Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक

Environmental Performance Index
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • दावोस (स्विट्जरलैंड) में आयोजित विश्व आर्थिक मंच की वार्षिक बैठक के पार्श्व में 23 जनवरी, 2018 को ‘पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक, 2018’ (EPI : Environmental Performance Index) जारी किया गया।
  • EPI
  • पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक (EPI) में उच्च-प्राथमिकता वाले पर्यावरणीय मुद्दों पर प्रदर्शन के आधार पर विभिन्न देशों को रैंक प्रदान की जाती है।
  • यह एक द्विवार्षिक रिपोर्ट है जिसे येल (Yale) विश्वविद्यालय  एवं कोलंबिया विश्वविद्यालय द्वारा विश्व आर्थिक मंच के सहयोग से निर्मित किया जाता है।
  • EPI ‡यों
  • पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक पर्यावरण संबंधी महत्वपूर्ण आंकड़ों तक नीति निर्माताओं की पहुंच सुनिश्चित करता है।
  • ये आंकड़े इस रूप में व्यवस्थित होते है कि इन्हें आसानी से समझा जा सकता है।
  • EPI विभिन्न देशों को अपने पर्यावरणीय प्रदर्शन की तुलना पड़ोसी और समकक्ष देशों से करने का अवसर प्रदान करता है।
  • EPI,  2018
  • पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक, 2018 में विश्व के 180 देशों को 10 श्रेणियों में विभाजित 24 संकेतकों के आधार पर रैंक प्रदान की गई है।
  • सूचकांक में स्विट्जरलैंड 87.42 के स्कोर के साथ शीर्ष स्थान पर है।
  • रैंकिंग में शीर्ष 5 देशों में शामिल अन्य देश हैं-
  1. फ्रांस (स्कोर : 83.95), 3. डेनमार्क (स्कोर : 81.60), 4. माल्टा (स्कोर 80.9) तथा स्वीडन (स्कोर 80.51)।
  • इस सूचकांक में यूनाईटेड किंगडम को छठां, जर्मनी को 13वां, इटली को 16वां जापान को 20वां, ऑस्ट्रेलिया को 21वां, कनाडा को 25वां तथा अमेरिका को 27वां स्थान प्राप्त हुआ है।
  • पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक, 2018 में शीर्ष 20 में से 17 स्थानों पर यूरोपीय देश काबिज हैं।
  • रिपोर्ट में भारत
  • पर्यायवरण प्रदर्शन सूचकांक, 2018 में भारत को अंतिम पांच देशों में स्थान प्राप्त हुआ है।
  • वर्ष 2018 में भारत 180 देशों में 177वें स्थान पर है।
  • उल्लेखनीय है कि वर्ष 2016 में इस सूचकांक में भारत 141वें स्थान पर था और उसकी रैंक में 36 स्थानों की गिरावट दर्ज की गई है।
  • पर्यावरण स्वास्थ्य नीति तथा वायु प्रदूषण के कारण मृत्यु जैसी श्रेणियों में खराब प्रदर्शन के कारण भारत को इस सूचकांक में निचली रैंक प्राप्त हुई है।रैंकिंग में अंतिम पांच देशों में शामिल अन्य देश हैंः-180.बुरूंडी (स्कोर : 27.43), 179. बांग्लादेश (स्कोर : 29.56), 178. कांगो गणराज्य (स्कोर : 30.41) तथा 176. नेपाल (स्कोर : 31.44)।

लेखक-सौरभ मेहरोत्रा