Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

अंतरराष्ट्रीय बौद्धिक संपदा सूचकांक, 2019

International Intellectual Property Index, 2019
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 7 फरवरी, 2019 को यू.एस. चैम्बर ऑफ कॉमर्स (U.S. Chamber of Commerce) के वैश्विक नवाचार नीति केंद्र (Global Innovation Policy Center) द्वारा अंतरराष्ट्रीय बौद्धिक संपदा सूचकांक, 2019 का सातवां संस्करण जारी किया गया।
  • गौरतलब है कि इस सूचकांक में विश्व की 50 अर्थव्यवस्थाओं को शामिल किया गया है, जो वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद (Global GDP) में 90 प्रतिशत का योगदान करती हैं।
  • इस सूचकांक में 45 विभिन्न संकेतकों के आधार पर इन 50 देशों में बौद्धिक संपदा अवसंरचना का मूल्यांकन किया गया है।
  • उल्लेखनीय है कि भारत पिछले सूचकांक (वर्ष 2018) के मुकाबले बेहतर प्रदर्शन करते हुए 44वें स्थान से 8 स्थानों की छलांग लगाकर इस वर्ष के सूचकांक में 36वें स्थान (16.22 अंक) पर पहुंच गया है।
  • सूचकांक जारी करने का उद्देश्य
  • इस सूचकांक को जारी करने का उद्देश्य विभिन्न देशों के नीति-निर्माताओं को एक रोडमैप उपलब्ध कराना है, जिससे वे प्रभावी बौद्धिक संपदा प्रणाली का उपयोग कर बेहतर और मजबूत अर्थव्यवस्था का निर्माण कर सकें।
  • रैंकिंग
  • इस वर्ष के सूचकांक में संयुक्त राज्य अमेरिका पहले (42.66 अंक), यूनाइटेड किंगडम दूसरे (42.22 अंक), स्वीडन तीसरे (41.03 अंक), फ्रांस चौथे (41 अंक) और जर्मनी पांचवें (40.54 अंक) स्थान पर स्थित है।
  • भारत के अतिरिक्त अन्य ब्रिक्स देशों में चीन 25वें, रूस 29वें, ब्राजील 31वें और दक्षिण अफ्रीका 38वें स्थान पर है।
  • सूचकांक में भारत के अतिरिक्त शामिल एकमात्र दक्षिण एशियाई देश पाकिस्तान 47वें (12 अंक) स्थान पर है।
  • एशिया महाद्वीप के अन्य देशों में जापान 8वें, सिंगापुर 10वें, दक्षिण कोरिया 13वें और मलेशिया 24वें स्थान पर है।
  • अन्य महत्वपूर्ण तथ्य
  • गौरतलब है कि यू.एस. चैम्बर ऑफ कॉमर्स दुनिया का सबसे बड़ा व्यापारिक संगठन है, जो 3 मिलियन से अधिक छोटे-बड़े व्यवसायों (Businesses) के हितों का प्रतिनिधित्व करता है।
  • ध्यातव्य है कि पहले अंतरराष्ट्रीय बौद्धिक संपदा सूचकांक का प्रकाशन वर्ष 2012 में हुआ था।