Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

46वां आईएचजीएफ (IHGF) दिल्ली मेला

Indian Handicrafts and Gifts Fair
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 14 अक्टूबर, 2018 को केंद्रीय वस्त्र राज्य मंत्री अजय टमटा ने इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट, ग्रेटर नोएडा में विश्व के सबसे बड़े 46वें आईएचजीएफ दिल्ली मेला (Indian Handicrafts and Gifts Fair – IHGF) का शुभारंभ किया।
  • आयोजनकर्ता
  • इस मेले का आयोजन हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद (Export Promotion Council for Handicrafts) द्वारा किया गया।
  • आयोजन-अवधि
  • इस मेले का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाता है- वसंत और शरद ऋतु संस्करण (Spring and Autumn Edition)।
  • उद्देश्य
  • इस मेले का उद्देश्य देश में हस्तशिल्प के निर्यात को बढ़ावा देना और हस्तशिल्प के क्षेत्र में विशेष महत्व हासिल करना है।
  • महत्वपूर्ण तथ्य
  • इस मेले में 110 से अधिक देशों से 3200 से अधिक प्रदर्शकों ने भाग लिया और विदेशी खरीददरों ने भी यहां आकर भारतीय हथकरघा उत्पादों में अपनी रुचि दिखाई।
  • इस मेले में घरेलू वस्त्र, सामान, कालीन, सजावट, टेबलवेयर, फर्नीचर, बगीचे और आउटडोर, बाथरूम सहायक उपकरण, दीपक और प्रकाश व्यवस्था, क्रिसमस और उत्सव सजावट, हस्तनिर्मित कागज के सामान, फैशन आभूषण जैसे हस्तशिल्प उत्पादों की प्रदर्शनी और बिक्री की गई।
  • इस अवसर पर उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय ने बेस्ट डिजाइन व डिस्प्ले स्टैंड के लिए अजय शंकर मेमोरियल अवॉर्ड वितरित किए गए।
  • हस्तशिल्प के लिए निर्यात संवर्धन परिषद (EPCH)
  • ईपीसीएच देश के हस्तशिल्प के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए हस्तशिल्प निर्यातकों का एक शीर्ष निकाय है।
  • यह हस्तशिल्प के निर्यात को बढ़ावा देता है, समर्थन करता है, सुरक्षा करता है और बनाए रखता है।
  • ईपीसीएच वर्ष 1986-87 में कंपनी अधिनियम के तहत एक गैर-लाभकारी संगठन के रूप में स्थापित किया गया था।
  • यह भारत से हस्तशिल्प के प्रचार में जुड़ी हुई है और उच्च गुणवत्ता वाले विश्वसनीय सप्लायर के रूप में विदेशों में भारत की छवि पेश की है।
  • 47वां आईएचजीएफ दिल्ली मेला 18-22 फरवरी, 2019 के मध्य आयोजित किया जाएगा।

लेखक-सुधांशु पाण्डेय