Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

भारत : 100 जी. डब्ल्यू सौर ऊर्जा लक्ष्य, 2022

India: 100 G W Solar Energy Target, 2022
  • वर्तमान परिदृश्य
  • 7 अगस्त, 2018 को नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आर.के. सिंह द्वारा संसद को सूचित किया गया कि भारत, वर्ष 2022 तक 100 गीगावॉट (जी.डब्ल्यू) सौर ऊर्जा का लक्ष्य आसानी से प्राप्त कर लेगा।
  •  इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा विस्तृत योजना बनाई गई है। जुलाई, 2018 तक 23.12 गीगावॉट की सौर क्षमता स्थापित की जा चुकी है।
  • सौर ऊर्जा
  • सूर्य अपरिमित ताप का स्रोत है, इस सूर्यताप को विद्युत ऊर्जा में बदलने को ही सौर ऊर्जा के रूप में जाना जाता है। सूर्य की ऊर्जा को दो प्रकार से विद्युत ऊर्जा में बदला जा सकता है। पहला प्रकाश-विद्युत सेल की सहायता से और दूसरा किसी तरल पदार्थ को सूर्य की ऊष्मा से गर्म करने के बाद इसमें विद्युत जनित्र चलाकर।
  • उद्देश्य
  • जीवाश्म ईंधन के प्रयोग को कम करते हुए जलवायु परिवर्तन से संबंधित पेरिस सम्मेलन की प्रतिबद्धता को पूरा करना।
  • ऊर्जा सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए तथा सतत् विकास की आवश्यकता को साकार करने के लिए अनुसंधान को बढ़ावा देना।
  • अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन (आईएसए) में शामिल देशों के साथ सौर ऊर्जा से संबंधित तकनीकी का आदान-प्रदान करना।
  • संपूर्ण भारतीय भू-भाग पर 5000 लाख करोड़ किलोवॉट घंटा प्रति वर्ग मी. के बराबर सौर ऊर्जा आती है, जो विश्व की संपूर्ण विद्युत खपत से कई गुना अधिक है। कृषि, मानव और औद्योगिक आवश्यकताओं के लिए इस ऊर्जा का प्रयोग करना।
  • जीवाश्म ईंधन के दुष्प्रभाव से जैव-विविधता तथा मानवीय स्वास्थ्य को बचाए रखना।
  • संबंधित तथ्य
  • सौर ऊर्जा के राष्ट्रीय संस्थान (एनआईएसई) के द्वारा देश में 748 गीगावॉट (जी.डब्ल्यू) सौर ऊर्जा का आकलन किया गया है।
  • संबंधित मंत्री के द्वारा राज्य सभा में कहा गया है कि 10 गीगावॉट की परियोजनाओं का कार्यान्वयन चल रहा है, अतिरिक्त 24.4 गीगावॉट निविदाओं (टेंडर) के अंतर्गत हैं।
  • 31 जुलाई, 2017 तक स्थापित सौर ऊर्जा क्षमता चार्ट में 5.16 गीगावॉट के साथ कर्नाटक प्रथम स्थान पर है, इसके पश्चात तेलंगाना 3.4 गीगावॉट क्षमता के साथ दूसरे तथा आंध्र प्रदेश 2.56 गीगावॉट के साथ तीसरे स्थान पर है।
  • वर्ष 2017-18 में देश में सौर ऊर्जा का उत्पादन 25.87 बिलियन यूनिट था, जो कि वर्ष 2016-17 में 13.49 बिलियन यूनिट से अधिक था। वर्ष 2015-16 में उत्पादन 7.44 बिलियन यूनिट तथा वर्ष 2014-15 में 4.59 बिलियन यूनिट था।
  • विभिन्न नवीकरणीय ऊर्जा से बिजली उत्पादन के संबंध में आंकड़े केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण (सीइए) द्वारा समेकित किए जाते हैं।
  • जलवायु परिवर्तन पर पेरिस सम्मेलन – संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन, CoP 21 पेरिस में 30 नवंबर से 12 दिसंबर, 2015 के मध्य आयोजित किया गया था। सम्मेलन में सदस्य देशों द्वारा वर्ष 2010 की तुलना में वर्ष 2050 तक ग्रीन हाउस गैस उत्सर्जन को 40 से 70 प्रतिशत तक कम किए जाने की प्रतिबद्धता व्यक्त की गई थी।
  • अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन (आईएसए) कर्क और मकर रेखा के मध्य अवस्थित 121 सौर संसाधन संपन्न देशों का एक अंतर-सरकारी गठबंधन है।
  • इसकी स्थापना भारत की पहल पर फ्रांस के सहयोग से वर्ष 2015 में CoP 21 सम्मेलन के दौरान की गई थी।
  • इसका मुख्यालय गुरुग्राम, हरियाणा में है।
  • 11 मार्च, 2018 को भारत में अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन का प्रथम स्थापना दिवस सम्मेलन आयोजित किया गया था।
  • सौर ऊर्जा के राष्ट्रीय संस्थान – भारत सरकार के द्वारा राष्ट्रीय सौर मिशन लागू करने में नवीन एवं नवीकरण ऊर्जा मंत्रालय की सहायता के लिए इसकी स्थापना एक स्वायत्त संस्था के रूप में वर्ष 2013 में की गई थी।
  • यह संस्थान गुरुग्राम (हरियाणा) में स्थित है।

लेखक-धीरेन्द्र बहादुर सिंह