सम-सामयिक घटना चक्र | Railway Solved Paper Books | SSC Constable Solved Paper Books | Civil Services Solved Paper Books
Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

मासिक पत्रिका अक्टूबर-नवम्बर,2018 पी.डी.एफ. डाउनलोड

magazine-october-november 2018

व्यवसाय सुगमता या इज ऑफ डूइंग बिजनेस की रैंकिंग में भारत ने विगत 2 वर्षों में 53 स्थान की छलांग लगाकर 77वां स्थान (130 से 100 से 77) हासिल कर लिया है। इसमें कतई संदेह नहीं है कि व्यवसाय सुगमता के मानकों पर तीव्र सुधार की उपलब्धि हासिल हुई है, किंतु एक सत्य यह भी है कि ये सुधार केवल दिल्ली एवं मुंबई के आधार पर प्रदर्शित हैं। दरअसल रैंकिंग इन्हीं दो शहरों में व्यापार सुगमता की स्थिति पर आधारित है। इस रैंकिंग से पूरे भारत की स्थिति का अंदाजा लगा पाना मुश्किल है क्योंकि कुछ ऐसे भी राज्य हैं, जहां व्यापार सुगमता दिल्ली से भी बेहतर हो सकती है तो अनेक ऐसे राज्य हैं जहां स्थिति बेहद खराब है। यदि भारत में वास्तविक व्यापार सुगमता के माहौल की सर्जना करना है तो राज्यों की ओर ध्यान अपेक्षित है। केंद्र सरकार के वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के अधीन औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग ने व्यापार सुधार कार्य योजना, 2017-18 (Business Reforms Action Plan, 2017-18) के मानकों पर राज्यों की व्यापार सुगमता रैंकिंग 10 जुलाई, 2018 को प्रदर्शित की है। इसे विश्व बैंक एवं औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग ने तैयार किया है। इस रैंकिंग के अनुसार, 98.30 प्रतिशत स्कोर के साथ आंध्र प्रदेश शीर्ष स्थान पर है। 98.28 प्रतिशत स्कोर के साथ तेलंगाना दूसरे स्थान पर है। हरियाणा, झारखंड एवं गुजरात का क्रमशः तीसरा, चौथा एवं 5वां स्थान है। 0 प्रतिशत स्कोर के साथ अरुणाचल प्रदेश, लक्षद्वीप एवं मेघालय अंतिम स्थान पर हैं। 84.52 प्रतिशत स्कोर के साथ उत्तर प्रदेश का स्थान 14वां है। राज्यों की रैंकिंग निर्मित होने का फायदा यह है कि इससे राज्यों के मध्य प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी और पूरे देश में व्यापार सुगमता का माहौल निर्मित होगा। विश्व बैंक समूह द्वारा जारी इज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग इस अंक के आवरण आलेख का विषय है।

Current-Affairs-Oct-Nov-2018.pdf (1668 downloads)

इंडोनेशिया में आयोजित 18वें एशियाई खेलों में भारत की अब तक की सर्वश्रेष्ठ स्थिति कहा जाए तो अतिश्योक्ति न होगी। पदक तालिका में भले ही यह अपने सर्वश्रेष्ठ (1951 में द्वितीय) से काफी नीचे 8वें स्थान पर हो, किंतु स्वर्ण पदकों की दृष्टि से भारत ने 67 वर्ष के अपने पुराने रिकॉर्ड (15) की बराबरी की है और कुल पदकों (69 पदक) की दृष्टि से यह एशियाई खेलों के भारतीय इतिहास का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। इससे पहले भारत ने साल 2010 में चीन के ग्वांगझू में हुए एशियाई खेलों में 65 पदक हासिल कर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया था। 18वें एशियाई खेलों के सफर का वर्णन इस हेतु प्रस्तुत सामयिक आलेख में किया गया है।





सबरीमाला श्रीधर्मस्थ मंदिर केरल के पत्तनम्तिट्टा जिले में समुद्रतल से 3000 फीट की ऊंचाई पर एक पहाड़ी पर अवस्थित है। मंदिर पेरियार टाइगर रिजर्व क्षेत्र में पहाड़ियों एवं घने वनों से आवृत्त है। वर्ष 1991 में केरल उच्च न्यायालय ने परंपराओं एवं मान्यताओं के आधार पर 10 वर्ष से अधिक एवं 50 वर्ष से कम आयु वर्ग की महिलाओं को मंदिर-प्रवेश से प्रतिबंधित किया था। अब 28 सितंबर, 2018 को दिए गए निर्णय में सर्वोच्च न्यायालय ने इस प्रतिबंध को असंवैधानिक एवं विभेदकारी मानते हुए सभी आयु वर्ग की महिलाओं के मंदिर-प्रवेश का अधिकार बहाल कर दिया है। सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय का भारी विरोध हुआ है, जिसके कारण अभी तक वर्जित आयु वर्ग की एक भी महिला को भगवान अयप्पा का दर्शन सुलभ नहीं हो सका है। सबरीमाला प्रकरण के आलोक में महिला सशक्तीकरण की पड़ताल करता सामयिक आलेख इस अंक में प्रस्तुत किया जा रहा है।




हमारे चिरस्थायी मित्र रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की भारत यात्रा 4-5 अक्टूबर, 2018 को संपन्न हुई है। संबंधित आलेख भी इस अंक में प्रस्तुत है। इसके अतिरिक्त मानव विकास सूचकांक, 2018 पर भी एक सामयिक आलेख प्रस्तुत किया गया है।

इस अंक के साथ उ.प्र. पी.सी.एस. प्रारंभिक परीक्षा, 2018 सामान्य अध्ययन प्रश्न-पत्र का व्याख्यात्मक हल भी प्रस्तुत किया जा रहा है। सम-सामयिक घटना चक्र द्वारा अपनी वेबसाइट पर प्रारंभिक उत्तर-पत्रक प्रस्तुत किया गया था, जिसके कुछ एक उत्तरों में बदलाव हुए हैं। परीक्षार्थी इस नए उत्तर-पत्रक से मिलान कर अपना वास्तविक मूल्यांकन कर सकते हैं।

पत्रिका के सभी स्थाई स्तंभ यथावत हैं। एक विशेष स्तंभ मुख्य परीक्षा हेतु भी प्रारंभ किया गया है। उम्मीद है कि यह पाठकों को लाभान्वित करेगा।

Magazine-Oct-Nov-2018.pdf (18519 downloads)