Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

भारत-इंडोनेशिया समन्वित गश्त, 2019

Indo-Indonesia Integrated Patrol, 2019
  • वर्तमान संदर्भ
  • भारत व इंडोनेशिया के मध्य समन्वित गश्त कार्यक्रम, 2019 का उद्घाटन पोर्ट ब्लेयर (अंडमान-निकोबार) में हुआ।
  • यह गश्ती कार्यक्रम 19 मार्च से 4 अप्रैल, 2019 के मध्य संपन्न हुआ।
  • समन्वित गश्त कार्यक्रम, 2019
  • इस कार्यक्रम का यह 33वां संस्करण था, जो कि तीन चरणों में संपन्न हुआ।
  • पोर्ट ब्लेयर में आयोजित उद्घाटन समारोह में भारत में इंडोनेशिया के राजदूत सिद्धार्थो रजा सूर्योदीपुरा ने भाग लिया।
  • इस कार्यक्रम में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व नौसेना के वरिष्ठ अधिकारी कमोडोर आशुतोष रिधोकर, वीएसएम नौसेना कमांडर, अंडमान-निकोबार ने किया।
  • इंडोनेशिया की तरफ से समुद्री जहाज केआरआई सुल्तान थाहा सैफुद्दीन तथा समुद्री निगरानी एयरक्राफ्ट सीएस-235 ने समन्वित गश्त, 2019 में भाग लिया।
  • समन्वित गश्त, 2019 के दौरान दोनों देशों के गश्ती दलों ने 236 समुद्री मील अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा रेखा की निगरानी किया।
  • इस कार्यक्रम का समापन इंडोनेशिया के बेलावन में 1-4 अप्रैल, 2019 को हुआ।
  • उद्देश्य
  • इस कार्यक्रम का उद्देश्य समुद्री पड़ोसी देशों के साथ बेहतर संबंध व तालमेल स्थापित करना है।
  • सागर (क्षेत्र के सभी देशों की सुरक्षा और विकास) नीति के तहत भारत सरकार ने हाल के वर्षों में समुद्री क्षेत्र में अपनी उपस्थिति को बढ़ाया है।
  • इस नीति के तहत भारतीय नौसेना को हिंद महासागर क्षेत्र के सागरीय देशों को निगरानी, राहत व बचाव व क्षमता-निर्माण आदि गतिविधियों में सहायता प्रदान करना है।
  • पृष्ठभूमि
  • इस कार्यक्रम की शुरुआत वर्ष 2002 में की गई थी।
  • यह एक वर्ष में दो बार आयोजित किया जाता है।
  • इस वर्ष भारत व इंडोनेशिया राजनयिक संबंधों के 70 वर्ष पूरे हुए हैं।
  • 32वें भारत-इंडोनेशिया समन्वित गश्त, 2018 का आयोजन 11-27 अक्टूबर, 2018 के मध्य इंडोनेशिया में किया गया था।

संअभय प्रताप सिंह