Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

कैंसर तत्परता सूचकांक, 2019

The Index of Cancer Preparedness 2019
  • वर्तमान संदर्भ
  • 28 मार्च, 2019 को ‘द इकोनॉमिस्ट’ समूह के अनुसंधान एवं विश्लेषण संभाग ‘द इकोनॉमिस्ट इंटेलीजेंस यूनिट’ (EIU) द्वारा तैयार किए गए ‘कैंसर तत्परता सूचकांक, 2019’ (The Index of Cancer Preparedness : ICP) को लंदन में जारी किया गया।
  • उद्देश्य एवं प्रक्रिया
  • यह सूचकांक 28 देशों के कैंसर नीति एवं नियंत्रण से संबंधित आंकड़ों की एक विस्तृत शृंखला पर आधारित है, जिसका मुख्य उद्देश्य कैंसर की चुनौती से निपटने हेतु सर्वोत्तम उपायों को चिह्नित करना है।
  • इस सूचकांक को तीन मुख्य डोमेनों नीति एवं योजना (Policy and Planning), देखभाल करने (Care delivery) तथा स्वास्थ्य प्रणाली एवं गवर्नेंस के अंतर्गत 13 उप-डोमेनों तथा 45 संकेतकों के आधार पर तैयार किया गया है।
  • नीति एवं योजना के अंतर्गत राष्ट्रीय कैंसर नियंत्रण योजना, जनसंख्या आधारित कैंसर का निबंधन, कैंसर अनुसंधान, तंबाकू नियंत्रण तथा जीवनशैली एवं आहार उप-डोमेन के रूप में शामिल हैं।
  • देखभाल करने के अंतर्गत प्रतिरक्षण, जांच, सेवा की उपलब्धता एवं श्रमबल, रोग विषयक दिशा-निर्देश तथा रोगी केंद्रित देखभाल शामिल हैं।
  • स्वास्थ्य प्रणाली एवं गवर्नेंस के अंतर्गत राजनीतिक इच्छाशक्ति, आधारभूत संरचना, अंतःक्षेत्रीय कार्य एवं गवर्नेंस शामिल हैं।
  • उपर्युक्त आधार पर 28 देशों को 0 से 100 के मध्य अंक प्रदान कर रैंकिंग दी गई है, जहां अधिकतम अंक उच्च रैंकिंग को प्रदर्शित करता है।
  • रैंकिंग

सूचकांक में शामिल शीर्ष 5 देश

रैंक देश कुल अंक
1 ऑस्ट्रेलिया 90.6
2 नीदरलैंड्स 89.9
3 जर्मनी 88.7
4 फ्रांस 87.5
5 यूनाइटेड किंगडम 85.3

सूचकांक में शामिल अंतिम 5 देश

रैंक देश कुल अंक
28 मिस्र 48.4
27 रोमानिया 51.1
26 सऊदी अरब 53
25 इंडोनेशिया 55.1
24 केन्या 55.5
  • इस सूचकांक में भारत को कुल 64.9 अंकों के साथ 19वां स्थान प्राप्त हुआ है।
  • कैंसर क्या है?
  • कैंसर का तात्पर्य शरीर की कोशिकाओं के समूह की असामान्य एवं अव्यवस्थित वृद्धि है, जो शरीर के प्रभावी अंगों के निकटवर्ती अंगों में भी फैल सकती है। कैंसर लगभग शरीर के किसी भी अंग को प्रभावित कर सकता है।
  • सामान्यतः पुरुष फेफड़े, प्रोस्टेट, कोलोरेक्टल (Colorectal), पेट एवं यकृत कैंसर से प्रभावित होते हैं, जबकि महिलाएं ब्रेस्ट, कोलोरेक्टल, फेफड़ा, गर्भाशय ग्रीवा एवं थाइरॉयड कैंसर से प्रभावित होती हैं।
  • ध्यातव्य है कि वर्ष 2018 में कैंसर से लगभग 9.6 मिलियन मौतें हुई थीं एवं यह विश्व में प्रत्येक 6 मौतों में से एक मौत हेतु उत्तरदायी है।
  • विश्व के आधे से अधिक देशों में 70 वर्ष से पूर्व होने वाली मौतों का द्वितीय सबसे बड़ा कारक कैंसर है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन प्रति वर्ष 4 फरवरी को विश्व कैंसर दिवस के रूप में मनाता है।

सं.  ललिन्द्र कुमार