Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति की भारत यात्रा

South Africa President's visit to India
  • वर्तमान परिदृश्य
  • 25-26 जनवरी, 2019 के मध्य दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा (Cyril Ramaphosa), भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निमंत्रण पर भारत की राजकीय यात्रा पर रहे।
  • राष्ट्रपति के रूप में यह उनकी पहली भारत यात्रा थी।
  • 26 जनवरी, 2019 को दक्षिण अफ्रीकी राष्ट्रपति रामफोसा 70वें भारतीय गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि थे।
  • ज्ञातव्य है कि वर्ष 1995 में तत्कालीन राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला के बाद श्री रामफोसा दक्षिण अफ्रीका के दूसरे राष्ट्रपति हैं, जो भारतीय गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि थे।
  • यात्रा विवरण
  • 25 जनवरी, 2019 को भारतीय राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति रामफोसा का राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया।
  • राष्ट्रपति रामफोसा ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को राजघाट पर श्रद्धांजलि अर्पित की।
  • राष्ट्रपति रामफोसा और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मध्य पारस्परिक हित के द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक मामलों पर प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता आयोजित हुई।
  • 25 जनवरी, 2019 को राष्ट्रपति रामफोसा ने भारतीय प्रधानमंत्री  के साथ भारत-दक्षिण अफ्रीका व्यापार मंच को संबोधित किया।
  • 25 जनवरी, 2019 को राष्ट्रपति रामफोसा ने आई.बी.एस.ए. (IBSA) की 15वीं वर्षगांठ के अवसर पर आई.बी.एस.ए. की रूपरेखा के तहत भारतीय विश्व मामले परिषद (Indian Council of World Affairs) द्वारा आयोजित ‘गांधी-मंडेला स्वतंत्रता व्याख्यान’ (Gandhi-Mandela Freedom Lecture) भी दिया।
  • अन्य उल्लेखनीय तथ्य
  • जनवरी, 2019 में आयोजित वाइब्रेंट गुजरात शिखर सम्मेलन में दक्षिण अफ्रीका ने साझीदार देश (Partner Country) के रूप में प्रतिभाग किया।
  • प्रिटोरिया में शीघ्र ही गांधी-मंडेला कौशल संस्थान’ (Gandhi Mandela Skills Institute) स्थापित किया जाएगा।
  • भारत-दक्षिण अफ्रीका संयुक्त मंत्रिस्तरीय आयोग का 10वां सत्र वर्ष 2019 में दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के नेतृत्व में नई दिल्ली में आयोजित होगा।
  • भारत के सहयोग से दक्षिण अफ्रीका में ‘शिल्पकारी कौशल में विशेषज्ञता का गांधी-मंडेला केंद्र’ (Gnadhi-Mandela Centre of Specialization for Artisan Skills) स्थापित किया गया है।
  • समझौता
  • इस यात्रा के तहत दोनों देशों के मध्य 3 वर्षीय सामरिक सहयोग कार्यक्रम (वर्ष 2019-2021) पर हस्ताक्षर किए गए, जिसका उद्देश्य दोनों देशों के मध्य सामरिक भागीदारी को बढ़ाना है।
  • भारत-दक्षिण अफ्रीका संबंध
  • भारत, दक्षिण अफ्रीका के शीर्ष पांच व्यापारिक साझीदारों में से एक हैं।
  • दोनों देशों के मध्य द्विपक्षीय व्यापार वर्ष 2017-18 में 9.38 बिलियन अमेरिकी डॉलर था, जो वर्ष 2018-19 में बढ़कर 10.65 बिलियन अमेरिकी डॉलर हो गया है।
  • दोनों देश व्यावसायिक प्रशिक्षण, क्षमता निर्माण आदि के क्षेत्रों में घनिष्ठ सहयोगी हैं।
  • दोनों देश वैश्विक मुद्दों पर समान दृष्टिकोण साझा करते हैं और विभिन्न बहुपक्षीय मंचों जैसे-संयुक्त राष्ट्र (United Nations), ब्रिक्स, आई.बी.एस.ए., बेसिक, विश्व व्यापार संगठन (World Trade Organization : WTO), राष्ट्रमंडल और हिंद महासागर रिम एसोसिएशन (Indian Ocean Rim Association : IORA) आदि पर सहयोग करते हैं।
  • भारतीय मूल के लगभग 1.5 मिलियन लोग दक्षिण अफ्रीका में रहते हैं तथा 150 से अधिक भारतीय कंपनियों ने दक्षिण अफ्रीका में निवेश किया है, जिससे लगभग 20,000 से अधिक स्थानीय लोगों को रोजगार प्राप्त हुआ है।
  • निष्कर्ष

निष्कर्ष के तौर पर हम कह सकते हैं कि दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति की सद्यः भारत यात्रा से न केवल दोनों देशों के मध्य द्विपक्षीय संबंध प्रगाढ़ होंगे, बल्कि वैश्विक स्तर पर तथा विभिन्न मंचों पर संबंध मजबूत होंगे, साथ ही रक्षा, सुरक्षा, कारोबार, निवेश, समुद्री अर्थव्यवस्था, सूचना प्रौद्योगिकी, कृषि आदि क्षेत्रों में सहयोग में वृद्धि होगी।

सं. रमेश चन्द