Contact Us: 0532-2465524, 25, M.-9335140296    
E-mail : ssgcpl@gmail.com

लेगाटम विश्व समृद्धि सूचकांक, 2017

January 31st, 2018
Legatum World Prosperity Index, 2017

समृद्धि (Prosperity) कल्याण का बहुआयामी और समष्टिगत मापक है जो किसी राष्ट्र के लोगों की आय, उत्पादन, उपभोग, बचत, निवेश और स्वास्थ्य जैसे चरों में उत्थान को प्रदर्शित कर जीवन स्तर में सुधार को सूचित करता है। इस संदर्भ में विश्व के विभिन्न देशों में समृद्धि के स्तरों की तुलना हेतु एक अंतरराष्ट्रीय गैर-सरकारी संगठन ‘लेगाटम इंस्टीट्यूट’ द्वारा प्रतिवर्ष ‘लेगाटम समृद्धि सूचकांक’ (Legatum Prosperity Index) जारी किया जाता है। उल्लेखनीय है कि लेगाटम इंस्टीट्यूट लंदन स्थित लेगाटम कंपनी समूह के अंतर्गत एक स्वतंत्र संगठन है जो वैश्विक समृद्धि एवं मानव स्वतंत्रता के विस्तार को बढ़ावा देता है।

  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 29 नवंबर, 2017 को लेगाटम इंस्टीट्यूट द्वारा ‘लेगाटम विश्व समृद्धि सूचकांक, 2017’ जारी किया गया।
  • यह इस सूचकांक का 11वां संस्करण है।
  • सूचकांक का आधार
  • विश्व समृद्धि सूचकांक 104 संकेतकों पर आधारित है और इसमें 149 देशों को रैंक प्रदान की गई है।
  • इन 104 संकेतकों को समृद्धि के 9 स्तंभों के अंतर्गत व्यवस्थित किया गया है।
  • ये 9 स्तंभ हैः- आर्थिक गुणवत्ता, व्यवसाय परिवेश, प्रशासन, व्यक्तिगत स्वतंत्रता, सामाजिक पूंजी, सुरक्षा एवं संरक्षा, शिक्षा, स्वास्थ्य और प्राकृतिक परिवेश।
  • रैंकिंग
  • वर्ष 2017 के विश्व समृद्धि सूचकांक में नॉर्वे को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है।
  • सूचकांक में न्यूजीलैंड द्वितीय स्थान पर है।
  • उल्लेखनीय है कि वर्ष 2016 में न्यूजीलैंड प्रथम जबकि नॉर्वे द्वितीय स्थान पर था।
  • सूचकांक में शीर्ष पांच देशों में शामिल अन्य देश फिनलैंड (तीसरा स्थान), स्विटजरलैंड (चौथा स्थान) एवं स्वीडन (पांचवां स्थान) हैं।
  • इस सूचकांक में निचले पांच स्थान प्राप्त करने वाले देश क्रमशः यमन (149वां स्थान), मध्य अफ्रीकी गणराज्य (148वां स्थान), सूडान (147वां स्थान), अफगानिस्तान (146वां स्थान) तथा चाड (145वां स्थान) हैं।
  • रिपोर्ट में भारत
  • लेगाटम समृद्धि सूचकंाक, 2017 में भारत 100वें स्थान पर है जबकि वर्ष 2016 में यह 104वें स्थान पर था।
  • भारत ने आर्थिक गुणवत्ता तथा शिक्षा जैसे स्तंभों में उल्लेखनीय सुधार किया है।
  • अन्य महत्वपूर्ण तथ्य
  • सूचकांक के अनुसार, वर्ष 2017 में पश्चिमी यूरोप विश्व का सर्वाधिक समृद्ध क्षेत्र था।
  • वर्ष 2017 के सूचकांक में शीर्ष 10 स्थानों पर 7 पश्चिमी यूरोपीय देश काबिज थे।
  • वर्ष 2017 में एशिया-प्रशांत विश्व का पांचवां सर्वाधिक समृद्ध क्षेत्र था।
  • वर्ष 2017 में विश्व में समृद्धि के स्तर में वृद्धि दर्ज की गई।
  • वर्ष 2007 की तुलना में वर्तमान में समृद्धि 2.6 प्रतिशत अधिक है।
  • वर्ष 2017 में समृद्धि में वृद्धि की दर एशिया-प्रशांत में सर्वाधिक रही।
  • लेगाटम इंस्टीट्यूट
  • विश्व के विभिन्न देशों में समृद्धि के स्तरों की तुलना हेतु ‘लेगाटम इंस्टीट्यूट’ द्वारा प्रतिवर्ष ‘लेगाटम समृद्धि सूचकांक’ (Legatum Prosperity Index) जारी किया जाता है।
  • उल्लेखनीय है कि लेगाटम इंस्टीट्यूट लंदन स्थित लेगाटम कंपनी समूह के अंतर्गत एक स्वतंत्र गैर-सरकारी संगठन है जो वैश्विक समृद्धि एवं मानव स्वतंत्रता के विस्तार को बढ़ावा देता है।

लेखक-सौरभ मेहरोत्रा

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •