Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: ssgcpl@gmail.com

सितंबर-अंत, 2018 में भारत का बाह्य ऋण

India's external debt in September-end, 2018
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • सितंबर, 2018 के अंत में भारत का बाह्य ऋण मार्चांत, 2018 के स्तर से 3.6 प्रतिशत की कमी दर्शाता है जिसका कारण वाणिज्यिक उधार तथा अनिवासी भारतीयों (NRIs) की जमा राशियों में कमी थी।
  • बाह्य ऋण की मात्रा में कमी मुख्य रूप से भारतीय रुपया और प्रमुख मुद्राओं की तुलना में अमेरिकी डॉलर में मूल्य वृद्धि के परिणामस्वरूप होने वाले मूल्य निर्धारण लाभ के कारण हुई।
  • जीडीपी (GDP) एवं बाह्य ऋण का अनुपात सितंबर, 2018 के अंत में 20.8 प्रतिशत रहा, जो मार्चांत, 2018 के स्तर 20.5 प्रतिशत से थोड़ा अधिक रहा।
  • विदेशी ऋण के आंकड़े
  • भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा सितंबर-अंत, 2018 में ‘भारत के बाह्य ऋण संबंधी आंकड़ें’ 31 दिसंबर, 2018 को जारी किए गए।
  • सितंबर, 2018 के अंत में भारत का बाह्य ऋण 510.4 बिलियन अमेरिकी डॉलर रहा, जो मार्चांत, 2018 की तुलना में 19.3 बिलियन अमेरिकी डॉलर (3.6%) की कमी दर्शाता है।
  • भारत के बाह्य ऋण में वाणिज्यिक उधार 37.1 प्रतिशत हिस्से के साथ विदेशी ऋण का सबसे बड़ा घटक है।
  • इसके पश्चात भारतीय अनिवासियों की जमाओं (23.88%) की हिस्सेदारी है।
  • सितंबर, 2018 के अंत में दीर्घावधिक ऋण (एक वर्ष से ऊपर की मूल परिपक्वता के साथ) 406.1 बिलियन अमेरिकी डॉलर रहा, जो मार्चांत, 2018 की तुलना में 21.4 बिलियन अमेरिकी डॉलर कम है।
  • सितंबर, 2018 के अंत में कुल विदेशी ऋण में दीर्घावधिक ऋण (मूल परिपक्वता) की हिस्सेदारी 79.6 प्रतिशत थी, जो मार्चांत, 2018 के 80.7 प्रतिशत की तुलना में कम है।
  • कुल बाह्य ऋण में अल्पावधिक ऋण (एक वर्ष तक की मूल परिपक्वता के साथ) की हिस्सेदारी मार्चांत, 2018 के 19.3 प्रतिशत से बढ़कर 20.4 प्रतिशत हो गई।
  • विदेशी मुद्रा भंडार एवं अल्पावधिक ऋण (मूल परिपक्वता) का अनुपात सितंबर, 2018 के अंत में बढ़कर 26.1 प्रतिशत हो गया, जो  मार्चांत, 2018 में 24.1 प्रतिशत था।
  • सितंबर-अंत, 2018 में भारत के विदेशी ऋण में सबसे अधिक (49.7%) ऋण अमेरिकी डॉलर में लिए गए हैं।
  • इसके पश्चात भारतीय रुपये (36.1%), एसडीआर (5.3%), जापानी येन (4.7%) तथा यूरो (3.2%) में लिए गए ऋणों का स्थान है।

                            भारत के विदेशी ऋण की संरचना          (बिलियन अमेरिकी डॉलर में)

  घटक सितंबर-अंत, 2018 अनंतिम कुल ऋण में हिस्सेदारी (%)
1. बहुपक्षीय ऋण 56.5 11.07
2.  द्विपक्षीय ऋण 23.3 4.57
3. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) 5.6 1.1
4. व्यापार ऋण (Trade credit) 8.4 1.65
5. वाणिज्यिक उधार 189.3 37.09
6. एनआरआई जमा राशियां 121.9 121.9  
7.  रुपया ऋण 1.1 0.22
8. दीर्घावधिक ऋण ( 1-7 तक) 406.1 79.57
9. अल्पावधिक ऋण 104.3 20.43
10. कुल विदेशी ऋण 510.4 100