Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

आपदा राहत अभ्यास ‘राहत’

Disaster relief exercise "relief"
  • वर्तमान परिदृश्य
  • 11-12 फरवरी, 2019 के मध्य राजस्थान में संयुक्त मानवीय सहायता और आपदा राहत अभ्यास कार्यक्रम ‘राहत’ का आयोजन किया गया।
  • यह भारतीय रक्षा बलों द्वारा आयोजित इस प्रकार का आठवां अभ्यास है।
  • अभ्यास स्थल
  • दो दिवसीय यह अभ्यास राजस्थान के जयपुर, कोटा एवं अलवर जिलों में संपन्न हुआ।
  • प्रतिभागी
  • अभ्यास राहत भारतीय सेना की ओर से जयपुर स्थित ‘सप्तशक्ति कमान’ द्वारा आयोजित किया गया।
  • इसमें राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर सभी हितधारक शामिल हुए।
  • इस अभ्यास में सैन्य बलों, राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्रतिक्रिया तंत्र (NDMRM- National Disaster Management Response Mechanism), राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (SDMA- State Disaster Management Authority), राजस्थान व डीएलएमए इत्यादि के प्रतिनिधि शामिल हुए।
  • उद्देश्य
  • राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA- National Disaster Management Authority) के सहयोग से इस संयुक्त अभ्यास का आयोजन मानवीय सहायता और आपदा राहत संचालनों हेतु प्रयासों के समन्वय के लिए किया गया, जो प्राकृतिक आपदाओं से होने वाली क्षति को कम करने की सार्थक कोशिश करेगा।
  • लाभ
  • इस प्रकार के आपदा राहत अभ्यास कार्यक्रमों से किसी भी प्राकृतिक आपदा (बाढ़, बादल फटना, भूकंप) के समय सभी सरकारी संस्थानों के आपसी तालमेल के फलस्वरूप शीघ्रता से राहत व बचाव कार्य के जरिए आमजन के जान-माल की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सकती है।
  • अन्य महत्वपूर्ण तथ्य
  • राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की स्थापना वर्ष 2005 में आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 के तहत की गई थी।
  • यह नौ सदस्यों वाली एक वैधानिक संस्था है, जो केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीन कार्य करती है। इसका पदेन अध्यक्ष भारत का प्रधानमंत्री होता है।
  • राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण का प्रमुख कार्य प्राकृतिक या मानव निर्मित आपदा के दौरान समन्वय के साथ शीघ्र अनुक्रिया करना तथा राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरणों के साथ समन्वय, नीति-निर्माण तथा दिशा-निर्देश जारी करना है।