Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

यूक्रेन में राष्ट्रपति चुनाव

Presidential election in ukraine
  • वर्तमान संदर्भ
  • 21 अप्रैल, 2019 को यूक्रेन में संपन्न हुए राष्ट्रपति चुनाव के दूसरे चक्र में ‘सर्वेंट ऑफ द पीपुल पार्टी’ के उम्मीदवार वोलोदीमीर जेलेंस्की (Volodymyr Zelensky) ने स्वतंत्र उम्मीदवार एवं पूर्व राष्ट्रपति पेट्रो पोरोशेंको (Petro Poroshenko) को पराजित कर दिया।
  • राष्ट्रपति चुनाव
  • यूक्रेन का राष्ट्रपति चुनाव द्वि-चक्रीय या द्वितीय मत प्रणाली (Two Round System) पर आधारित है, जिसका प्रथम चक्र 31 मार्च, 2019 को एवं दूसरा चक्र 21 अप्रैल, 2019 को संपन्न हुआ था।
  • प्रथम चक्र में कुल 62.8 प्रतिशत मतदान हुआ था, जिसमें से किसी भी उम्मीदवार को पूर्ण बहुमत प्राप्त नहीं हुआ था।
  • इस चक्र में कुल 39 उम्मीदवार मैदान में थे, जिसमें से वोलोदीमीर जेलेंस्की को सर्वाधिक 30.24 प्रतिशत मत प्राप्त हुए थे।
  • इसके पश्चात क्रमशः पेट्रो पोरोशेंको को 15.95 प्रतिशत मत एवं यूलिया ताइमोशेंको को 13.40 प्रतिशत मत मिले थे।
  • 21 अप्रैल, 2019 को संपन्न हुए दूसरे चक्र में, वोलोदीमीर जेलेंस्की एवं पेट्रो पोरोशेंको (प्रथम चक्र के दो सर्वाधिक मत प्राप्तकर्ता) मैदान में थे।
  • इस चरण में कुल 62.07 प्रतिशत मतदान हुआ, जिसमें से जेलेंस्की को 73.22 प्रतिशत एवं पोरोशेंको को 24.45 प्रतिशत मत प्राप्त हुए थे।
  • इसके साथ पेशे से हास्य कलाकार रहे वोलोदीमीर जेलेंस्की यूक्रेन के नए राष्ट्रपति के रूप में निर्वाचित हुए।
  • क्या है द्विचक्रीय या द्वितीय मत प्रणाली?
  • द्वि-चक्रीय या द्वितीय मत प्रणाली (Two Round System), निर्वाचन की बहुमतीय प्रणाली का एक प्रकार है। बहुमतीय प्रणाली के अंतर्गत एक उम्मीदवार एकल चुनाव क्षेत्र से बहुमत अर्थात 50 प्रतिशत से अधिक मत प्राप्त होने की स्थिति में विजयी घोषित होता है।
  • द्वितीय मत प्रणाली में उम्मीदवारों की सूची में से मतदाताओं को एक विकल्प का चयन करना होता है। प्रथम चक्र या दौर में, यदि किसी उम्मीदवार को कुल मतदान का स्पष्ट बहुमत प्राप्त हो जाता है, तो विजयी हो जाता है। परंतु किसी भी उम्मीदवार को बहुमत प्राप्त नहीं होने की स्थिति में द्वितीय चक्र का मतदान होता है।
  • प्रथम चक्र में सर्वाधिक मत प्राप्त करने वाले दो उम्मीदवारों के मध्य द्वितीय चक्र का मतदान होता है, जिसमें स्पष्ट बहुमत प्राप्त करने वाले उम्मीदवार को विजयी घोषित किया जाता है।
  • यह प्रणाली फ्रांस और यूक्रेन सहित अनेक देशों में लोकप्रिय है।

संललिन्द्र कुमार