Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

रमनसैट-2

Ramansat-2
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 23 सितंबर, 2019 को ‘रमनसैट-2’ नामक एक लघु उपग्रह (Miniature Satellite) का प्रक्षेपण अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ‘नासा’ (NASA) द्वारा किया गया।
  • 4 सेमी. × 4 सेमी. × 4 सेमी. आकार के इस लघु उपग्रह का प्रक्षेपण अमेरिकी राज्य न्यूमेक्सिको की कोलंबिया वैज्ञानिक सुविधा (Columbia Scientific Balloon Facility) से प्रक्षेपित किया गया।
  • लघु उपग्रह रमनसैट-2
  • रमनसैट-2 को अंतरिक्ष विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में कार्य करने वाली नई दिल्ली स्थित ‘स्पेस इंडिया’ (SPACE-India) नामक संस्था में प्रशिक्षु के रूप में कार्य करने वाले 17 वर्षीय भारतीय छात्र ‘आभास सिक्का’ द्वारा डिजाइन किया गया था।
  • स्पेस इंडिया के चेयरमैन तथा प्रबंध निदेशक सचिन बाह्म्बा के निर्देशन में आभास सिक्का ने इस लघु उपग्रह को डिजाइन किया है।
  • भौतिक शास्त्री सर सी.वी. रमन के सम्मान में इस उपग्रह को रमनसैट-2 नाम दिया गया है।
  • उद्देश्य
  • अत्याधुनिक उपकरणों की सहायता से यह उपग्रह सूर्य और अंतरिक्ष से आने वाले विकिरण का मापन करेगा।
  • 38 किमी. की ऊंचाई पर स्थापित यह उपग्रह सुदूर खगोलीय पिंडों द्वारा उत्सर्जित गामा विकिरण का पता लगाएगा।
  • यह मानव और उपग्रहों के लिए अंतरिक्ष अन्वेषण को सुरक्षित बनाने की दिशा में एक सार्थक प्रयास है।
  • रमनसैट-2 उपग्रह का चयन
  • प्रक्षेपण हेतु रमनसैट-2 उपग्रह का चयन ‘क्यूब्स इन स्पेस’ नामक एक अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता के माध्यम से किया गया।
  • प्रतियोगिता ‘Idoodleduinc’ नामक गैर-लाभकारी संगठन तथा नासा के सहयोग से किया जाता है।
  • ‘क्यूब्स इन स्पेस’ 11 – 18 वर्ष की आयु के छात्रों को लघु उपग्रहों को डिजाइन करने का अवसर प्रदान करती है।
  • पूर्व उपलब्धि
  • ‘क्यूब्स इन स्पेस’ के अंतर्गत चयनित ‘स्पेस इंडिया’ के रमनसैट-1 नामक लघु उपग्रह को जून, 2019 में नासा द्वारा प्रक्षेपित किया गया था।
  • ‘क्यूब्स इन स्पेस’ के माध्यम से चयनित ‘कलामसैट’ नामक उपग्रह जून, 2017 में प्रक्षेपित किया गया था।

सं.  अमर सिंह