Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: ssgcpl@gmail.com

पूर्वोत्तर के अनुभव का पर्व

Experiencing North East Festival
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 27-31 अक्टूबर, 2018 के मध्य पांच दिवसीय ‘पूर्वोत्तर के अनुभव का पर्व’ (Experiencing North East Festival) का आयोजन भारत अंतरराष्ट्रीय केंद्र (India International Centre), नई दिल्ली में किया गया।
  • इसके तहत पूर्वोत्तर भारत की संस्कृति की विशिष्टता का प्रदर्शन उसकी कला, हस्तशिल्प, हथकरघा, पर्यटन, खान-पान आदि के माध्यम से किया गया।
  • गंतव्य पूर्वोत्तर शृंखला (Destination North East Series) के एक भाग के रूप में इस पर्व का आयोजन पूर्वोत्तर परिषद (NEC), पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय (DoNER) द्वारा भारत अंतरराष्ट्रीय केंद्र के साथ मिलकर किया गया।
  • 27 अक्टूबर, 2018 को इस पर्व का उद्घाटन भारत अंतरराष्ट्रीय केंद्र (IIC) के अध्यक्ष और जम्मू एवं कश्मीर के पूर्व राज्यपाल एन.एन. वोहरा ने किया।
  • एक प्रदर्शनी का आयोजन किया गया, जिसमें प्रसिद्ध मानव विज्ञानी वेरियर एल्विन (Verrier Elwin) की तस्वीरों को भी प्रदर्शित किया गया।
  • गंतव्य पूर्वोत्तर
  • ध्यातव्य है कि गंतव्य पूर्वोत्तर शृंखला की शुरुआत वर्ष 2016 में हुई थी।
  • इसका उद्देश्य एक ही जगह पर पूर्वोत्तर की विविधतापूर्ण संस्कृति और विरासत का प्रदर्शन करना है।
  • पूर्वोत्तर भारत
  • पूर्वोत्तर भारत सांस्कृतिक दृष्टि से भारत के अन्य राज्यों से भिन्न है।
  • पूर्वोत्तर भारत के अंतर्गत विशेष श्रेणी के मान्यता प्राप्त आठ राज्य (अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, सिक्किम एवं त्रिपुरा) शामिल हैं।
  • पूर्वोत्तर क्षेत्र भारत के कुल भू-भाग के 7.9 प्रतिशत (262179 वर्ग किमी.) और 2011 की जनगणना के अनुसार, भारत की कुल जनसंख्या के 3.76 प्रतिशत (4.55 करोड़) का प्रतिनिधित्व करता है।