Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

अपाचे हेलीकॉप्टर भारतीय वायु सेना में शामिल

Apache helicopter joins Indian Air Force
  • अपाचे हेलीकॉप्टर (Apache Helicopter)
  • अपाचे, अमेरिका की बोइंग कंपनी द्वारा निर्मित एक बहु-भूमिका वाला हेलीकॉप्टर है।
  • वर्ष 1984 में पहली बार बोइंग कंपनी द्वारा अमेरिकी फौज को अपाचे हेलीकॉप्टर (AH-64A) प्रदान किया गया था।
  • एएच-64 अपाचे दुनिया का सबसे उन्नत बहु-भूमिका वाला हेलीकॉप्टर है, जिसे अमेरिकी सेना व अन्य अंतरराष्ट्रीय रक्षा बलों अर्थात सेनाओं द्वारा उपयोग किया जा रहा है।
  • अपाचे हेलीकॉप्टर की फ्लाइंग रेंज लगभग 550 किलोमीटर है और इसे उड़ाने के लिए दो पायलटों की आवश्यकता होती है।
  • विशेषताए
  • ये हेलीकॉप्टर विभिन्न प्रकार के आधुनिक हथियारों से लैस होते हैं तथा इन्हें इस प्रकार डिजाइन किया गया है कि रडार पर पकड़ना काफी मुश्किल होता है।
  • ये हेलीकॉप्टर मानव रहित हवाई वाहनों (यूएवी-UAV) को नियंत्रित करने में सक्षम हैं।
  • इन हेलीकॉप्टरों के द्वारा पायलट काफी सटीक निशाना लगा सकते हैं, जिससे आम नागरिकों को नुकसान काफी कम होता है। इसके अतिरिक्त ये युद्ध के मैदान के परिदृश्य को प्रसारित करने व प्राप्त करने में सक्षम हैं।
  • इस प्रकार ये हेलीकॉप्टर दुर्गम स्थानों, विपरीत परिस्थितियों व पहाड़ी क्षेत्रों में काफी उपयोगी हैं।
  • भविष्य में ये हेलीकॉप्टर थल सेना के साथ किसी संयुक्त संचालन (Joint Operation) में महत्वपूर्ण बढ़त दिलाने में मदद करेंगे।
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • अमेरिकी एरोस्पेस कंपनी बोइंग द्वारा भारतीय वायु सेना को पहला अपाचे गार्जियन हेलीकॉप्टर 10 मई, 2019 को अमेरिका के मेसा, एरिजोना स्थित उत्पादन प्रतिष्ठान में औपचारिक रूप से प्रदान किया गया।
  • ध्यातव्य है कि वर्ष 2015 में 22 अपाचे हेलीकॉप्टरों के लिए भारत और अमेरिका के मध्य अनुबंध पर हस्ताक्षर किए गए थे।
  • अन्य संबंधित तथ्य
  • बोइंग कंपनी द्वारा एएच-64 ई (आई) {AH-64E(I)} उन्नत संस्करण के अपाचे भारतीय वायु सेना को प्रदान किए जाएंगे, जो भारत की भौगोलिक परिस्थितियों के अनुकूल निर्मित किए जा रहे हैं।
  • जुलाई, 2019 तक इन हेलीकॉप्टरों का पहला खेप भारत को मिल जाएगा।
  • महत्व
  • अपाचे एक बहु-भूमिका वाला हेलीकॉप्टर है। इसलिए भारत की भौगोलिक विविधता में काफी प्रासंगिक है, क्योंकि-
  • भारत में आतंकवादी गतिविधियों को नियंत्रित करने में ऐसे हेलीकॉप्टर काफी उपयोगी सिद्ध हो सकते हैं।
  • भारत में समय-समय पर प्राकृतिक आपदाओं (बाढ़, भूकंप, भूस्खलन) का प्रभाव किसी न किसी क्षेत्र में बना रहता है। अतः ऐसे हेलीकॉप्टर विपरीत मौसम/परिस्थितियों में काफी उपयोगी हैं।
  • ऐसे हेलीकॉप्टरों से भारतीय वायु सेना और सशक्त होगी जिससे वैश्विक प्रभाव में वृद्धि होगी।

संसचिन कुमार वर्मा