Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: ssgcpl@gmail.com

वैश्विक भुखमरी सूचकांक, 2018

Global Hunger Index 2018
  • सूचकांक का विवरण
  • वैश्विक भुखमरी सूचकांक (GHI : Global Hunger Index) एक ऐसी युक्ति है, जो वैश्विक, क्षेत्रीय तथा राष्ट्रीय स्तरों पर भुखमरी की गणना एवं उसकी वस्तुस्थिति का पता लगाने के लिए डिजाइन की गई है।
  • वर्ष 2018 के वैश्विक भुखमरी सूचकांक का प्रकाशन संयुक्त रूप से दो गैर-सरकारी संगठनों यथा- ‘कंसर्न वर्ल्डवाइड’ (Concern Worldwide) तथा ‘वेल्ट हंगरहिल्फ’ (Welthungerhilfe) द्वारा किया गया है।
  • ज्ञातव्य है कि वैश्विक भूख सूचकांक का सृजन वर्ष 2006 में ‘अंतरराष्ट्रीय खाद्य नीति अनुसंधान संस्थान’ (IFPRI : International Food Policy Research Institute) के अनुसंधानकर्ताओं द्वारा किया गया था।
  • तब से अब तक इस संस्थान ने इस सूचकांक के विकास एवं अनुरक्षण के लिए महत्वपूर्ण बौद्धिक एवं वित्तीय सहायता उपलब्ध कराई है।
  • हालांकि वर्ष 2018 से IFPRI ने वैश्विक भूख सूचकांक के प्रकाशन से स्वयं को अलग करने का निर्णय लिया है, अब यह सूचकांक वेल्ट हंगरहिल्फ एवं कंसर्न वर्ल्डवाइड की संयुक्त परियोजना के रूप में आगे जारी रहेगा।
  • सूचकांक की प्रविधि
  • वैश्विक भुखमरी सूचकांक चार संकेतकों यथा- अल्पपोषण (Undernourishment), बाल दुबलापन (Child Wasting), बाल ठिगनापन (Child Stunting) तथा बाल मृत्यु दर (Child Mortality) के आधार पर तैयार किया जाता है।
  • वैश्विक भुखमरी सूचकांक 100 आधार बिंदुओं के पैमाने पर तैयार किया जाता है, जिसमें शून्य (0) सबसे अच्छा स्कोर माना जाता है, जबकि 100 सबसे खराब स्कोर होता है।
  • स्पष्ट है कि यदि किसी देश का GHI स्कोर शून्य है, तो इसका अर्थ है कि वहां कोई भूखा नहीं है, जबकि GHI स्कोर 100 से तात्पर्य है कि उस देश में सभी भुखमरी की स्थिति में हैं।
  • हालांकि यह दोनों ही स्थितियां व्यवहार में नहीं पाई जाती हैं।
  • व्यवहार में ‘शून्य से सौ ’ (0-100) के बीच की स्थिति पाई जाती है।
  • इस सूचकांक में कम मान संबंधित देश की अच्छी स्थिति को प्रदर्शित करता है, जबकि अधिक मान वहां भुखमरी की भयावहता को प्रदर्शित करता है।
  • इस सूचकांक में GHI स्कोर के पांच वर्ग बनाए गए हैं, जिनके आधार पर किसी देश में भुखमरी की तीव्रता (Severity) का आकलन किया जाता है-

(i)  9.9 या उससे कम स्कोर ‘अल्प’ (Low)

(ii) 10.0-19.9 स्कोर ‘मध्यम’ (Moderate)

(iii) 20.0-34.9 स्कोर ‘गंभीर’ (Serious)

(iv) 35.0-49.9 स्कोर ’भयावह’ (Alarming) तथा

(v) 50.0 या उससे अधिक स्कोर भुखमरी की ‘चरम भयावह’ (Extremely Alarming) स्थिति को प्रदर्शित करता है।

  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 11 अक्टूबर, 2018 को वैश्विक भुखमरी सूचकांक, 2018 जारी किया गया।
  • यह इस वार्षिक रिपोर्ट का 13वां संस्करण है।
  • वर्ष 2018 की रिपोर्ट ‘बलात् प्रवसन एवं भुखमरी’ (Forced Migration & Hunger) के विषय पर केंद्रित है।
  • वर्ष 2018 की इस रिपोर्ट में विश्व के 119 देशों में पोषण की स्थिति का आकलन प्रस्तुत किया गया है।
  • रिपोर्ट के मुख्य बिंदु
  • सद्यः रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2000 से अब तक विश्व में भुखमरी की स्थिति में 28 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई है।
  • वैश्विक स्तर पर GHI स्कोर 20.9 है, जो यहां भुखमरी एवं अल्पपोषण की ‘गंभीर’ स्थिति को प्रदर्शित करता है।
  • ज्ञातव्य है कि वर्ष 2000 में वैश्विक स्तर पर GHI स्कोर 29.2 दर्ज किया गया था।
  • GHI, 2018 के अनुसार, वैश्विक स्तर पर मात्र एक देश मध्य अफ्रीकी गणराज्य (GHI स्कोर : 53.7) भुखमरी की चरम भयावह स्थिति में है।
  • 6 देश यथा- चाड, हैती, मेडागास्कर, सिएरा लियोन, यमन तथा जाम्बिया भुखमरी की भयावह (Alarming) स्थिति का सामना कर रहे हैं।
  • कुल 119 देशों में से 45 देश भुखमरी की गंभीर (Serious)स्थिति में हैं।
  • रिपोर्ट के अनुसार, जिम्बाब्वे, सोमालिया तथा मध्य अफ्रीकी गणराज्य में अल्पपोषण दर अधिकतम (46.6% – 61.8% के मध्य) है।
  • तिमोर-लेस्ते, इरिट्रिया तथा बुरुंडी में बाल ठिगनापन दर सर्वाधिक है। इनमें से प्रत्येक देश में कम-से-कम आधे बच्चे ठिगनापन की समस्या से ग्रस्त हैं।
  • जिबूती, भारत एवं दक्षिण सूडान में बाल दुबलापन की समस्या सर्वाधिक है। जिबूती में 16.7 प्रतिशत, भारत में 21.0 प्रतिशत तथा दक्षिण सूडान में 28.6 प्रतिशत बच्चे लंबाई के अनुपात में कम वजन के हैं।
  • पांच वर्ष से कम आयु वर्ग में सर्वाधिक मृत्यु दर सोमालिया (13.3%), चाड (12.7%) तथा मध्य अफ्रीकी गणराज्य (12.4%) में है।
  • रिपोर्ट के अनुसार, अंगोला, रवांडा, इथियोपिया तथा म्यांमार के GHI स्कोर में वर्ष 2018 में सर्वाधिक सुधार (45% से अधिक) देखने को मिला है।
  • रैंकिंग
  • वैश्विक भुखमरी सूचकांक, 2018 में 15 ऐसे देश शामिल हैं, जिनका GHI स्कोर 5 से कम है, इन देशों को अलग-अलग व्यक्तिगत रैंक प्रदान नहीं की गई है, बल्कि सामूहिक रूप से इन्हें 1-15 रैंक तक सूचीबद्ध किया गया है।
  • बुल्गारिया तथा स्लोवाक रिपब्लिक दोनों का GHI स्कोर 5.0 है तथा इन दोनों को संयुक्त रूप से 16वीं रैंक प्रदान की गई है।
  • सूचकांक में अंतिम पांच रैंक प्राप्त देशों की स्थिति इस प्रकार है-
  • 119. मध्य अफ्रीकी गणराज्य (स्कोर : 53.7), 118.  चाड (स्कोर : 45.4), 117. यमन (स्कोर : 39.7), 116. मेडागास्कर (स्कोर : 38.0), 115. जाम्बिया (स्कोर : 37.6)।
  • GHI, 2018 में श्रीलंका 67वें (स्कोर : 17.9), म्यांमार 68वें (स्कोर : 20.1), नेपाल 72वें (स्कोर : 21.2), बांग्लादेश 86वें (स्कोर : 26.1) तथा पाकिस्तान 106वें (स्कोर : 32.6) स्थान पर है।
  • भारत की स्थिति
  • वैश्विक भुखमरी सूचकांक, 2018 में भारत को 103वीं रैंक (GHI स्कोर : 31.1) प्राप्त हुई है।
  • भारत के साथ नाइजीरिया भी 103वें स्थान पर है।
  • स्पष्ट है कि GHI, 2018 में भारत ‘गंभीर’ वर्ग में स्थित है।
  • ब्रिक्स देशों में भारत की स्थिति सबसे खराब है।
  • ब्रिक्स देशों में भारत के अतिरिक्त अन्य देशों की स्थिति इस प्रकार है – 21वां स्थान-रूस (स्कोर : 6.1), 25वां स्थान-चीन (स्कोर : 7.6), 31वां स्थान-ब्राजील (स्कोर : 8.5) तथा 60वां स्थान-दक्षिण अफ्रीका (स्कोर : 14.5)।
  • जहां अल्पपोषण, बाल ठिगनापन तथा बाल मृत्यु दर के संदर्भ में भारत की स्थिति में सुधार परिलक्षित हुआ है, तो वहीं ‘बाल दुबलापन’ में पूर्व वर्षों की तुलना में भारत की स्थिति खराब हुई है।

वैश्विक भुखमरी सूचकांक, 2018 : भारत की स्थिति

जनसंख्या में अल्पपोषित

लोगों की संख्या

(प्रतिशत में)

पांच वर्ष से

कम आयु वर्ग में

दुबलापन (प्रतिशत में)

पांच वर्ष से कम आयु

वर्ग में ठिगनापन

(प्रतिशत में)

पांच वर्ष से कम आयु

वर्ग में मृत्यु दर

(प्रतिशत में)

2009-11

2015-17

2008-12

2013-17

2008-12

2013-17

2010

2016

17.5

14.8

16.7

21

42.2

38.4

5.9

4.3

लेखक-सौरभ मेहरोत्रा