Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

स्लिनेक्स- 18 : भारत-श्रीलंका नौसैन्य अभ्यास

SLEINEX-18: India-Sri Lanka Naval Exercise

भारत और श्रीलंका के मध्य द्विपक्षीय समुद्री नौसैन्य अभ्यास की शुरुआत वर्ष 2005 से हुई एवं वर्ष 2018 से पूर्व 2 सफल अभ्यास आयोजित किए जा चुके हैं। स्लिनेक्स अभ्यास का उद्देश्य दोनों देशों की नौसेनाओं के मध्य आपसी समझ एवं सहयोग को बढ़ावा, पारस्परिकता में वृद्धि करना एवं एक-दूसरे की नौसैन्य प्रक्रियाओं को समझना है। इसी दिशा में अग्रसर होते हुए स्लिनेक्स, 2018 नौसैन्य अभ्यास आयोजित किया गया। यह अभ्यास न केवल दोनों पड़ोसी देश की सेनाओं के बंधन को मजबूत करेगा बल्कि दोनों देशों के समुद्री क्षेत्र में समुद्री सुरक्षा भी प्रदान करेगा।

  • वर्तमान संदर्भ
  • भारत और श्रीलंका के मध्य द्विपक्षीय नैसेना अभ्यास का छठा संस्करण स्लिनेक्स, 2018 (SLINEX -2018) का आयोजन 7 से 13 सितंबर, 2018 तक श्रीलंका के त्रिंकोमाली तट एवं बंगाल की खाड़ी में किया गया।
  • संबंधित तथ्य
  • इस अभ्यास के उद्घाटन समारोह का आयोजन श्रीलंका के नौसेना पोत एसएलएनएस (SLNS) सयूराला पर किया गया।




  • यह अभ्यास दो चरणों में संपन्न हुआ। 7 से 10 सितंबर, 2018 तक श्रीलंका के त्रिंकोमाली में बंदरगाह चरण संपन्न हुआ, जबकि 11 से 13 सितंबर, 2018 तक त्रिंकोमाली से दूर बंगाल की खाड़ी में ‘सागर चरण’ संपन्न हुआ।
  • बंदरगाह चरण में दोनों नौसेना के प्रतिभागियों ने समुद्री खोज व बचाव कार्य, खेल एवं सांस्कृतिक गतिविधियों में भाग लिया। वहीं सागर चरण में दोनों नौसेनाओं ने गोलाबारी, संचार प्रक्रिया, नाविक कला के साथ-साथ नौवहन विकास और हेलीकॉप्टर ऑपरेशन का अभ्यास किया।




  • इस अभ्यास में भारत की ओर से नौसेना पोत किर्च (Kirch) सुमित्रा और कोरादीद (Cora Divh) के साथ-साथ एक हेलीकॉप्टर और दो समुद्री गश्ती हवाई जहाज ने भाग लिया।
  • श्रीलंका की ओर से एसएलएन (SLN) पोत ‘सयूराला’, ‘समुद्र’ और ‘सुरानीमाला’ ने हिस्सा लिया।
  • लेखक-ललिन्द्र कुमार