Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

मासिक पत्रिका फरवरी-मार्च,2018 पी.डी.एफ. डाउनलोड

2018 का बजट चुनाव वर्ष 2019 से पूर्व वर्ष का बजट है तथा गुजरात चुनाव के बाद का बजट है। इसमें गुजरात चुनावों से प्राप्त संदेश के साथ-साथ आने वाले चुनाव की फिक्र भी निहित है। इस वर्ष के बजट के लिए आर्थिक अनिवार्यताएं बिल्कुल साफ थीं। कृषि क्षेत्र को बदहाली से उबारने, पैदावार बढ़ाने, रोजगार सृजन एवं स्वास्थ्य और शिक्षा जैसे सामाजिक क्षेत्र में त्वरित सुधार की प्रबल जरूरत थी। वर्ष 2018-19 के बजट में कृषि उपज के न्यूनतम समर्थन मूल्य में 50 प्रतिशत वृद्धि, कृषि कर्ज की मद में 1.0 लाख करोड़ रु. का इजाफा, आलू,टमाटर और प्याज जैसी सब्जियों की कीमतों में उतार-चढ़ाव रोकने के लिए ऑपरेशन ग्रीन, मत्स्यपालन और पशुपालन के लिए 10,000 करोड़ रु. की बड़ी घोषणाएं की गई हैं। इसी बजट में विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना ‘आयुष्मान भारत’ के शुरुआत की भी घोषणा की गई है। घोषणाओं के साथ ही इनके प्रतिफल पर आशंकाएं भी उभरी हैं। न्यूनतम समर्थन मूल्य के निर्धारण हेतु गणना की दो विधियों को लेकर मतभेद है।

ए 2+एफएल विधि से गणना में फसल उगाने में लगी वास्तविक लागत और उसमें अशोधित पारिवारिक श्रम का मूल्य शामिल किया जाता है, जबकि दूसरी सी 2 विधि में भूमि, किराया और उत्पादन की देख-रेख तथा प्रबंधन की लागत शामिल होती है। किसान संगठनों के अनुसार, सरकार ए 2+ एफएल विधि को लेकर चल रही है, जिससे किसानों को ज्यादा फायदा नहीं मिलने वाला है। एक आशंका यह भी जताई जा रही है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य प्रत्येक फसल के लिए न होने के कारण पंजाब जैसे राज्यों की फसल विविधता पर बुरा असर डालेगी। स्वास्थ्य योजना ‘आयुष्मान भारत’ के प्रति आशंका इसके लिए निर्धारित बजट को लेकर जताई जा रही है। वर्ष 2018-19 के बजट में मात्र 2,000 करोड़ रु. इसके लिए आवंटित किया गया है, जबकि नीति आयोग का अपना अनुमान वार्षिक 12,000 करोड़ रु. तथा बीमा कंपनियों का अंदाजा वार्षिक 50,000 करोड़ रु. व्यय का है। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा, ‘‘मुझे फिक्र इस बात की है कि राजकोषीय गणित में गड़बड़ी है।’’ इसी प्रकार की आशंकाएं ऑपरेशन ग्रीन जैसी योजनाओं के प्रति भी जताई जा रही है। योजनाओं की सफलता तो समय के साथ ही तय होगी, लेकिन इतना तय है कि आज स्कीमों की नहीं, बल्कि स्कीमों की चुस्त डिलीवरी की जरूरत है। इस अंक में बजट के समग्र विश्लेषण के साथ आवरण आलेख प्रस्तुत किया गया है।




बिटकॉइन’ विश्व की पहली आभासी मुद्रा थी, किंतु इसकी संख्या तथा प्रचलन के क्षेत्र का विस्तार होता ही जा रहा है। भारी जोखिम के बावजूद ये आभासी मुद्राएं खासी लोकप्रिय हो चली हैं। आमजन को भी इनकी जानकारी अवश्य ही रखनी चाहिए। इस अंक में आभासी मुद्राओं पर सामायिक आलेख प्रस्तुत किया गया है।

यूनेस्को ने ‘कुंभ मेला’ को अमूर्त सांस्कृतिक विरासत की सूची में शामिल किया है। कुंभ मेला यूं तो नदियों के तट पर आयोजित महापर्व है, किंतु इसमें शामिल होने के लिए जिस प्रकार जन-सैलाब उमड़ता है, उस पर यह कहना कतई अतिशयोक्ति नहीं है कि जनरूपी ‘समुद्र’ स्वयं ‘नदी’ से मिलन के लिए समुपस्थित हुआ है। ‘‘कुंभ मेला : अमूर्त सांस्कृतिक विरासत’’ सामयिक आलेख इस अंक में प्रस्तुत किया गया है।




current-Affiars-feb-mar2018.pdf (10857 downloads)




अक्टूबर, 1917 की महान बोल्शेविक क्रांति केवल रूसी क्रांति नहीं थी। यह सार्वभौमिक मानव इतिहास की एक ऐतिहासिक और परिवर्तनकारी परिघटना थी। बोल्शेविक क्रांति के सौ वर्ष पर सामयिक आलेख इस अंक में इस उद्देश्य से प्रस्तुत किया गया है कि पाठक यह समझ सकें कि क्रांतियां कैसे एक नई दुनिया के निर्माण में सहायक होती हैं।

वस्तुतः यह सामयिक आलेखों का अंक ही है। इस अंक में निर्वाचन बॉण्ड योजना, इसरो : सफलताओं का शतक, आर्थिक समीक्षा एवं येरूशलम : हरण-ग्रहण जैसे परीक्षोपयोगी आलेख प्रस्तुत किए गए हैं।

इस अंक के साथ अतिरिक्तांक के रूप में ‘विश्व का भूगोल’ विषय पर सामग्री निःशुल्क प्रदान की गई है। उम्मीद है यह अंक पाठकों को पसंद आएगा।

Magazine-Feb-2018.pdf (64891 downloads)

6 thoughts on “मासिक पत्रिका फरवरी-मार्च,2018 पी.डी.एफ. डाउनलोड”

    1. घटना चक्र मासिक पत्रिका की निःशुल्क एवं निर्बाध PDF उपलब्धता हमारी वेबसाइट पर रजिस्टर्ड सदस्यों के लिए है। कृपया वेबसाइट पर लॉगिन करने के पश्चात डाउनलोड लिंक पर क्लिक करें। पाठकों के अनुरोध पर PDF फिलहाल रजिस्टर्ड और नॉन रजिस्टर्ड दोनों ही सदस्यों के लिए उपलब्ध करायी जा रही है। पाठकों से हमारा अनुरोध है कि वह लॉगिन कर के डाउनलोड करें। नॉन रजिस्टर्ड सदस्यों के लिए यह सेवा सीमित अवधि के लिए ही उपलब्ध रहेगी।

  1. आदरणीय महोदय/महोदया,
    मासिक पत्रिका फरवरी-मार्च, 2018 की पी0डी0एफ0 फ़ाइल डाउनलोड नही हो रही है। कृपया डाउनलोड के लिए कुछ सुझाव दीजिये।

    1. घटना चक्र मासिक पत्रिका की निःशुल्क एवं निर्बाध PDF उपलब्धता हमारी वेबसाइट पर रजिस्टर्ड सदस्यों के लिए है। कृपया वेबसाइट पर लॉगिन करने के पश्चात डाउनलोड लिंक पर क्लिक करें। पाठकों के अनुरोध पर PDF फिलहाल रजिस्टर्ड और नॉन रजिस्टर्ड दोनों ही सदस्यों के लिए उपलब्ध करायी जा रही है। पाठकों से हमारा अनुरोध है कि वह लॉगिन कर के डाउनलोड करें। नॉन रजिस्टर्ड सदस्यों के लिए यह सेवा सीमित अवधि के लिए ही उपलब्ध रहेगी।

  2. It is very helpful for all state exams…thanks team Ghatna Chakra….plz support us to achieve our aim…

Comments are closed.