Contact Us: 0532-2465524, 25, M.-9335140296    
E-mail : ssgcpl@gmail.com

बीएससीएल को बंद करने की स्वीकृति

May 15th, 2018
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 4 अप्रैल, 2018 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा रेल मंत्रालय के अंतर्गत सार्वजनिक प्रतिष्ठान ‘बर्न स्टैंडर्ड कंपनी लिमिटेड’ (BSCL) को बंद करने की स्वीकृति प्रदान की गई।
  • महत्वपूर्ण तथ्य
  • बर्न स्टैंडर्ड कंपनी लिमिटेड को बंद करने का निर्णय 10 वर्षों से अधिक समय में कंपनी के निरंतर गिरते भौतिक एवं वित्तीय प्रदर्शन और भविष्य में पुनरूत्थान की कम संभावना के कारण लिया गया है।
  • इससे घाटे में चल रही बीएससीएल के लिए उपयोग में लाए जा रहे सार्वजनिक धन की बचत होगी और इसका उपयोग अन्य विकास कार्य के लिए किया जा सकेगा।
  • सरकार द्वारा बंटवारा पैकेज और कंपनी की मौजूदा देनदारियों को समाप्त करने के लिए 417.10 करोड़ रुपये का एकबारगी अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • इसके अतिरिक्त भारत सरकार (रेल मंत्रालय) द्वारा कंपनी को दिए गए 35 करोड़ रुपये के बकाया ऋण को माफ कर दिया जाएगा।
  • बीएससीएल के 508 कर्मचारी स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (VRS) से लाभान्वित होंगे।
  • अन्य महत्वपूर्ण तथ्य
  • वर्ष 1976 में बर्न एंड कंपनी के राष्ट्रीयकरण के पश्चात इसे इंडियन स्टैंडर्ड वैगन कंपनी लिमिटेड से एकीकृत कर दिया गया।
  • वर्ष 1987 में भारी उद्योग विभाग (DHI) के अधीन इस कंपनी का पुनर्नामकरण करते हुए ‘बर्न स्टैंडर्ड कंपनी लिमिटेड’ के रूप में गठित किया गया।
  • वर्ष 1994 में कंपनी का मामला ‘औद्योगिक तथा वित्तीय पुनर्निर्माण बोर्ड’ (BIFR) को भेजा गया और वर्ष 1995 में कंपनी को आधिकारिक रूप से बीमार घोषित किया गया।
  • 15 सितंबर, 2010 को कंपनी का प्रशासनिक नियंत्रण भारी उद्योग विभाग से रेल मंत्रालय को हस्तांतरित कर दिया गया।
  •  बर्न स्टैंडर्ड कंपनी लिमिटेड रेल वैगनों के निर्माण एवं मरम्मत और स्टील उत्पादन का कार्य करती थी।

लेखक-नीरज ओझा

  • 11
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    11
    Shares
  •  
    11
    Shares
  • 11
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.