Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

मालदीव के राष्ट्रपति की भारत यात्रा

Visit of the President of the Maldives to India
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 16 – 18 दिसंबर, 2018 के मध्य मालदीव के नवनियुक्त राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह भारत की राजकीय यात्रा पर रहे।
  • ज्ञातव्य है कि 17 नवंबर, 2018 को राष्ट्रपति के पद की शपथ लेने के बाद यह सोलिह की पहली विदेश यात्रा थी।
  • यात्रा के दौरान हुए महत्वपूर्ण समझौते
  • वीजा व्यवस्था की सुविधा पर समझौता।
  • सांस्कृतिक सहयोग पर समझौता-ज्ञापन।
  • कृषि व्यवसाय के लिए पारिस्थितिकी तंत्र में सुधार हेतु आपसी सहयोग के लिए समझौता-ज्ञापन।
  • सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिक्स के क्षेत्र में सहयोग हेतु संयुक्त घोषणा। 
  • संस्थागत संपर्क/विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग की रूपरेखा
  • भारत और मालदीव के नेता, दोनों देशों के मध्य संस्थागत संपर्क स्थापित करने के साथ ही विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग की रूपरेखा बनाकर साथ काम करने पर भी सहमत हुए। इसके अंतर्गत शामिल क्षेत्र हैं : –
  • स्वास्थ्य सहयोग विशेषकर कैंसर के उपचार हेतु
  • आपराधिक मामलों पर पारस्परिक कानूनी सहायता
  • निवेश प्रोत्साहन
  • मानव संसाधन विकास
  • पर्यटन
  • अन्य घोषणाएं
  • द्विपक्षीय वार्ता के दौरान भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मालदीव के सामाजिक-आर्थिक विकास हेतु 1.4 बिलियन अमेरिकी डॉलर की वित्तीय सहायता देने की घोषणा की।
  • इस दौरान मालदीव के नवनियुक्त राष्ट्रपति ने अपनी ‘इंडिया-फर्स्ट पॉलिसी’ पर प्रतिबद्धता दोहराते हुए भारत के साथ मिलकर काम करने की बात कही।
  • <----------------
  • भारतीय प्रधानमंत्री ने न्यायिक, पुलिसिंग और कानून-प्रवर्तन, लेखा परीक्षा और वित्तीय प्रबंधन, स्थानीय प्रशासन, सामुदायिक विकास, आईटी सहित विभिन्न क्षेत्रों में प्रशिक्षण और क्षमता निर्माण के लिए अगले 5 वर्षों में 1000 अतिरिक्त स्लॉट मालदीव को प्रदान करने की जानकारी दी।
  • गौरतलब है कि मालदीव उन चुनिंदा देशों में शामिल है, जिनके साथ भारत की ‘वीजा मुक्त व्यवस्था’ (Visa Free Arrangement) संचालित है।
  • वार्ता के दौरान मालदीव के राष्ट्रपति ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अस्थायी सदस्यता हेतु वर्ष 2020-21 के लिए भारत की उम्मीदवारी को अपना समर्थन देने की बात दोहराई।
  • उल्लेखनीय है कि भारतीय प्रधानमंत्री ने वार्ता के दौरान मालदीव के ‘राष्ट्रमंडल समूह’ में फिर से शामिल होने के निर्णय और ‘हिंद महासागर रिम एसोसिएशन’ का नया सदस्य बनने का स्वागत किया।
  • भारत-मालदीव संबंध
  • वर्ष 1965 में मालदीव की स्वतंत्रता के बाद उसे मान्यता प्रदान करने और इस देश के साथ राजनयिक संबंध स्थापित करने वाले पहले देशों में भारत का नाम शामिल है।
  • भारत ने माले में वर्ष 1972 में अपना मिशन स्थापित किया था।
  • ज्ञातव्य है कि लगभग 4 लाख की जनसंख्या वाला द्वीपीय देश मालदीव राजनीतिक अस्थिरता का सामना करता रहा है। फरवरी,  2018 में सोलिह के पूर्ववर्ती अब्दुल्ला यामीन ने देश पर तानाशाही तरीके से शासन करते हुए आपातकाल लगा दिया था।
  • ध्यातव्य है कि वर्तमान राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह को भारत समर्थक माना जाता है, जबकि उनके पूर्ववर्ती अब्दुल्ला यामीन चीन के नजदीकी थे।
  • मालदीव की स्थिति भारत की सुरक्षा एवं रणनीतिक दृष्टिकोण से बेहद महत्वपूर्ण है।