Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

प्रधानमंत्री की विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं नवाचार सलाहकार परिषद का गठन

Prime Minister's Science, Technology & Innovation Advisory Council - PM-Stiac
  • वर्तमान संदर्भ
  • 28 अगस्त, 2018 को प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा प्रधानमंत्री की विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं नवाचार सलाहकार परिषद (Prime Minister’s Science, Technology & Innovation Advisory Council – PM-Stiac) के गठन को मंजूरी दी गई।
  • परिषद की संरचना
  • इस परिषद में कुल 21 सदस्य होंगे जिसमें एक अध्यक्ष, 8 स्थायी सदस्य एवं 12 विशेष आमंत्रित सदस्य होंगे।
  • इस सलाहकार परिषद का अध्यक्ष भारत सरकार के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार डॉ. के. विजय राघवन को नियुक्त किया गया है।
  • इस परिषद में शामिल 8 स्थायी सदस्य इस प्रकार हैं- नीति आयोग के सदस्य डॉ. वी.के. सारस्वत, इसरो के अध्यक्ष डॉ. ए.एस. किरण कुमार, भारतीय विज्ञान संस्थान (बंगलुरू) के प्रोफेसर अजय कुमार सूद, आर्म्ड फोर्सेस मेडिकल कॉलेज (पुणे) के ‘डीन’ मेजर जनरल माधुरी कानितकर, भारतीय सांख्यिकी संगठन (कोलकाता) के निदेशक प्रोफेसर संघमित्रा बंदोपाध्याय, प्रिंसटन विश्वविद्यालय के प्रोसेफर मंजुल भार्गव, ओकलाहामा राज्य विश्वविद्यालय के प्रोफेसर सुभाष काक एवं भारत फोर्ज के महानिदेशक बाबा कल्याणी।
  • इसके अतिरिक्त 12 विशेष आमंत्रित सदस्यों में एक सदस्य अध्यक्ष की अनुमति से चुना जाएगा, जबकि शेष 11 सदस्य- आणविक ऊर्जा विभाग, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, अंतरिक्ष विभाग, रक्षा एवं अनुसंधान विभाग, जैव प्रौद्योगिकी विभाग, वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान विभाग, कृषि अनुसंधान एवं शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य अनुसंधान विभाग, पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग तथा नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग के सचिव होंगे।
  • परिषद के महत्वपूर्ण कार्य
  • इस परिषद का मुख्य कार्य विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं नवाचार से संबंधित सभी मामलों पर प्रधानमंत्री को सलाह देना, इनकी निगरानी करना तथा इन विषयों से संबंधित निर्णयों एवं नीतियों के निर्माण और कार्यान्वयन को सरल बनाना है।
  • यह परिषद विज्ञान प्रौद्योगिकी एवं नवाचार का प्रयोग कर देश में व्याप्त सामाजिक-आर्थिक समस्याओं के समाधान हेतु सरकार का सहयोग करेगी।
  • यह परिषद भारत एवं राज्य सरकार के विभिन्न विभागों/मंत्रालयों एवं विभिन्न संस्थानों या संगठनों के मध्य विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी अनुप्रयोगों का समन्वय करेगी।
  • साथ ही यह परिषद विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार के क्षेत्र में भारत के अंतरराष्ट्रीय नेतृत्व हेतु रणनीति का निर्माण एवं संचालन करेगी।
  • इसके अतिरिक्त यह परिषद नागरिकों में विज्ञान के प्रति रुचि एवं जागरूकता बढ़ाने का प्रयास करेगी।
  • गौरतलब है कि इस परिषद के गठन के पश्चात मंत्रिमंडल की वैज्ञानिक सलाहकार समिति और प्रधानमंत्री की वैज्ञानिक सलाहकार समिति को भंग कर दिया गया है। अब प्रधानमंत्री की विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं नवाचार सलाहकार परिषद इनका स्थान लेगी।

लेखक-ललिन्दर कुमार