Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

बहुराष्ट्रीय अभ्यास ‘मिलन, 2018′

  • वर्तमान परिदृश्य
  • 6-13 मार्च, 2018 के मध्ये पोर्ट ब्लेयर, अंडमान निकोबार में बहुराष्ट्रीय नौसैन्य अभ्यास ‘मिलन, 2018’ (Milan, 2018) का आयोजन किया गया।
  • मुख्य विषय
  • नौसैन्य अभ्यास ‘मिलन, 2018’ का मुख्य विषय (Theme) ‘फ्रैंडशिप एक्रॉस द सीज’ (Friendship across the seas) था।
  • उद्देश्य
  • मिलन, 2018 का उद्देश्य विदेशी आगंतुकों को अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह की समृद्ध विरासत और प्राकृतिक सुंदरता को दिखाना था।
  • महत्वपूर्ण तथ्य
  • नौसैन्य अभ्यास ‘मिलन, 2018’ का आयोजन भारतीय नौसेना की अंडमान एवं निकोबार कमान के तत्वावधान में किया गया।
  • मिलन, 2018 के तहत पेशेवर अभ्यास, सेमिनारों, सामाजिक उत्सवों और खेल गतिविधियों का आयोजन किया गया।
  • अभ्यास के दौरान समुद्र में गैर-कानूनी गतिविधियों से निपटने के लिए क्षेत्रीय सहयोग बढ़ाने पर बल दिया गया।
  • अभ्यास के दौरान आयोजित ‘मिलन अंतरराष्ट्रीय समुद्री सेमिनार ’ का मुख्य विषय ‘इन परसूइट ऑफ मैराटाइम गुड ऑर्डर-नीड फॉर कांप्रिहेंसिव इन्फॉर्मेशन शेयरिंग एपराटस’ (In Pursuit of maritime good order-need for comprehensive information sharing apparatus) था।
  • मिलन, 2018 में भारत के अतिरिक्त 16 देशों (ऑस्ट्रेलिया बांग्लोदश, कम्बोडिया, इंडोनेशिया, केन्या, मलेशिया, मॉरीशस, म्यांमार, ओमान, न्यूजीलैंड, सेशेल्स, सिंगापुर, श्रीलंका, तंजानिया, थाईलैंड एवं वियतनाम) ने भागीदारी की।
  • अन्य महत्वपूर्ण तथ्य
  • ‘मिलन’ का आयोजन पहली बार वर्ष 1995 में किया गया था। जिसमें 5 देश भारत, इंडोनेशिया, सिंगापुर, श्रीलंका एवं थाईलैंड शामिल हुए थे।
  • भारतीय नौसेना की इस पहल का उद्देश्य समुद्री सहयोग और मानवीय सहायता एवं आपदा राहत के क्षेत्र में तटवर्ती देशों की नौसेनाओं के लिए एक मंच प्रदान करना था।
  • ‘मिलन’ अभ्यास का आयोजन प्रत्येक दो वर्ष पर किया जाता है, लेकिन 2001, 2005 और 2016 में इसका आयोजन नहीं किया गया था।

लेखक-नीरज ओझा