Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

विश्व का पहला संप्रभु ब्लू बॉण्ड

World's First Sovereign Blue Bond
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • हिंद महासागर में स्थित एक द्वीपीय राष्ट्र सेशेल्स द्वारा 29 अक्टूबर, 2018 को विश्व का पहला ‘सॉवरेन ब्लू बॉण्ड’ (Sovereign Blue Bond) जारी किया गया।
  • इसे सेशेल्स के उपराष्ट्रपति विन्सेंट मेरिटन द्वारा इंडोनेशिया के बाली में जारी किया गया।
  • क्या है ब्लू बॉण्ड?
  • ब्लू बॉण्ड सरकारों, विकास बैंकों या अन्य संस्थाओं द्वारा जारी एक ऋण-पत्र (Bond) है, जिसके माध्यम से निवेशकों से पूंजी प्राप्त करके उस पूंजी द्वारा पर्यावरणीय, आर्थिक एवं जलवायु हितों वाली  समुद्री और समुद्र आधारित परियोजनाओं को वित्तपोषित किया जाता है।
  • अर्थात ‘सॉवरेन ब्लू बॉण्ड’ टिकाऊ एवं सतत समुद्री संसाधनों एवं मत्स्यपालन परियोजनाओं को बढ़ावा देने के लिए निर्मित एक वित्तीय उपकरण है।
  • इस बॉण्ड के द्वारा समुद्री संसाधनों के सतत उपयोग को वित्तपोषित करने के लिए विभिन्न देशों के अंतरराष्ट्रीय निवेशकों से 15 मिलियन अमेरिकी डॉलर एकत्रित किया जाएगा।
  • इस बॉण्ड की परिपक्वता (Maturity) अवधि 10 वर्ष की होगी।
  • उल्लेखनीय है कि ब्लू बॉण्ड विश्व बैंक के दक्षिण-पश्चिम हिंद महासागर मत्स्ययन शासन एवं साझी वृद्धि कार्यक्रम (SWIO Fish3) की एक परियोजना है।
  • इसका प्रमुख उद्देश्य सेशेल्स में समुद्री क्षेत्रों के प्रबंधन एवं संरक्षण में सुधार करना तथा यहां की समुद्री खाद्य मूल्य शृंखला को मजबूत बनाना है।
  • ब्लू बॉण्ड और सेशेल्स
  • सेशेल्स एक द्वीपीय राष्ट्र है, जिसके विकास में समुद्री संसाधनों एवं उससे संबद्ध पर्यटन तथा मत्स्यपालन उद्योग की महत्वूपर्ण भूमिका है।
  • मत्स्यपालन उद्योग सेशेल्स की कुल जनसंख्या के 17 प्रतिशत भाग को रोजगार उपलब्ध कराता है तथा यहां के कुल घरेलू निर्यात में 95 प्रतिशत की हिस्सेदारी मत्स्य उत्पादों की है।
  • ब्लू बॉण्ड सेशेल्स में अनेक आर्थिक अवसरों को जन्म देगा तथा इससे देश के विकास को गति मिलेगी।
  • इस बॉण्ड के माध्यम से प्राप्त धन से सेशेल्स के आम नागरिकों को खाद्य सुरक्षा को बढ़ाने एवं एक स्वस्थ समुद्री पर्यावरण को प्राप्त करने में भी सहायता मिलेगी।