Contact Us: 0532-2465524, 25, M.-9335140296    
E-mail : [email protected]

शंघाई सहयोग संगठन की 16वीं बैठक

January 11th, 2018
16th meeting of the SCO

‘शंघाई सहयोग संगठन’ (SCO) एक स्थायी अंतर्सरकारी अंतरराष्ट्रीय संगठन है। 15 जून, 2001 को शंघाई सहयोग संगठन के स्थापना की घोषणा की गई थी। इसके सदस्यो में कजाख्स्तान, चीन, किर्गिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान एवं उज्बेकिस्तान शामिल हैं। 8-9 जून, 2017 के मध्य अस्ताना मे आयोजित शंघाई सहयोग संगठन की राज्य परिषद के प्रमुखों की बैठक में भारत एवं पाकिस्तान को संगठन के पूर्ण सदस्य का दर्जा प्रदान किया गया। हाल ही में शंघाई सहयोग संगठन के सरकार परिषद के प्रमुखों की बैठक आयोजित हुई।

  • 30 नवंबर से 1 दिसंबर, 2017 के मध्य सोची (Sochi), रूस में ‘शंघाई सहयोग संगठन के सरकार परिषद के प्रमुखों की 16वीं बैठक’ संपन्न हुई।
  • बैठक में भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, कजाख्स्तान के प्रधानमंत्री बकित्जान सगिन्तायेव, चीन के प्रधानमंत्री ली केकियांग, किर्गिस्तान के प्रधानमंत्री सपर इसाकोव, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी, रूस के प्रधानमंत्री दमित्रि मेदवेदेव, ताजिकिस्तान के प्रधानमंत्री कोखिर रसुलजोदा और उज्बेकिस्तान के प्रधानमंत्री अब्दुल्ला एरिपोवा शामिल हुए।
  • बैठक की अध्यक्षता रूस के प्रधानमंत्री दमित्रि मेदवेदेव द्वारा की गई।
  • बैठक में शंघाई सहयोग संगठन के पर्यवेक्षक राज्यों के प्रतिनिधियों में अफगानिस्तान के मुख्य कार्यकारी अब्दुल्ला अब्दुल्लाह, बेलारूस के प्रधानमंत्री आंद्रेई कोब्याकोव, ईरान के प्रथम उप- राष्ट्रपति इशाक जहांगीर, मंगोलिया के उपप्रधानमंत्री इंख्तुवशीन उल्जीसाइखिन आदि शामिल हुए।
  • बैठक में एससीओ क्षेत्र एवं विश्व में मौजूदा आर्थिक स्थितियों और शंघाई सहयोग संगठन में आर्थिक तथा मानवीय सहयोग मुद्दों पर चर्चा की गई।
  • बैठक में 9 जून, 2017 को अस्ताना में सरकार परिषद के एससीओ प्रमुखों की बैठक के परिणामों की पुष्टि की गई।
  • साथ ही वर्ष 2017-18 में शंघाई सहयोग संगठन की चीन की अध्यक्षता का समर्थन किया गया।
  • 15 अक्टूबर, 2017 को किर्गिस्तान में राष्ट्रपतीय चुनाव के सफल परिणाम का स्वागत किया गया।
  • बैठक में विश्व अर्थव्यवस्था में सुधार को बढ़ाने, आर्थिक एवं वित्तीय स्थिरता सुनिश्चित करने और पोषणीय, गतिशील, संतुलित तथा समावेशी विकास के लिए गहन अंतरराष्ट्रीय सहयोग के महत्व को रेखांकित किया गया।
  • सदस्य राज्यों के विकास को प्रभावित करने वाले उभरते वैश्विक आर्थिक मुद्दों के समाधान में सशक्त कार्रवाई के महत्व पर बल दिया गया।
  • कोटा (QUOTA) समझौतों से संबंधित जी-20 के प्रयासों और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष प्रबंधन सुधार के लिए समर्थन व्यक्त किया गया।
  • कजाख्स्तान, किर्गीजस्तान, पाकिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान एवं उज्बेकिस्तान ने चीन की ‘वन बेल्ट, वन रोड’ पहल के लिए अपने समर्थन की पुष्टि की।
  • संयुक्त राष्ट्र के तत्वावधान में 2018 में अंतरराष्ट्रीय कार्रवाई दशक ‘पोषणीय विकास हेतु जल, 2018-28’ के कार्यान्वयन हेतु एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित करने की ताजिकिस्तान की पहल का स्वागत किया गया।
  • नवंबर, 2018 में शंघाई में ‘चीन अंतरराष्ट्रीय आयात एवं निर्यात’ के आयोजन की चीन के विचार का स्वागत किया गया।
  • 15 नवंबर, 2017 को मॉस्को में आयोजित एससीओ सदस्य राज्यों के विदेश व्यापार एवं अर्थव्यवस्था मंत्रियों की 16वीं बैठक के परिणामों को मंजूरी दी गई।
  • वर्ष 2017-2021 के लिए एससीओ इंटरबैंक कंसोर्टियम की अग्रिम विकास रणनीति के स्वीकरण की पुष्टि की गई।
  • वर्ष 2018 में तीसरे ‘विश्व नोमाड खेल’ के आयोजन के किर्गीजस्तान के विचार का स्वागत किया गया।
  • सरकार के प्रमुखों की शंघाई सहयोग परिषद की आगामी बैठक वर्ष 2018 में ताजिकिस्तान में आयोजित की जाएगी।

लेखक-नीरज ओझा

  • 56
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    56
    Shares
  •  
    56
    Shares
  • 56
  •  
  •  
  •  
  •  
  •