Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

कालेश्वरम लिफ्ट सिंचाई परियोजना

Kaleshwaram Lift Irrigation Scheme
  • पृष्ठभूमि
  • भारत एक कृषि प्रधान देश है। कृषि की उन्नति एवं प्रगति के लिए न केवल केंद्र सरकार बल्कि राज्य सरकार द्वारा अनवरत प्रयास किया जा रहा है। इसी क्रम में तेलंगाना सरकार द्वारा राज्य में बेहतर सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से कालेश्वरम लिफ्ट सिंचाई परियोजना का उद्घाटन किया गया। गौरतलब है कि भारत में जल की कमी नहीं है, बल्कि जल प्रबंधन की कमी है, इसलिए जो जल उपलब्ध है उसका वैज्ञानिक विधि से विविध प्रयोग करके कृषि, किसान व आमजन की आवश्यकताओं की पूर्ति की जा सकती है।
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य    
  • 21 जून, 2019 को तेलंगाना के मुख्यमंत्री कल्वावंफ्रुतला चंद्रशेखर राव (Kalvakuntla Chandrashekar Rao) ने महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्रियों की उपस्थिति में ‘कालेश्वरम लिफ्ट सिंचाई परियोजना’ (Kaleshwaram Lift Irrigation Scheme) का उद्घाटन किया।
  • ध्यातव्य है कि गोदावरी नदी पर तैयार इस परियोजना की आधारशिला वर्ष 2016 में रखी गई थी।
  • परियोजना के मुख्य तथ्य
  • भारत की अग्रणी निर्माण कंपनियों में एक Megha Engineering and Infrastructures Limited (MEIL) ने भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (BHEL) के साथ मिलकर इस परियोजना को तैयार किया है।
  • तेलंगाना राज्य के लिए वरदान मानी जाने वाली यह परियोजना 80,000 करोड़ रुपये की लागत से मात्र 3 वर्ष में बनकर तैयार हुई है।
  • इस मेगा प्रोजेक्ट से तेलंगाना का तीन-चौथाई हिस्सा सिंचित क्षेत्र में आने के साथ ही आंध्र प्रदेश तथा महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में भी जल संकट दूर हो सकेगा।
  • इसके साथ ही इस परियोजना से हैदराबाद जैसे शहरों तथा आस-पास के गावों में पेयजल तथा औद्योगिक क्षेत्र के लिए पानी की आपूर्ति की जाएगी।
  • इस परियोजना से तेलंगाना के करीमनगर, निजामाबाद, वारंगल जैसे 13 जिलों के 18,25000 एकड़ कृषि भूमि में सिंचाई सुविधा उपलब्ध की जाएगी।
  • टैंक फिलिंग (Tank filling) और ड्रिंकिंग वाटर (Drinking water) सप्लाई वाले इस प्रोजेक्ट के जरिए ग्रेविटी प्रवाह सिंचाई की जाएगी।
  • इस परियोजना द्वारा गोदावरी नदी का लगभग 4.5 TMC पानी को लिफ्टिंग कर लगभग 14 छोटे सिंचाई टैंकों को भरा जाएगा।
  • इस परियोजना के तहत Meil कंपनी ने विश्व के सबसे बड़े अंडरग्राउंड पंप हाउस (Underground Pum House) का निर्माण किया है।
  • इसके अलावा कालेश्वरम लिफ्ट सिंचाई परियोजना के लिए तीन खुला (Open) पंप हाउस भी तैयार किया गया है।
  • यह ओपन पंप हाउस मेडीगड्डा, अन्नाराम और सनडिल्ला बैराज पर बनाए गए हैं।
  • इसमें से प्रत्येक ओपन पंप गोदावरी नदी से लगभग 160 TMC पानी की लिफ्टिंग करेगा।
  • अन्य महत्वपूर्ण तथ्य
  • विदित है कि अमेरिका की कोलोराडो लिफ्ट योजना तथा मिस्र की मानव निर्मित नदी पर बनी योजना विश्व की सबसे बड़ी लिफ्ट योजना मानी जाती है।
  • इन योजनाओं की क्षमता अश्व शक्ति में है और इन्हें पूरा करने में लगभग तीन दशक का समय लगा है।
  • कालेश्वरम योजना पूर्ण करने वाली कंपनी मेघा इंजीनियरिंग इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (MEIL) ने इससे पूर्व पट्टिसेमा परियोजना को सबसे कम समय में पूर्ण कर रिकॉर्ड बनाया था, जिसके लिए MEIL का नाम ‘‘लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड’’ में दर्ज किया गया था।
  • निष्कर्ष
  • विश्व की सबसे बड़ी लिफ्ट सिंचाई परियोजना कही जाने वाली कालेश्वरम परियोजना न केवल तेलंगाना के लिए बल्कि भारत के लिए आदर्श परियोजना सिद्ध हुई है। इसने जहां एक ओर राज्यों के मध्य मनभेद तथा मतभेद को दूर करके राष्ट्रीय एकीकरण को बढ़ावा दिया है, वहीं दूसरी ओर लंबित परियोजनाओं को पूर्ण करने के लिए प्रेरणा भी प्रदान किया है।

संसुनीत कुमार द्विवेदी