Contact Us: 0532-2465524, 25, M.-9335140296    
E-mail : [email protected]

महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय स्वच्छता सम्मेलन

November 6th, 2018
Mahatma Gandhi International Hygiene Conference
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 29 सितंबर से 2 अक्टूबर, 2018 के मध्य चार दिवसीय ‘महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय स्वच्छता सम्मेलन’ (Mahatma Gandhi International Sanitation Convention) का आयोजन नई दिल्ली में हुआ।
  • आयोजनकर्ता
  • इस सम्मलेन का आयोजन पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा किया गया।
  • उद्देश्य
  • इस सम्मेलन का उद्देश्य ‘स्वच्छ तथा स्वस्थ्य भारत’ के लक्ष्य को प्राप्त करना और विश्व में वर्ष 2030 तक सतत विकास लक्ष्य (SDG) 6 प्राप्त करने के व्यापक प्रयास में तेजी लाना है, जिससे विश्वभर में खुले में शौच की प्रथा को समाप्त किया जा सके। यही महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर सच्ची श्रद्धांजलि और कार्यांजलि होगी।
  • आयोजित कार्यक्रम
  • 29 सितंबर, 2018 को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस सम्मेलन का उद्घाटन किया। यह सम्मेलन ‘राष्ट्रपति भवन’, नई दिल्ली में आयोजित किया गया।




  • इस सम्मेलन में संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस (Antonio Guterres) सहित 130 से अधिक देशों के प्रतिनिधिमंडल शामिल हुए।
  • इस सम्मेलन में भारत और पूरे विश्व में शहरी स्वच्छता और मल कीचड़ प्रबंधन (Fecal sludge management) के लिए रणनीतियों और नवाचारों पर गोष्ठियों का आयोजन हुआ।
  • इस सम्मेलन में ‘समावेशी स्वच्छता’ के समग्र दृष्टिकोण की आवश्यकता पर बल दिया गया। महिलाओं, बच्चों, दिव्यांग व्यक्तियों, ट्रांसजेंडर, एच.आई.वी. पीड़ित व्यक्ति, वृद्ध व्यक्ति, स्वदेशी लोगों, शरणार्थियों और प्रवासियों सहित समाज के सभी हिस्सों में स्वच्छता लाने के प्रयासों पर जोर दिया गया।
  • यह सम्मेलन ग्रामीण स्वच्छता के क्षेत्र में विभिन्न प्रौद्योगिकीयों और नवाचारों पर केंद्रित था।
  • इस सम्मेलन में बजटीय आवंटन के माध्यम, स्वच्छता पर सार्वजनिक खर्च के साथ-साथ अन्य वित्तपोषण रणनीतियों, घरेलू संसाधनों के संगठनीकरण, स्वच्छता क्रेडिट और अन्य वित्तपोषण रणनीतियों के अतिरिक्त वित्तपोषण बढ़ाने की प्रक्रियाओं पर मंथन किया गया।
  • 30 सितंबर, 2018 को 60 देशों के प्रतिनिधिमंडल ने गांधी आश्रम और दांडी कुटीर की यात्रा की और ‘महात्मा मंदिर’ में ओ.पी. कोहली (राज्यपाल, गुजरात) द्वारा आयोजित भोज में शामिल हुए।




  • महत्वपूर्ण तथ्य
  • 2 अक्टूबर, 2018 को ‘महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय स्वच्छता सम्मेलन’ के समापन के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छता के लक्ष्य को हासिल करने के लिए 4 – P का मंत्र दिया- राजनीतिक नेतृत्व (Political leadership), सार्वजनिक निधि (Public funding), साझेदारी  (Partnership) और जनता की भागीदारी (People’s participation)।
  • इस अवसर पर डाक विभाग ने महात्मा गांधी पर स्मारक सात वृत्ताकार डाक टिकट जारी किया। यह पहला अवसर है जब वृत्ताकार डाक टिकट जारी किया गया है। महात्मा गांधी के पसंदीदा भजन- ‘‘वैष्णव जन तो’’ पर आधारित एक मेडली सीडी (Medley CD) जारी की।
  • 2 अक्टूबर, 2014 में ‘स्वच्छ भारत मिशन’ के प्रारंभ में भारत में स्वच्छता कवरेज लगभग 39 प्रतिशत था, जो बढ़कर 93 प्रतिशत हो गया है। वर्तमान समय में लगभग 5 लाख से ज्यादा गांव खुले में शौच (Open defecation free – ODF) से मुक्त घोषित किए जा चुके हैं।




  • उल्लेखनीय है कि सार्वभौमिक स्वच्छता कवरेज प्राप्त करने के प्रयासों को तेज करने और स्वच्छता पर ध्यान केंद्रित करने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2 अक्टूबर, 2014 को ‘स्वच्छ भारत मिशन’ का शुभारंभ किया। मिशन का उद्देश्य वर्ष 2019 तक स्वच्छ भारत के लक्ष्य को प्राप्त करना है, जो महात्मा गांधी को उनकी 150वीं जयंती पर सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
  • पड़ोसी देश श्रीलंका में भी महात्मा गांधी की जयंती को लेकर कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।

लेखक-शुधांशु पाण्डेय 

  • 16
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    16
    Shares
  •  
    16
    Shares
  • 16
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.