्रमाणन प्राप्त किया है।
  • स्वच्छ सर्वेक्षण, 2019 के परिणाम में शहरों की रैंकिंग में इंदौर को शीर्ष स्थान प्राप्त हुआ है।
  • शीर्ष 10 शहरों की रैंकिंग इस प्रकार है-
क्रम शहर क्रम शहर
1 इंदौर 6 अहमदाबाद
2 अम्बिकापुर 7 नवी मुंबई
3 मैसुरू 8 तिरुपति
4 उज्जैन 9 राजकोट
5 नई दिल्ली (NDMC) 10 देवास
  • सर्वेक्षण, 2019 के तहत बिहार के सहरसा को अंतिम स्थान (425वां) प्राप्त हुआ है।
  • शीर्ष 50 शहरों में उत्तर प्रदेश के एकमात्र शहर गाजियाबाद (13वां स्थान) को स्थान प्राप्त हुआ है।
  • उत्तर प्रदेश के अन्य शीर्ष स्थान प्राप्त शहरों में कानपुर (63वां स्थान), झांसी (68वां स्थान), वाराणसी (70वां स्थान), आगरा (85वां स्थान), सहारनपुर (92वां स्थान) शामिल हैं।
  • राज्यों की रैंकिंग इस प्रकार

शीर्ष स्थान प्राप्त 5 राज्य

      निम्न स्थान प्राप्त 5 राज्य

क्रम

राज्य

क्रम

राज्य

1

छत्तीसगढ़

28

मेघालय

2

झारखंड

27

अरुणाचल प्रदेश

3

महाराष्ट्र

26

असम

4

मध्य प्रदेश

25

नगालैंड

5

गुजरात

24

बिहार

    null
  • उल्लेखनीय है कि स्वच्छ सर्वेक्षण, 2019 में देश के कुल 28 राज्यों ने भागीदारी की, जबकि पश्चिम बंगाल राज्य इसमें सम्मिलित नहीं हुआ था।
  • उत्तराखंड के गौचर को सर्वाधिक स्वच्छ गंगा शहर घोषित किया गया है।

   हाल ही में घोषित किए गए स्वच्छ सर्वेक्षण, 2019 के नतीजे इस बात को प्रमाणित करते हैं कि स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत किए जा रहे प्रयास सही दिशा में अग्रसर हैं। 4041 शहरों को ओडीएफ घोषित किया जा चुका है। स्वच्छता पुरस्कार प्रदान करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि स्वच्छ भारत के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए मानसिकता में परिवर्तन महत्वपूर्ण है। स्वच्छता प्रत्येक नागरिक के व्यवहार का अभिन्न अंग होना चाहिए, ताकि इसे कारगर और सतत बनाया जा सके।

सं. काली शंकर ‘शारदेय’