Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

अटल समुदाय नवाचार केंद्र

Atal Community Innovation Center
  • वर्तमान परिदृश्य
  • 31 जुलाई, 2019 को नई दिल्ली में केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस तथा इस्पात मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने ‘अटल समुदाय नवाचार केंद्र’ (Atal Community Innovation Centre-ACIC) का शुभारंभ किया। इस कार्यक्रम का लक्ष्य है कि, देश में सामूहिक प्रयास के माध्यम से नवाचार की भावना को प्रोत्साहित करना।
  • अटल समुदाय नवाचार केंद्र (ACIC)
  • भारत में नवाचार को बढ़ावा देने के लिए नीति आयोग की प्रमुख पहल अटल नवाचार मिशन (AIM) के तहत इस कार्यक्रम का प्रारंभ किया गया है।
  • इस कार्यक्रम का उद्देश्य भारत के अल्पविकसित क्षेत्रों में सामुदायिक नवाचार को बढ़ावा देना है।
  • महत्वपूर्ण बिंदु
  • बजट 2019-20 में वर्ष 2025 तक भारतीय अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य रखा गया है। इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए ‘अटल नवाचार मिशन’ तथा ‘अटल समुदाय नवाचार केंद्र’ की महत्वपूर्ण भूमिका होगी।
  • एसीआईसी कार्यक्रम को पंचायतीराज (ग्राम पंचायत) के सभी संस्थानों से संबद्ध करने का लक्ष्य रखा गया, जिससे ग्रामीण स्तर की रचनात्मक उत्पादों एवं सेवाओं का बेहतर प्रबंधन किया जा सके।
  • यह कार्यक्रम विभिन्न समुदायों में उपलब्ध ज्ञान और आधुनिक प्रौद्योगिकी के मध्य एक सेतु का कार्य करेगा।
  • ऐसा अनुमान है कि, भारत अगले 15 वर्षों में जीवाश्म ईंधन का सबसे बड़ा उपभोक्ता होगा तथा वर्तमान समय में भारत प्रतिवर्ष लगभग 6 लाख करोड़ रुपये कच्चे तेल के आयात में खर्च करता है।
  • भारत विभिन्न नवाचार कार्यक्रम के माध्यम से प्रौद्योगिकी में सुधार करके, नवाचार प्रक्रियाओं पर ध्यान देकर वेस्ट टू वेल्थ अर्थात गैर-जीवाश्म और नवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों का उपयोग करके घरेलू ऊर्जा जरूरतों की पूर्ति तथा कच्चे तेल पर भारत की अत्यधिक निर्भरता को कम किया जा सकता है।
  • इस कार्यक्रम के लिए नीति आयोग आकांक्षी जिलों, स्तर-2 और स्तर-3 के शहरों, जम्मू और कश्मीर, पूर्वोत्तर राज्यों के साथ पूरे देश में नवाचार प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराएगा। जिससे इन क्षेत्रों में रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे।
  • गौरतलब है कि वर्ष 2018-19 तक भारत लगभग 600 एमएमटी गैर-जीवाश्म बायोमास का उत्पादन करता है। यदि इस बायोमास को नवाचार (तकनीकी) के द्वारा ऊर्जा में परिवर्तित कर ग्रामीण अर्थव्यवस्था में समृद्धि लाई जा सकती है तथा किसानों को अन्नदाता से ऊर्जादाता के रूप में परिवर्तित किया जा सकता है।
  • एसीआईसी का संचालन (वित्त प्रबंधन) निजी-सार्वजनिक भागीदारी (PPP मॉडल) पद्धति से तथा सार्वजनिक लोक उपक्रमों एवं अन्य अभिकरणों के सहयोग से किया जाएगा।
  • इस कार्यक्रम को अटल नवाचार मिशन के द्वारा अधिकतम 2.5 करोड़ रुपये तक की सहायता प्रदान की जाएगी।
  • कार्यक्रम की विशेषताएं
  • प्रस्तावित क्षेत्रों में ढांचागत संरचना का विकास करना।
  • समाज के विभिन्न महत्वपूर्ण क्षेत्रों में नवाचार के लिए अवसर उत्पन्न करना तथा विभिन्न समुदायों की क्षमता में वृद्धि करना।
  • स्थानीय उद्यमों को उनके उत्पादों, सेवाओं व प्रक्रियाओं के लिए समाधान उपलब्ध कराना तथा इस कार्यक्रम से स्थानीय उद्यमों को जोड़ना।
  • प्रत्येक व्यक्ति को नवाचार के लिए अवसर प्रदान करना।
  • अटल नवाचार/नवप्रवर्तन मिशन
  • अटल नवाचार मिशन, नीति आयोग द्वारा परिकल्पित, भारत सरकार की एक प्रमुख पहल है। जिसका उद्देश्य नवाचार एवं उद्यमिता की संस्कृति को बढ़ावा देना तथा देश में नवाचार पारितंत्र (Innovation Ecosystem) को पर्याप्त बढ़ावा देना एवं उद्यमशीलता की भावना को उत्प्रेरित करना है।