Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

भारत – मंगोलिया संयुक्त सैन्य अभ्यास, 2018

India - Mongolia joint military practice, 2018
  • पृष्ठभूमि
  • भारत और मंगोलिया के बीच सदियों पुराने ऐतिहासिक और सांस्कृतिक संबंध रहे हैं। वर्ष 1955 में भारत समाजवादी गुट से बाहर मंगोलिया से राजनयिक संबंध स्थापित करने वाला पहला देश था। हाल के वर्षों में दोनों देशों के मध्य संबंधों में तेजी आई है। वर्ष 2001 में मंगोलियाई राष्ट्रपति नात्सागीन बागाबंदी की भारत यात्रा के दौरान रक्षा सहयोग सहित छः समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे। इसी क्रम में मई 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगोलिया की साख सीमा में वृद्धि करके 1 अरब डॉलर कर दी तथा वर्ष 2015 में ही भारत एवं मंगोलिया के मध्य राजनयिक संबंधों की स्थापना की 60वीं वर्षगांठ मनाई गई। रक्षा सहयोग को मजबूत करने एवं आतंकवादी गतिविधियों से निपटने के लिए प्रत्येक वर्ष 2006 से द्विपक्षीय संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण अभ्यास ‘नोमैडिक एलीफैंट’ का आयोजन किया जा रहा है।




  • वर्तमान संदर्भ
  • इसी क्रम में 10-21 सितंबर, 2018 के मध्य ‘नोमेडिक एलीफैंट, 2018’ का आयोजन मंगोलिया की राजधानी उलान बटोर (ulaanbaatar) मंगोलियन आर्म्ड फोर्सेस (MAF) Òाइव हिलन एरिया में किया गया।
  • संबंधित तथ्य
  • इस अभ्यास का उद्देश्य संयुक्त राष्ट्र के जनादेश के तहत  ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में उग्रवाद एवं आतंकवाद अभियान के लिए दोनों देशों की सेनाओं के मध्य तालमेल और तकनीकी कौशल का विकास करना है।
  • इस सैन्य अभ्यास में भारतीय दल का नेतृत्व 17 पंजाब रेजीमेंट एवं मंगोलियाई सेना का प्रतिनिधित्व मंगोलियन आर्म्ड फोर्सेस के यूनिट 084 द्वारा किया गया।




  • इस सैन्य अभ्यास में स्वतंत्रता, समानता और न्याय की साझा मान्यताओं पर दोनों देशों द्वारा बल प्रदान किया गया।
  • यह सैन्य अभ्यास सेना के लिए पारस्परिक समझ और सम्मान विकसित करने एवं आतंकवाद की विश्वव्यापी घटना से निटपने में मदद करेगा।
  • भारत एवं मंगोलिया के मध्य ‘नोमेडिक एलीफैंट’ सैन्य अभ्यास का यह 13वां संस्करण था।

लेखक-अनुज कुमार तिवारी