Contact Us: 0532-2465524, 25, M.-9335140296    
E-mail : ssgcpl@gmail.com

UPPSC परीक्षा – सहायक वन संरक्षक तथा क्षेत्रीय वन अधिकारी (प्रा.) परीक्षा, 2017 के त्रुटिपूर्ण प्रश्न

April 24th, 2018

UPPSC परीक्षा – सहायक वन संरक्षक तथा क्षेत्रीय वन अधिकारी (प्रा.) परीक्षा, 2017 के त्रुटिपूर्ण प्रश्न

परीक्षा तिथि – 24/12/2017

विषय – सामान्य अध्ययन – प्रथम प्रश्नपत्र

प्रश्न पुस्तिका सीरीज -C

प्रश्न संख्या – 44

आयोग का उत्तर – (b)

समसामयिक घटना चक्र का उत्तर – A & B

Q.44.सूची-I को सूची-II से सुमेलित कीजिए और सूचियों के नीचे दिए गए कूट का उपयोग करके सही उत्तर चुनिए-

सूची –I   सूची –II
  (स्थान)   (उद्योग)
A.  लॉस एंजेलिस 1 फिल्म उद्योग
B.  बोस्टन 2  सूती वस्त्र
C. फिलाडेल्फिया 3 पोत निर्माण
D. सैन डिएगो 4  प्रिंटिंग एवं प्रकाशन

कूट :

  A B C D
(a) 1 2 3 4
(b) 1 2 4 3
(c) 2 3 1 4
(d) 4 2 3 1

उत्तर-(a & b)
सही सुमेलित हैं-

(स्थान) (उद्योग)
लॉस एंजेलिस फिल्म उद्योग
बोस्टन सूती वस्त्र
फिलाडेल्फिया पोत निर्माण
सैन डिएगो प्रिंटिंग एवं प्रकाशन

नोट – संयुक्त राज्य अमेरिका के फिलाडेल्फिया एवं सैन डिएगो दोनों शहरों में पोत निर्माण एवं प्रिंटिग तथा प्रकाशन उद्योग स्थित हैं।
प्रमाण- लिंक –
http://philadelphiaencyclopedia.org/archive/printing-and-publishing/
http://philadelphiaencyclopedia.org/archive/printing-and-publishing/

 

प्रश्न संख्या – 52

आयोग का उत्तर – (b)

समसामयिक घटना चक्र का उत्तर – (d)

Q.52.उत्तर कोरिया के विरुद्ध सितंबर, 2017 में अनुमोदित नए यू.एन. प्रतिबंधों में निम्नलिखित में से कौन-कौन से शामिल हैं?

  1. उत्तर कोरिया से कच्चे तेल के आयात पर प्रतिबंध
  2. उत्तर कोरिया से वस्त्रों के निर्यात पर प्रतिबंध
  3. उत्तर कोरिया के साथ संयुक्त उपक्रमों पर प्रतिबंध

           उपरोक्त में से सही कथन हैं-
(a) केवल 1 तथा 2
(b) केवल 2 तथा 3
(c) केवल 1 तथा 3
(d) 1, 2 तथा 3
उत्तर-(d)

सितंबर, 2017 में संयुक्त राष्ट्र की संस्था संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा उत्तर कोरिया के खिलाफ नए प्रतिबंधों को पारित किया गया। इसमें उत्तर कोरिया से कच्चे तेल के आयात पर प्रतिबंध, वस्त्रों के निर्यात पर प्रतिबंध तथा उत्तर कोरिया के साथ संयुक्त उपक्रमों पर प्रतिबंध शामिल हैं। यह प्रस्ताव सुरक्षा परिषद में अमेरिका द्वारा पेश किया गया था।

प्रमाण- लिंक –
https://www.un.org/sc/suborg/en/sanctions/1718/resolutions

 

प्रश्न संख्या – 70

आयोग का उत्तर – (d)

समसामयिक घटना चक्र का उत्तर – (*)

Q.70.ऊंट की हड्डियां निम्नलिखित में से किस पुरास्थल से प्रतिवेदित हैं?
(a) मोहनजोदड़ो
(b) हड़प्पा
(c) लोथल
(d) कालीबंगा
उत्तर-(*)

सिंधु घाटी सभ्यता के मोहनजोदड़ो, हड़प्पा, सुरकोटदा, कालीबंगा तथा कानेवाल (Kanewal) पुरास्थलों से ऊंट की हड्डी के साक्ष्य प्राप्त हुए हैं। लोथल पुरास्थल से ऊंट की हड्डी के साक्ष्य प्राप्त नहीं हुए हैं। यदि प्रश्न में यह पूछा जाता कि किस पुरास्थल से ऊंट की हड्डी के साक्ष्य नहीं प्राप्त हुए हैं, तो विकल्प (c) अर्थात लोथल सही होता। परंतु प्रश्नानुसार विकल्प (a), (b) तथा (d) तीनों सही हैं। अतः इसका निश्चित उत्तर नहीं दिया जा सकता है।

प्रमाण- लिंक –
http://shodhganga.inflibnet.ac.in/bitstream/10603/7817/12/12_chapter%205.pdf
https://books.google.co.in/books?id=yklDk6Vv0l4C&pg=PA442&lpg=PA442&dq=did+Camel+bones+are+found+in+INDUS+VALLEY&source=bl&ots=2c8BJrx6qS&sig=Y3Hs-65NEx9cT-mb-6oQCTaHhk8&hl=en&sa=X&ved=0ahUKEwjN9vidg8naAhVHMo8KHcwlASc4ChDoAQheMA0#v=onepage&q=did%20Camel%20bones%20are%20found%20in%20INDUS%20VALLEY&f=false
https://books.google.co.in/books?id=1AJO2A-CbccC&pg=PA131&lpg=PA131&dq=did+Camel+bones+are+found+in+INDUS+VALLEY&source=bl&ots=jciUyvsfL-&sig=Z5JZ8IAnG6lQsaQ2Or3-ps8d0I4&hl=en&sa=X&ved=0ahUKEwjN9vidg8naAhVHMo8KHcwlASc4ChDoAQg2MAM#v=onepage&q=did%20Camel%20bones%20are%20found%20in%20INDUS%20VALLEY&f=false

 

प्रश्न संख्या – 87

आयोग का उत्तर – (b)

समसामयिक घटना चक्र का उत्तर – (*)

Q.87.निम्नलिखित में से किस खाद्य की खेती का आइने-अकबरी में उल्लेख नहीं है?
(a) प्याज
(b) टमाटर
(c) आलू
(d) लहसुन

उत्तर-(*)

आइने-अकबरी में विभिन्न फलों, सब्जियों एवं मसालों का उल्लेख है किंतु टमाटर और आलू का उल्लेख नहीं है।

प्रमाण- लिंक –
http://livelystories.com/2017/06/the-mughals-and-their-food/
https://anotherglobaleater.wordpress.com/tag/ain-i-akbari/
http://www.theheritagelab.in/mughal-recipe-history/
https://www.livemint.com/Leisure/WeqgReVP4p8FPMI13QddnJ/Resurrecting-recipes-Fowl-play-at-Akbars-court.html
https://www.telegraphindia.com/calcutta/akbaras-culinary-gift-to-india-182866
https://selfstudyhistory.com/2016/06/06/agriculture-production-in-mughal-india/
https://schools.aglasem.com/23324
http://www.historydiscussion.net/history-of-india/agriculture-trade-and-technological-development-during-mughal-rule-in-india/2038
http://www.realityviews.in/2014/08/list-of-24-foods-things-which-were.html

 

प्रश्न संख्या – 149

आयोग का उत्तर – (a)

समसामयिक घटना चक्र का उत्तर – (c)

Q.149.पारिस्थितिकी तंत्र के निम्नलिखित में से कौन-सा घटक जैव तथा अजैव जगतों के बीच मध्यस्थ की भूमिका निभाता है?
(a) उत्पादक
(b) उपभोक्ता
(c) वियोजक
(d) आवास क्षेत्र

उत्तर-(c)
उन सभी परिस्थितियों का योग जिनमें कोई जीव अपना जीवन जीता है, पर्यावरण कहलाता है। भूमि, पानी, वायु तथा जीव-जंतु पर्यावरण के चार घटक हैं। भूमि, पानी तथा वायु पर्यावरण के अजैव घटक तथा पौधे एवं जीव-जंतु जैव घटक हैं। पर्यावरण के जैव तथा अजैव घटक परस्पर अंतःक्रिया करते हैं तथा इससे भूतल पर परिवर्तन आते हैं। इन जैव तथा अजैव घटकों के बीच जो मध्यस्थ की भूमिका निभाता है, उसे ‘वियोजक’ (Decomposer) कहते हैं।

प्रमाण- लिंक –
https://books.google.co.in/books?id=E4TTBwAAQBAJ&pg=PA18&lpg=PA18&dq=decomposer+is+in+role+of+mediator+between+abiotic+and+biotic+ecosystem&source=bl&ots=7qdgHOWqGK&sig=6GRauvdi6NxkFqdEckkcS-xjuvg&hl=hi&sa=X&ved=0ahUKEwjPgtrXsMPaAhVCPI8KHVeGACAQ6AEIVTAE#v=onepage&q=decomposer%20is%20in%20role%20of%20mediator%20between%20abiotic%20and%20biotic%20ecosystem&f=false

 

UPPSC परीक्षा – सहायक वन संरक्षक तथा क्षेत्रीय वन अधिकारी (प्रा.) परीक्षा, 2017के त्रुटिपूर्ण प्रश्न

परीक्षा तिथि – 24/12/2017

विषय – सामान्य अध्ययन – द्वितीय प्रश्नपत्र

प्रश्न पुस्तिका सीरीज -A

प्रश्न संख्या – 17

आयोग का उत्तर – (b)

समसामयिक घटना चक्र का उत्तर – (a)

Q.17.निम्नलिखित में से कौन-सा निश्चयवाचक सर्वनाम का उदाहरण है?
(a) वे आप ही भोजन कर लेंगे।
(b) यह किसका पराक्रमी बालक है? (शकुन्तला)
(c) यह कौन है? जो मेरे अंचल को नहीं छोड़ता। (शकुन्तला)
(d) है रे कोई यहां? (शकुन्तला)

उत्तर-(a)
जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग किसी निश्चित व्यक्ति, वस्तु या स्थान के बदले में किया जाता है, उन्हें निश्चयवाचक सर्वनाम कहते हैं। जैसे- यह, वह, ये, वे इसे, उसे आदि। अतः विकल्प (a) निश्चयवाचक सर्वनाम का उदाहरण है। अन्य सभी विकल्पों में प्रश्नवाचक सर्वनाम हैं।

प्रमाण- लिंक –
https://books.google.co.in/books?id=V91xDxrikhkC&pg=PA98&lpg=PA98&dq=%E0%A4%A8%E0%A4%BF%E0%A4%B6%E0%A5%8D%E0%A4%9A%E0%A4%AF%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%9A%E0%A4%95+%E0%A4%B8%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%B5%E0%A4%A8%E0%A4%BE%E0%A4%AE&source=bl&ots=nWbCpKB9_A&sig=sMSIO8dAXRzyOusNEcNhpMQQcxs&hl=en&sa=X&ved=0ahUKEwithO3JtsPaAhXSneAKHSBwD2A4PBDoAQg-MAM#v=onepage&q=%E0%A4%A8%E0%A4%BF%E0%A4%B6%E0%A5%8D%E0%A4%9A%E0%A4%AF%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%9A%E0%A4%95%20%E0%A4%B8%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%B5%E0%A4%A8%E0%A4%BE%E0%A4%AE&f=false

 

प्रश्न संख्या – 24

आयोग का उत्तर – (d)

समसामयिक घटना चक्र का उत्तर – (*)

Q.24.इनमें से एक शब्द विदेशी भाषा का नहीं है-
(a) अंगूर
(b) अंजीर
(c) अनार
(d) अमरूद

उत्तर-(*)
अंगूर, अंजीर तथा अनार शब्द फारसी भाषा के हैं। अमरूद भी विदेशी भाषा का शब्द है।

प्रमाण- लिंक –
https://books.google.co.in/books?id=_mkvDAAAQBAJ&pg=PA31&lpg=PA31&dq=%E0%A4%85%E0%A4%AE%E0%A4%B0%E0%A5%82%E0%A4%A6+%E0%A4%B5%E0%A4%BF%E0%A4%A6%E0%A5%87%E0%A4%B6%E0%A5%80+%E0%A4%AD%E0%A4%BE%E0%A4%B7%E0%A4%BE+%E0%A4%95%E0%A4%BE+%E0%A4%B6%E0%A4%AC%E0%A5%8D%E0%A4%A6&source=bl&ots=cFBn47NcsC&sig=ljT7bfDebTXfws9ekR_5d0OpSzI&hl=en&sa=X&ved=0ahUKEwjgiZqussPaAhWKUt8KHQRCC00Q6AEINjAB#v=onepage&q=%E0%A4%85%E0%A4%AE%E0%A4%B0%E0%A5%82%E0%A4%A6%20%E0%A4%B5%E0%A4%BF%E0%A4%A6%E0%A5%87%E0%A4%B6%E0%A5%80%20%E0%A4%AD%E0%A4%BE%E0%A4%B7%E0%A4%BE%20%E0%A4%95%E0%A4%BE%20%E0%A4%B6%E0%A4%AC%E0%A5%8D%E0%A4%A6&f=false

 

प्रश्न संख्या – 30

आयोग का उत्तर – (d)

समसामयिक घटना चक्र का उत्तर – (a)

Q.30.‘विस्मयबोधक’ चिह्न का प्रयोग कब होता है?
(a) प्रश्न करने पर।
(b) बोलने में जहां थोड़ा ठहराव हो।
(c) भाव व्यक्त करने पर।
(d) उपर्युक्त में से कोई नहीं।

 

उत्तर-(c)
विस्मयबोधक (विस्मययादिबोधक) चिह्न का प्रयोग हर्ष, विषाद, विस्मय, आश्चर्य, करुणा, भय इत्यादि भाव व्यक्त करने के लिए निम्नलिखित स्थितियों में होता है-

  1. आह्लादसूचक शब्दों, पदों और वाक्यों के अंत में,
  2. अपने से बड़ों को सादर संबोधित करने में,
  3. अपने से छोटों के प्रति शुभकामनाएं और सद्भावनाएं प्रकट करने में और
  4. जहां मन की हंसी-खुशी व्यक्त की जाए।

प्रमाण- लिंक –

 

पुस्तक – आधुनिक हिंदी व्याकरण और रचना

लेखक – डॉ. वासुदेवनंदन प्रसाद

संस्करण- 23वां, 1993 (पुनः मुद्रण 2011)

पृष्ठ संख्या – 65

  • 41
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    41
    Shares
  •  
    41
    Shares
  • 41
  •  
  •  
  •  
  •  
  •