Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

कृषिगत उत्पादन, 2018-19 : द्वितीय अग्रिम अनुमान

Agricultural Production, 2018-19: Second Advance Estimates
  • पृष्ठभूमि
  • विश्व के भौगोलिक क्षेत्र का भारत के पास लगभग 2.4 प्रतिशत एवं जल संसाधन का लगभग 4 प्रतिशत हिस्सा ही आता है, जबकि उसे विश्व की कुल जनसंख्या के 17.5 प्रतिशत हिस्से को पोषण प्रदान करना होता है। भारतीय कृषि में बेहतर निष्पादन मानसून पर निर्भर करता है। जिस वर्ष मानसूनी वर्षा सामान्य से कम होती है, उस वर्ष कृषिगत उत्पादन में कमी देखी जाती है, लेकिन जिस वर्ष मानसूनी वर्षा सामान्य अथवा अधिक होती है, उस वर्ष कृषिगत उत्पादन में भी वृद्धि देखी जाती है।
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • ज्यादातर प्रमुख फसल उत्पादक राज्यों में मानसून के दौरान सामान्य वर्षा हुई है। तदनुसार, कृषि वर्ष 2018-19 के दौरान ज्यादातर फसलों का उत्पादन उनकी सामान्य पैदावार से अधिक रहने का अनुमान लगाया गया है।
  • कृषि सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग, भारत सरकार द्वारा वर्ष 2018-19 के लिए मुख्य फसलों के उत्पादन के दूसरे अग्रिम अनुमानों को 28 फरवरी, 2019 को जारी किया गया। सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, मानसून सत्र (जून-सितंबर, 2018) के दौरान देश में कुल वर्षा लंबी अवधि के औसत (LPA) से 9 प्रतिशत कम रही है। इस अवधि के दौरान उत्तर-पश्चिम भारत, मध्य भारत और दक्षिण प्रायद्वीप में कुल वर्षा समग्र रूप से सामान्य रही है।
  • कृषिगत उत्पादन संबंधी अन्य महत्वपूर्ण तथ्य
  • मानसून, 2018 के दौरान लगभग सामान्य वर्षा एवं सरकार द्वारा दी गई विभिन्न नीतिगत पहलों के परिणामस्वरूप मौजूदा वर्ष में देश में सामान्य से अधिक खाद्यान्न उत्पादन का अनुमान है।
  • वर्ष 2018-19 के लिए दूसरे अग्रिम अनुमानों के अनुसार, देश में कुल खाद्यान्न उत्पादन 281.37 मिलियन टन अनुमानित है, जो वर्ष 2017-18 के द्वितीय अग्रिम अनुमान 277.49 मिलियन टन उत्पादन की तुलना में 3.89 मिलियन टन अधिक है।
  • वर्तमान वर्ष का उत्पादन अनुमान भी विगत पांच वर्षों (2013-14 से 2017-18 तक) में हुए औसत उत्पादन से 15.63 मिलियन टन अधिक है।
  • वर्ष 2018-19 के दौरान चावल का कुल उत्पादन रिकॉर्ड 115.60 मिलियन टन होने का अनुमान है, जो वर्ष 2017-18 के द्वितीय अग्रिम अनुमान के 111.01 मिलियन टन के उत्पादन की तुलना में 4.59 मिलियन टन अधिक है।
  • इस दौरान चावल का उत्पादन पिछले पांच वर्षों में हुए 107.80 मिलियन टन के औसत उत्पादन से भी 7.80 मिलियन टन अधिक है।
  • वर्ष 2018-19 के दौरान गेहूं का कुल उत्पादन 99.12 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। यह वर्ष 2017-18 के द्वितीय अग्रिम अनुमान के 97.11 मिलियन टन के उत्पादन की तुलना में 2.01 मिलियन टन अधिक है। साथ ही इस दौरान गेहूं का उत्पादन पिछले पांच वर्षों में हुए 94.61 मिलियन टन के औसत उत्पादन से 4.51 मिलियन टन ज्यादा है।
  • वर्ष 2018-19 के दौरान पौष्टिक/मोटे अनाजों का कुल उत्पादन 42.64 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। यह वर्ष 2017-18 के द्वितीय अग्रिम अनुमान के 45.42 मिलियन टन के उत्पादन की तुलना में 2.78 मिलियन टन कम है।
  • पौष्टिक/मोटे अनाजों का उत्पादन पिछले पांच वर्षों के औसत उत्पादन की तुलना में 0.45 मिलियन टन कम है।
  • वर्ष 2018-19 के दौरान दालों का कुल उत्पादन 24.02 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। यह वर्ष 2017-18 के द्वितीय अग्रिम अनुमान के 23.95 मिलियन टन के उत्पादन की तुलना में 0.08 मिलियन टन अधिक है।
  • इस दौरान दालों का उत्पादन पिछले पांच वर्षों में हुए 20.26 मिलियन टन के औसत उत्पादन से 3.77 मिलियन टन ज्यादा है।
  • वर्ष 2018-19 के दौरान तिलहन का कुल उत्पादन 31.50 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। यह वर्ष 2017-18 के द्वितीय अग्रिम अनुमान के 29.88 मिलियन टन के उत्पादन की तुलना में 1.62 मिलियन टन अधिक है। इस दौरान दालों का उत्पादन पिछले पांच वर्षों के औसत उत्पादन से भी 1.85 मिलियन टन अधिक है।
  • वर्ष 2018-19 के दौरान गन्ने का कुल उत्पादन 380.83 मिलियन टन अनुमानित है, जो वर्ष 2017-18 के द्वितीय अग्रिम अनुमान के उत्पादन की तुलना में 27.61 मिलियन टन अधिक है।
  • इस दौरान गन्ने का उत्पादन पिछले पांच वर्षों के 349.78 मिलियन टन के औसत उत्पादन से भी 31.05 मिलियन टन अधिक है।
  • वर्ष 2018-19 के दौरान कपास का उत्पादन 30.09 मिलियन गांठ (प्रत्येक 170 किलोग्राम) होने का अनुमान लगाया गया है, जो वर्ष 2017-18 के द्वितीय अग्रिम अनुमान के 33.92 मिलियन गांठों के उत्पादन की तुलना में कम है।
  • वर्ष 2018-19 के दौरान जूट एवं मेस्ता का उत्पादन 10.07 मिलियन गांठ (प्रत्येक 180 किलोग्राम) होने का अनुमान लगाया गया है।

वर्ष 2018-19 में मुख्य फसलों के अनुमानित उत्पादन

फसल वर्ष 2016-17 अंतिम अनुमान वर्ष 2017-18 (2nd A.E.) लक्ष्य वर्ष 2018-19 द्वितीय अग्रिम अनुमान
चावल 109.70 111.01 114.00 115.60
गेहूं 98.51 97.11 102.20 99.12
ज्वार 4.57 4.66 4.90 3.75
बाजरा 9.73 9.26 9.50 7.46
मक्का 25.90 27.14 28.70 27.80
रागी 1.39 1.96 2.30 1.32
छोटे अनाज 0.44 0.42 0.60 0.38
जौ 1.75 1.99 2.10 1.92
मोटे अनाज 43.77 45.42 48.10 42.64
कुल अनाज 251.98 253.54 264.30 257.35
अरहर (तूर) 4.87 4.02 4.50 3.68
चना 9.38 11.10 11.50 10.32
उड़द 2.83 3.23 3.60 3.36
मूंग 2.17 1.74 2.25 2.41
अन्य खरीफ दालें 0.89 0.79 1.00 0.81
अन्य रबी दालें 1.77 3.07 3.10 1.91
कुल दालें 23.13 23.95 25.95 24.02
कुल खाद्यान्न 275.11 277.49 290.25 281.35
मूंगफली 7.46 8.22 9.07 6.97
रेपसीड और सरसों 7.92 7.54 8.49 8.40
सोयाबीन 13.16 11.39 14.82 13.69
अन्य तिलहन 2.74 2.73 3.63 2.45
कुल नौ तिलहन 31.28 29.88 36.00 31.50
गन्ना 306.07 353.23 385.00 380.83
कपास# 325.77 339.15 355.00 300.87
जूट और मेस्ता## 109.62 105.05 112.00 100.72

# लाख गांठें प्रत्येक 170 किग्रा.

## लाख गांठें प्रत्येक 180 किग्रा.

संशिवशंकर तिवारी